Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

दमोह विधानसभा उपचुनाव.. भाजपा कार्यालय के बाहर वाहनों की भीड़ से आवागमन बेहाल, हादसों की आशंका.. इधर चप्पल चुनाव चिन्ह लेकर घूम रहे प्रत्याशी.. वैभव सिंह ने मतदान केंद्रों में जूता चप्पल पहनकर पहुचना प्रतिबंधित कर बैलेट पेपर से चुनाव की मांग उठाई..

भाजपा कार्यालय के बाहर वाहनों की भीड़ से ट्रैफिक बेहाल.. 

दमोह। दमोह विधानसभा उपचुनाव की नाम निर्देशन प्रक्रिया नाम वापसी और चुनाव वितरण के साथ संपन्न हो जाने के बाद चुनाव प्रचार गरमाने लगा है। प्रमुख प्रतिद्वंदी दल भाजपा कांग्रेस के प्रदेश स्तर के नेताओं के साथ प्रदेश भर के नेता कार्यकर्ताओं का दमोह पहुंचना शुरू हो गया है। जिससे दोनों ही दलों के जिला कार्यालय के बाहर वाहनों की भीड़ से आवागमन में बाधा के हालात दिन में अनेक बार बन रहे हैं।


फिलहाल हम बात कर रहे हैं कोतवाली से चंद कदम की दूरी पर स्थित जिला भाजपा कार्यालय की। जहां इन दिनों प्रदेश सरकार के अनेक मंत्रियों से लेकर प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों के भाजपा विधायको, सांसदों, नेताओ, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सहित पार्टी के बड़े नेताओं का आना जाना लगा हुआ। जिससे इन नेताओं की लग्जरी गाड़ियां आधी से अधिक सड़क को कवर करती हुई खड़े रहने से आवागमन में बाधा के हालात बनते नजर आ रहे हैं रात 9:00 बजे के बाद इस मार्ग से जबलपुर छतरपुर रोड का हेवी ट्रेफक भी शुरू हो जाने की वजह से लोडेड भारी वाहन भी धड़ल्ले से निकलने लगते हैं ऐसे में यदि भाजपा नेताओं की गाड़ी को कोई हैवी वाहन टच करता है या टक्कर मारता है तो बवाल मचना तय है। 

 इधर पुलिस कोतवाली और यातायात थाने से थोड़ी सी दूरी पर इस तरह के हालात निर्मित होने के बावजूद ट्राफिक और पुलिस सड़क पर खड़े भाजपा नेताओं के लग्जरी वाहनों को साइड में व्यवस्थित कराने की ओर क्यों ध्यान नहीं दे रहा इसको लेकर भी चर्चाओं का बाजार गर्म है। हालांकि जिला कांग्रेस कार्यालय के सामने बस स्टैंड किल्लाई नाका रोड पर भी कांग्रेस के बड़े नेताओं के आगमन के दौरान सड़क पर गाड़ियों के खड़े रहने की वजह से यातायात बाधा के हालात बनते रहते हैं। इस और भी ट्राफिक पुलिस का ध्यान नहीं जाना आश्चर्य का विषय कहा जा सकता है।
मतदान केंद्रों के बाहर जूता चप्पल पर प्रतिबंध की मांग..

 दमोह विधानसभा उपचुनाव में निर्दलीय प्रत्याशियों को चप्पल जूता चुनाव चिन्ह वितरण कर दिए जाने के बाद अब चप्पल चुनाव चिन्ह वाले प्रत्याशी वैभव सिंह में ने मतदान केंद्रों की 100 मीटर दायरे में चप्पल जूते पहनकर प्रवेश करने की स्थिति पर सवाल उठाना शुरू कर दिए है। उन्होंने जिला निर्वाचन अधिकारी के नाम एक लिखित आवेदन देते हुए इस बात पर सवाल उठाए हैं कि मतदान केंद्रों के 100 मीटर दायरे में जूते चप्पल पहनकर प्रवेश करना क्या चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन नहीं होगा इसे ध्यान में रखकर मतदान दल अधिकारी कर्मचारियों से लेकर मतदाताओं को जूते चप्पल पहन कर मतदान केंद्र में प्रवेश की इजाजत नहीं देने की मांग की गई है।
बैलेट पेपर से मतदान कराने की मांग का पत्र भी सौंपा-

 वही उक्त हालात में नंगे पैर मतदान केंद्रों में पहुंचने वाले लोगों को भीषण गर्मी और तपन को ध्यान में रखकर मतदान केंद्रों के बाहर लाल कारपेट बिछाने और की मांग की गई है। वहीं इनके द्वारा बैलेट पेपर से मतदान कराने की मांग भी की गई है। तथा इस संदर्भभ में जिला निर्वाचन अधिकारी को एक मांग पत्र भी 4 अप्रैल को सौंपा गया है।
उल्लेखनीय है कि चप्पल चुनाव चिन्ह वाले निर्दलीय प्रत्याशी वैभव सिंह शहर के विभिन्न क्षेत्रों में हाथों में चप्पल लेकर दुकान दुकान पहुंच कर जहा चप्पल को वोट देने की मांग कर रहे हैं वही अपने चचेरे भाई भाजपा प्रत्याशी राहुल सिंह का नाम लिए बिना दलबदल करने वालों को सबक सिखाने की अपील करते नजर आ रहे हैं।

Post a comment

0 Comments