Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पांडे से एक पूंजीपति युवा को जिलाध्यक्ष बनाने की सिफारिश करते BJP मीडिया प्रभारी का वायरल ऑडियो चर्चाओं में.. वायरल ऑडियो के खबरों की सुर्खियां बनने के बाद मीडिया प्रभारी व दावेदार ने चुप्पी साधी..

भाजपा जिला मीडिया प्रभारी का ऑडियो वायरल 

दमोह। एकात्म मानववाद के पुजारी कहे जाने वाले दीनदयाल उपाध्याय और श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी की जनसंघ से अटलजी आडवाणी जी के साथ जनता पार्टी से निकलकर भाजपा में तब्दील हुई पार्टी की 7 साल से केंद्र और अनेक वर्षों से कई प्रदेशों में सरकार है। सत्ता की चासनी के असर के चलते अब पार्टी संगठन में त्याग समर्पण करने वाले नेताओं की जगह चापलूसी जी हजूरी करने वाले लेते जा रहे है। वही कभी प्रचार प्रसार के दिखावे से दूर रहने वाली इस पार्टी के नेताओं की चाहत अब फ्लेक्स होर्डिंगस में अपनी फोटो लगाये जाने को लेकर कितनी बढ़ चुकी है इस का उदाहरण इस वायरल ऑडियो से लगाया जा सकता है।


दमोह के प्रभारी मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के फोटो वाले फ्लेक्स प्रतिपक्ष द्वारा लगवाए जाने का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि फ्लेक्स का हवाला देकर सिफारिश किए जाने का एक और मामला सामने आ गया है। यह ऑडियो भी 15 अगस्त का है जिसमें भाजपा के मीडिया प्रभारी कबीश सिंघई युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पांडे से बात कर रहे हैं। यह काल हालांकि नगर के एक पूंजीपति युवा को युवा मोर्चा का जिला अध्यक्ष नियुक्त करने की सिफारिश करने की मंशा से किया गया था, लेकिन उसके पहले किस तरह से नेताजी की फोटो एक कार्यक्रम के फ्लेक्स में लगाने का हवाला देकर खुश करने की कोशिश की जा रही थी सुनकर अंदाजा लगाया जा सकता है। इधर भाजपा के जिला अध्यक्ष प्रीतम सिंह से लेकर प्रदेश अध्यक्ष और युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष तक से ऐसे पूंजीपति युवा नेता की मुलाकात कराने का हवाला देकर मीडिया प्रभारी पूर्व युवा प्रदेश अध्यक्ष से आशीर्वाद की आकांक्षा कर रहे हैं। इस वायरल ऑडियो में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष उनसे बात नहीं करने को लेकर भाजपा जिलाध्यक्ष प्रीतम सिंह का नाम लेकर कुछ भद्दे कमेंट करते हुए भी सुनाई दे रहे हैं।  

क्या ठेकेदार नुमा पदाधिकारियों से घिरते जा रहे भाजपा के जिलाध्यक्ष..?

भाजपा का जिला अध्यक्ष बनने के बाद में प्रीतम सिंह के स्वभाव में काफी कुछ बदलाव देखने को मिला है यह हम नहीं कहते बल्कि अनेक लोग कहने से नही चूकते है वही उनकी नई टीम में शामिल कुछ पदाधिकारियों के कदम सातवें आसमान पर रहना भी छिपा नहीं है, फिलहाल यहां हम दूसरी बात करते हैं।

 भाजपा के सत्ता में आने के बाद जहां ठेकेदार नुमा नेता और नेता नुमा ठेकेदारों की भरमार हो गई है वही इस हालात से भाजपा के जिलाधक्ष भी अछूते नहीं रहे है। उनके जिला अध्यक्ष बनते ही कुछ ठेकेदार नुमा नेताओं ने उनसे नजदीकियां बढ़ाते हुए पहले पंचायत स्तर के बड़े कार्य हासिल किए और फिर संगठन में भी महत्वपूर्ण पद पर काबिज हो गए। खास बताया यह कि इनमें से एक नेता नुमा ठेकेदार जहां पूर्व मंत्री जयंत मलैया के कार्यकाल में विभिन्न निर्माण कार्यों की ठेकेदारी को लेकर चर्चाओं में रहे है वही दूसरे पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया के कार्यकाल में इसी तरह से सुर्खियां बटोरते रहे है। 

लेकिन अब बदले हुए हालात में यह दोनों नेता नुमा ठेकेदार जिलाध्यक्ष के जरिए राहुल सिंह से नजदीकी बढ़ाने के बाद सांसद प्रहलाद पटेल के इर्द-गिर्द भी सक्रिय रहने की कोशिश कर चुके हैं। लेकिन सबको पता है वहां दाल इतनी आसानी से सभी कि नहीं गलती। इधर कुछ अन्य ठेकेदार नुमा युवा नेता भी भाजपा कार्यकारिणी में जगह बनाने में सफल रहे  हैं। जिनकी चर्चा फिर कभी। पिक्चर अभी बाकी है..

Post a Comment

0 Comments