Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

रिमझिर के जंगल में अज्ञात महिला का करीब 15 दिन पुराना साड़ी के फंदे में लिपटा कंकाल नुमा शव मिलने से सनसनी.. हत्या या आत्महत्या ? तेंदूखेड़ा थाना पुलिस एफएसएल टीम के साथ जांच में जुटी.. पतासाजी के लिए पाटन कटंगी सिग्रामपुर पुलिस को भी सूचना भेजी गई..

जंगल में अज्ञात महिला का कंकाल नुमा शव मिला

दमोह। जबेरा जनपद अंतर्गत आने वाले चोरई ग्राम पंचायत के रिमझिर के जंगल मे एक अज्ञात महिला का कंकाल नुमा सड़ा गला शव मिलने से सनसनी के हालात बनते देर नहीं लगी। जंगल में भैंस चराने गए चरवाहे द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर तेंदूखेड़ा थाना पुलिस और एफएसएल टीम ने मौके पर जांच कार्रवाई करते हुए शव को फॉरेंसिक जांच हेतु भेज दिया है। वही अज्ञात महिला की पतासाजी के प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। 


यह अज्ञात महिला इस घनघोर जंगल में कहां से कब कैसी पहुंची, किसी वारदात की शिकार हुई अथवा उसने खुदकुशी की इसका पता तो पुलिस की सूक्ष्म जांच के बाद ही लग सकेगा। लेकिन पुलिस के लिए अबे अंधे केस की गुत्थी सुलझाना फिलहाल चुनौती बनता नजर आ रहा है। यह तस्वीरें थाना तेंदूखेड़ा के क्षेत्र के आखरी ग्राम ताला के आगे रिमझर के जंगल की है। जहाँ एक अज्ञात महिला की सड़ी गली कंकाल नुमा पेटिकोट पहने लाश डली मिली हैं।  जो 15 से 20 दिन पुरानी होने के कारण बदबू मारने लगी थी। प्रथम दृष्टया महिला के गले में उसी की साड़ी का फंदा बना कर पेड़ पर लटकाए जाने जैसे हालात नजर आए हैं। पेड़ पर लटके लटके शव गलकर गले से टूटकर नीचे गिर जाने शव के पास से एक टूटा हुआ मोवाईल, चमकीली गुरियों की माला, चप्पल पड़ी हुई मिली है। 

 भैंसो को चराने गए अशोक यादव एव उदयराज ने लाश को देखकर तेंदूखेड़ा पुलिस को सूचना दी थी। पुलिस ने मौका स्थल पर पहुंचकर लाश का पंचनामा तैयार कर पोस्टमार्टम के लिए तेंदूखेड़ा लाया गया हैं।  थाना प्रभारी बीएल चौधरी ने बताया हैं कि महिला पेटीकोट पहने हुए थीं। आसामानी कलर की साड़ी जिसमें गुलाबी फूल बने हुए हैं उससे फांसी लगाई गई। चेहरा पूरा खराब हो गया हैं। तेन्दूखेड़ा एसडीओ पी अशोक चौरसिया ने भी मौके पर पहुंचकर गांव वालो से जानकारी ली तथा कटंगी, पाटन थाना व सिग्रामपुर चौकी को सूचना देकर पता लगने की कोशिश की जा रही है। विशाल रजक की रिपोर्ट

Post a Comment

0 Comments