Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

जिस लालपरी के चक्कर मे नौबत तलाक तक पहुची थी उसी के नशे में पत्नी को चलती बाइक से खींचना महंगा पड़ा.. पत्नी के साथ ससुर ने भी जमाई राजा को सरे राह सबक सिखाया.. इधर लाल पट्टी वालों ने एसपी को ज्ञापन देकर हटा टीआई पर धमकाने के आरोप लगाए..

सरे राह मारपीट की वीडियो बनाकर वायरल की..

दमोह।  जिस लाल परी के चक्कर में शादी के कुछ महीनों बाद नौबत तलाक की आ गई थी उसी लाल परी के नशे में बीच सड़क पर पत्नी से उलझना एक ग्रामीण को महंगा पड़ गया। सरे राह पिटाई तो हुई ही थाने में जाकर भी बेज्जती कराना पड़ी। दरअसल बस स्टैंड चौराहे के पास एक महिला और बुजुर्ग द्वारा एक व्यक्ति की सरे राह पिटाई किये जाने के दौरान जहां तमाशाईयो की भीड़ लगी रही थी वही बाद में मामला पुलिस कोतवाली पहुंचा था। जहां यह पूरा घटनाक्रम पारिवारिक विवाद की कहानी कहता नजर आया।

 इस वीडियो में पिटाई करती नजर आ रही महिला और कोई नहीं बल्कि पिट रहे शख्स की पत्नी है वही इसे पीटने वाले बुजुर्ग उसके ससुर लगते हैं। दरअसल हिंडोरिया थाना के एक गांव के निवासी विजय उर्फ बिज्जू ठाकुर की शादी 4 साल पहले बांसा तारखेडा निवासी युवती से हुई थी। लेकिन शराबखोरी की बजह से सात जन्मों के रिश्ते को 7 महीने में टूटते देर नहीं लगी और विवाद के बाद नौबत तलाक के केस तक पहुंच गई। 



इसी को लेकर कोर्ट में पेशी के बाद बस स्टैंड चौराहे पर जटाशंकर ऑटो पार्ट्स के सामने जैसे ही दोनों पक्षों का आमना-सामना हुआ विवाद के हालात बनते देर नहीं लगी। बताते हैं कि बाइक से जा रही पत्नी को रोकने पहले बिज्जू ने उसे खींचा। जिससे बाइक के अनियंत्रित होते हैं महिला तथा उसके पिता और रिश्तेदार सड़क पर गिर गए। इसके बाद इनके बीच में मारपीट का जो सिलसिला शुरू हुआ वह देर तक चलता रहा और थाने पहुंचकर एक दूसरे के उपर दोषारोपण के बयानों पर जाकर खत्म हुआ।


पारिवारिक विवाद का यह मामला पहले से कोर्ट में है इस वजह से पुलिस ने अलग से तो कोई केस दर्ज नहीं किया है लेकिन दोनों पक्षों की शिकायत पर जांच जरूर शुरू कर दी है।
कार्रवाही ना करने पर हटा थाना प्रभारी एच आर पांडे के खिलाफ संगठन ने जमकर नारे बाजी करते एसपी को सौंपा ज्ञापन 

लाल पट्टी वालों के हटा टीआई पर धमकाने के आरोप
दमोह। भगवती मानव कल्याण संगठन के द्वारा एसपी डीआर तेनीवार को ज्ञापन सौंपते हुए हटा टीआई पर संगठन के कार्यकर्ताओं को धमकाने के आरोप लगाए हैं। संगठन के जिला अध्यक्ष डॉ सुजान सिंह ने बताया कि हटा ब्लॉक के भगवती मानव कल्याण संगठन के कार्यकर्ताओं को धमकी दी गई शराब माफियाओ के द्वारा जिसकी शिकायत हटा खाना में की गई थी जिस पर थाना प्रभारी एच आर पांडे हटा द्वारा कार्यवाही के बजाए उल्टे कार्यकर्तोंओ को धमकाते हुए यहा तक कहा गया की तुम लोगों को शराब पकड़वाने का अधिकार किसने दिया ?



 उक्त घटना को लेकर आज ज्ञापन सौंपा गया है और कार्यवाही नहीं होने पर भारतीय शक्ति चेतना पार्टी एवं भगवती मानव कल्याण संगठन द्वारा धरना प्रदर्शन किया जाएगा। शराब माफियाओं द्वारा धमकी दिए जाने वाले पीड़ित तुलसीराम पिता चुरामन नामदेव हटा ने बताया कि 27 जुलाई को संगठन कार्यकर्ताओं के साथ अवैध शराब पकड़ी थी जिसमें धर्मेंद्र पिता जगत सिंह लोधी एवं नरेंद्र पिता मोतीलाल राय को देसी मसाला एवं देसी सादा शराब के साथ पकड़ कर थाना रनेह में प्रकरण पंजीबद्ध कराया था। 

उसी बात को लेकर 27 जुलाई की दोपहर दोनों ने पीड़ित की दुकान पर आकर मां बहन की गंदी गंदी गालियां देकर जान से मारने की धमकी दी थी और कहा था कि हम अभी फिर शराब लेकर जा रहे हैं। अपने संगठन के कार्यकर्ताओं को बुला लो जो कर सकते हो कर लो। जिसकी शिकायत पीड़ित तुलसी राम द्वारा हटा थाने में की गई थी लेकिन आज दिनांक तक कोई कार्यवाही नहीं हुई। इसी घटना को लेकर हटा टीआई द्वारा भी धमकाए जाने को लेकर आज संगठन कार्यकर्ताओं ने एसपी दमोह को ज्ञापन सौंपा है और उचित कार्रवाई की मांग की है।

Post a Comment

0 Comments