Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

सावन की खुशियां मातम में बदली.. टैंकर का टायर फटने से सड़क किनारे बस का इंतजार कर रहे माँ बेटे चपेट में आए.. डिस्क उछलकर छाती में लगने से माँ की मौत, बेटा गंभीर हालत में जबलपुर रैफर.. रक्षाबंधन पर मामा के घर जा रहा था भांजा अपनी मां के साथ..

टैंकर का टायर फटने से माँ की मौत, बेटा गंभीर..

दमोह। सावन के पावन पर्व के मातम में बदल जाने का दुखद दर्दनाक घटनाक्रम सामने आया है। जिला मुख्यालय से 30 किलोमीटर दूर इमलिया पुलिस चौकी क्षेत्र में शुक्रवार को गांव के सरपंच के ट्रैक्टर टैंकर का टायर ब्लास्ट होने से सड़क किनारे बस का इंतजार कर रही एक महिला की दर्दनाक मौत हो गई भाई उसके बेटे को गंभीर हालत में जिला अस्पताल से जबलपुर रेफर किया गया है।


प्राप्त जानकारी के अनुसार तेजगढ़ क्षेत्र निवासी कमलेश रक्षाबंधन पर्व के पूर्व अपनी बहन जयंती और भांजे मेघराज को मनका गांव से इमलिया घाट लेकर आ गया था। जहां पर वह तेजगढ़ जाने के लिए बस का इंतजार कर रहा था। इस दौरान उसकी बहन एवं भांजा सड़क किनारे बैठे हुए थे तभी एक ट्रैक्टर टैंकर वहां से निकला और दुर्भाग्य से टैंकर का उसी साइड का टायर ब्लास्ट हो गया जिस तरफ मां बेटे बैठे हुए थे। अचानक तेज धमाके के साथ टायर फटने से चके की डिस्क उछलकर जयंती एवं मेघराज को लगी। जिससे दोनों लहूलुहान हो गए। बाद में ग्रामीण जनों ने दोनों को जिला अस्पताल भिजवाया। जहां जयंती को मृत घोषित कर दिया गया।
 घायल मेघराज चेहरे एवं सिर में गंभीर छोटे आने की वजह से प्राथमिक उपचार के बाद जबलपुर रेफर कर दिया गया है। इमलिया चौकी पुलिस ने ट्रैक्टर टैंकर को जप्त करके जांच शुरू कर दी है वही अस्पताल चौकी पुलिस द्वारा मर्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। घटनाक्रम से सावन की खुशियां जहां मातम में बदलते देर नहीं लगी वही बहन को उसके ससुराल से मायके ले जा रहे भाई सहित अन्य परिजनों का रो रो कर बुरा हाल बना हुआ है।

Post a Comment

0 Comments