Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

कड़ाके की ठंड में कुंडलपुर की और बढ़ते जैन मुनियो की अद्भुत साधना.. बर्फीले जल प्रपात के घाट पर मुनि श्री की अर्हंम योग साधना..

 कोरोना की तीसरी लहर के चलते कुंडलपुर में भले ही आम श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगी हो तथा कुंडलपुर महा महोत्सव की तिथियां घोषित नहीं हुई हो लेकिन आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य मुनि राजो का कड़ाके की ठंड में कुंडलपुर की और विहार लगातार जारी है..

 आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्‍य मुनि श्री प्रणम्‍य सागर जी एवं मुनि श्री वीर सागर जी महाराज का मंगल विहार भी कुण्‍डलपुर की ओर चल रहा है। दोनों मुनि गण बुधवार की शाम सुनार नदी किनारे हारट ग्राम पहुंचे जहां स्‍थानीय लोगों ने नदी के प्राकृतिक जल प्रपात भदभदा की जानकारी दी तो मुनि श्री प्रणम्‍य सागर जी महाराज श्रावकों के साथ नदी के किनारे जा पहुंचे। 

 

शाम का वक्त और अस्त होते सूर्य के साथ बर्फीले पानी के जलप्रपात की कड़ाके की ठंडक की परवाह किए बिना मुनि श्री ने पहाड़ी शिला पर आसन बनाकर योग साधना प्रारंभ कर दी। करीब 45 मिनिट तक चले अर्हंम योग के दौरान श्रावक गण भी ठंड की परवाह किये बिना योग करते नजर आए। इस दौरान हटा के श्रावक श्रेष्‍ठी भी उपस्थित रहे। संजय जैन की खास रिपोर्ट

Post a Comment

0 Comments