Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

रेलवे स्टेशन से शुरू हुई अतिक्रमण हटाओ मुहिम.. दुकानदारों ने बिना सूचना के कार्रवाई के लगाए आरोप.. पूर्व न्यास अध्यक्ष और सीएमओ के बीच हुई जमकर तकरार.. इधर चमड़ा फैक्ट्री क्षेत्र में भी दो पक्षों के आमने सामने आने से पुलिस प्रशासन करता रहा माथापच्ची..

बिना सूचना के अतिक्रमण हटाओ मुहिम के आरोप

दमोह। मप्र में वारिश के चार महीनों में हाई कोर्ट द्वारा भले ही अतिक्रमण हटाओ मुहिम पर रोक लगाए जाने के निर्देश दिए गए हो लेकिन दमोह नगर में पालिका प्रशासन द्वारा बिना किसी पूर्व सूचना के अतिक्रमण हटाए जाने की कार्यवाही आए दिन अचानक सामने आने के बाद चर्चा में बनी रहती है।


शनिवार को नगरपालिका के अतिक्रमण विरोधी दस्ते द्वारा स्टेशन क्षेत्र से नगरपालिका के बीच दुकानों के बाहर नालियों के ऊपर से अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही शुरू की गई। यह कार्यवाही आज सड़क के दोनों तरफ स्टेशन चौराहे तक की जाना थी। लेकिन स्थानीय लोगों की आपत्ति और पक्षपात के आरोपों के चलते कारवाही एक तरफ तक सीमित होती दिखी।

इस दौरान नगर सुधार न्यास के पूर्व अध्यक्ष डॉ भरत शिवहरे के साथ स्थानीय निवासियों द्वारा सीएमओ निशिकांत शुक्ला के पास उनके कार्यालय में पहुंचकर मुहिम पर सवाल उठाने उठाने की कोशिश की गई। वही सीएमओ द्वारा दो टूक शब्दों में कब्जा हटाओ मुहिम के लगातार जारी रहने की बात कही गई है। इधर जिन लोगों के दुकानों के बाहर के अतिक्रमण हटाए गए हैं उनके द्वारा बिना कोई नोटिस और पूर्व सूचना के कार्रवाई करने और पक्षपात करने के आरोप लगाए गए हैं। 

जबकि सीएमओ निशिकांत शुक्ला का कहना है कि  सड़कों के किनारे जगह-जगह सामग्री रखकर गाड़ियों को खड़ा करके नालियों के ऊपर और बाहर किए गए अतिक्रमण की वजह से आवागमन में बाधा के साथ नालियों की सफाई में भी समस्या आ रही है जिस वजह से अतिक्रमण को हटाने की कार्यवाही पूरे शहर में लगातार की जाएगी।
 चमड़ा फैक्ट्री क्षेत्र में अतिक्रमण को लेकर विवाद..

दमोह। चैनपुरा इलाके में चमड़ा फैक्ट्री के पास पिछले दिनों गणेश प्रतिमा स्थापना हेतु तैयारी कर रहे कुछ लोगों तथा बाल्मीकि समाज के मंच निर्माण आदि को वर्ग विशेष की शिकायत पर प्रशासन द्वारा कार्रवाई करते हुए हटा दिया गया था। जिसके बाद हिंदू संगठनों के द्वारा ज्ञापन देकर यहां पर वर्ग विशेष के कब्जों को भी हटाने की कार्रवाई किए जाने की मांग की गई थी। वह इसी के चलते आज यहां पर विवाद टकराव के हालात निर्मित होते नजर आये। 

जिस को सुलझाने में सीएसपी अभिषेक तिवारी कोतवाली टीआई सत्येंद्र सिंह तहसीलदार बबीता राठौर दोनों पक्षों के बीच सहमति बनाने के प्रयास करती नजर आई। इस दौरान हिंदू संगठनों से जुड़े लोग जहां पूर्व में की गई कार्रवाई को पक्षपातपूर्ण बताते रहे वही दूसरे पक्ष के लोग भी सवाल जवाब करते नजर आए। बालाजी प्रशासन द्वारा इस मसले को जल्द सुलझा लिए जाने का दावा किया जा रहा है।

Post a Comment

0 Comments