Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

घर के बाहर बिना मास्क के खड़े होना भारी पड़ा.. पुलिस कर्मियों ने दबंगई दिखाते हुए दलित को सबक सिखाया.. मामला वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान में आने पर दो पुलिस कर्मी सस्पेंड.. इधर कांग्रेस नेताओं ने आरोपी पुलिसकर्मियों पर एफआईआर की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा..

 घर के बाहर बिना मास्क के खड़े होना भारी पड़ा.. 

दमोह। जिले में कोरोना के घटते केसों के साथ कोरोना कर्फ्यू में ढील और अनलॉक प्रक्रिया शुरू हो जाने से करीब डेढ़ माह से घरों में घुसे लोगों के साथ दुकान दारों को भी राहत महसूस हुई है। वही कुछ पुलिस कर्मी मास्क नहीं पहनने तथा देर तक दुकान खोलने जैसे मामले को लेकर समझाईस देने के बजाय मारपीट करने से बाज नहीं आ रहे हैं।  

बीती रात शहर के चेनपुरा मंगल भवन क्षेत्र में अपने घर के बाहर खड़े ओमकार अहिरवार के साथ दो पुलिस कर्मियों ने जमकर मारपीट की थी। तथा उसका सिर फट जाने पर उसे जिला अस्पताल में लाकर टांके लगवाकर चलते बने थे। इसके बाद देर रात तक अंबेडकर चौक पर धरना प्रदर्शन का दौर चलता रहा था वही आज विधायक अजय टंडन और कांग्रेसी नेताओं ने अस्पताल में पीड़ित से मुलाकात करके एसपी ऑफिस पहुंचकर दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफ आई आर की मांग का ज्ञापन दिया था जिसके बाद फिलहाल मामले दोनों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करके के साथ जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

देर रात अंबेडकर प्रतिमा के समक्ष दिया धरना..



मंगलवार रात करीब 9 बजे बजरिया वार्ड 6 में हुए घटनाक्रम को लेकर ओंकार की पत्नी रामरति का कहना था कि मास्क नहीं पहने होने पर से उसके पति के साथ पुलिस ने इस तरह का बर्बरता पूर्ण व्यवहार किया तथा जाति सूचक गालियां देते हुए उसे भी धक्का दिया। घटना के बाद बच्चों सहित कोतवाली पहुंची ओंकार की पत्नी ने दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराना चाही थी लेकिन उसकी एक नहीं सुनी गई थी। जिसके बाद देर रात अंबेडकर प्रतिमा के समक्ष घायल ओंकार उसकी पत्नी बच्चे और मोहल्ला के लोग धरने पर बैठ गए थे। 



बाद में जानकारी लगने पर देहात थाना प्रभारी विजय सिंह राजपूत, कोतवाली से उपनिरीक्षक श्याम बैन ने पुलिस फोर्स के साथ अंबेडकर प्रतिमा स्थल पहुंचकर पीड़ित दंपत्ति को कार्रवाई का भरोसा दिलाकर अस्पताल भिजवा कर रात में मामले को शांत करा दिया था। लेकिन बुधवार को जब कोई कार्रवाई नहीं हुई इधर मामले की जानकारी ओंकार के समाज के लोगों को तथा कांग्रेस नेताओं को लगी तो उन्होंने जिला अस्पताल पहुंचकर ओंकार तथा उसकी पत्नी से पूरी जानकारी ली।

विधायक अजय टंडन, मनु मिश्रा जिला अस्पताल में


 बुधवार को विधायक अजय टंडन, जिला कांग्रेस अध्यक्ष मनु मिश्रा, वरिष्ठ नेता तेजराम रोहित, प्रताप रोहित, किसान कांग्रेस अध्यक्ष नितिन मिश्रा, पार्षद पप्पू कसोटिया, अजय जाटव, लकी खटीक आदि ने जिला अस्पताल पहुंचकर पीड़ित दंपति से घटना की जानकारी बाद में ने एसपी से मोबाइल पर चर्चा करके मामले में दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की मांग की।

इसके बाद कांग्रेस नताओं ने अनुसूचित जाति वर्ग के नेताओं के साथ एसपी ऑफिस पहुंचकर मामले में एक ज्ञापन सौंपा और दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने पर धरना आंदोलन की चेतावनी भी दी। मामला एसपी डीआर तेनीबार के संज्ञान में आने पर उन्होंने एडिशनल एसपी शिव कुमार सिंह को जांच कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। एडिशनल एसपी का कहना है कि प्रथम दृष्टया मामला गिरने से चोट लगने का नजर आ रहा है। जबकि यही बात पीड़ित तथा उसकी पत्नी कह रहे हैं कि पुलिस वालों ने उसे पीट-पीटकर ऐसा पटका की उसका सर फट गया।
मामले में सीएसपी अभिषेक तिवारी ने बताया कि फिलहाल आरक्षक महेश यादव और मोहन अहिरवार को निलंबित करके जांच की जा रही है इसके बाद आगे कार्रवाई की जाएगी।..

Post a Comment

0 Comments