Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

मप्र में कोरोना से निबटने मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को जिलों के प्रभार देकर बांदकपुर के लिए उड़ान भरी.. इधर दमोह में कोरोना से नहीं डरेंगे, मतदान जरूर करेंगे का संदेश दे रहा प्रचार वाहन चर्चाओं में आने के बाद रातो रात गायब..वही भर्ती मरीजों को देखने की अपील सोशल मीडिया पर बायरल..

दमोह में कोरोना से नहीं डरेंगे, मतदान जरूर करेंगे का संदेश

 भोपाल/ दमोह। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कोरोना से निपटने के लिए जिला स्तर पर  मंत्रियों को प्रभार देकर हेलीकॉप्टर से दमोह के उड़ान भर ली है आगामी कुछ दिनों तक मुख्यमंत्री के साथ उनके मंत्रिमंडल के अनेक सहयोगी दमोह विधानसभा क्षेत्र में सक्रिय रहकर पार्टी प्रत्याशी राहुल सिंह के पक्ष में घर-घर जाकर वोट मांगेंगे। इधर दमोह उपचुनाव में वोटरों को प्रेरित करने के लिए घूम रहे वह प्रचार वाहन अचानक गायब हो गए है जिनसे कोरोना से नही डरेंगे मतदान जरूर करेंगे का संदेश दिया जा रहा था।

विभिन्न प्रदेशों की तरह मध्यप्रदेश में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण पाने के लिए प्रदेश के अनेक जिलों में लॉक डाउन चल रहा है वही प्रदेश भर में शुक्रवार शाम से रविवार सुबह तक का 60 घंटे का लॉकडाउन जारी किया गया था लेकिन दमोह जिले को इससे अछूता रखा गया था।  नतीज दमोह में कोरोना संक्रमण के केसों की संख्या में लगातार वृद्धि सामने आ रही है। सरकारी रिकॉर्ड के अनुसार 11 अप्रैल को 41 नए मरीज सामने आए थे। लेकिन तब भी प्रशासन का पूरा ध्यान विधानसभा उपचुनाव कराने की ओर लगा हुआ है।  

दमोह विधानसभा के उपचुनाव में  प्रशासन द्वारा मतदान प्रचार करने के लिए जो प्रचार वाहन रवाना किए गए उसमें कोरोना से नहीं डरेंगे मतदान जरूर करेंगे के संदेश देने वाले लोग भी बिना मास्क के नजर आ रहे थे। बढ़ते कोरोना मामलों के बाद जब यह वाहन मीडिया की सुर्खियों में आया तो इसे रातो रात साईड में खड़ा करा दिया गया है वहीं इस तरह के संदेश देने वाली बाल पेंटिग भी दीबारों से रातों रात बदल दी गई है।

अस्पताल में भर्ती मरीजों को देखने की अपील भी बायरल

 दमोह विधानसभा उपचुनाव के प्रचार में जुटे नेताओं, मंत्रियों के घर घर जाने परंतु कोरोना मरीजों तथा अस्पताल के हालात को लेकर सुध नहीं लेने के बाद अब सोशल मीडिया पर लोग अस्पताल में भर्ती मरीजों को देखने जाने की मांग करके यह लिखने से नहीं चूक रहे कि यह मरीज भी दमोह के वोटर है। कहीं ऐसा न हो कि मतदान के पहले ही इनकी जान चली जाए। इधर कोरोना वार्ड के हालात सीसीटीवी के जरिए अस्पताल के वाहर दिखाए जाने की मांग भी सोशल मीडिया पर जोर पकड़े हुए है। जिससे मरीजों के परिजनों तथा आम नागरिकों को यह पता लग सके कि मरीजों की कैसी देखभाल स्टाफ द्वारा की जा रही है।

कोरोना नियंत्रण हेतु मंत्रियों को दिए गए जिले के प्रभार.. कोराना के नियंत्रण हेतु जिलों के प्रभारी बनाए गए मंत्रियों में भूपेंद्र सिंह को दमोह, गोपाल भार्गव को सागर तथा नरसिंहपुर, तुलसी सिलावट को इंदौर, कुंवर विजय शाह को खंडवा और बुरहानपुर, जगदीश देवड़ा को मंदसौर और रतलाम जिलों का प्रभारी बनाया गया है। इसी तरह बिसाहूलाल सिंह को अनूपपुर शहडोल सीधी, यशोधरा राजे सिंधिया को शिवपुरी दतिया, मीरा सिंह को उमरिया मंडला डिंडोरी, कमल पटेल को हरदा बैतूल होशंगाबाद, बृजेंद्र प्रताप सिंह को पन्ना कटनी छतरपुर, विश्वास सारंग को भोपाल सीहोर, प्रभु राम चैधरी को रायसेन विदिशा, महेंद्र सिंह सिसोदिया को गुना राजगढ़ जिलों का प्रभारी बनाया गया है। प्रद्युम्न सिंह तोमर को ग्वालियर प्रेम जी पटेल को बड़वानी ओमप्रकाश सकलेचा को नीमच, प्रेमसिंह ठाकुर को देवास, अरविंद सिंह भदौरिया को जबलपुर छिंदवाड़ा, मोहन यादव को उज्जैन, हरदीप सिंह डंग को खरगोन झाबुआ, राजवर्धन सिंह को धार अलीराजपुर, भरत कुशवाहा को मुरैना शिवपुरी, इंदर सिंह परमार को शाजापुर आगर मालवा, रामखेलावन पटेल को रीवा सतना सिंगरौली, रामकिशोर कांवरे को बालाघाट सिवनी, बृजेंद्र सिंह यादव को अशोकनगर, सुरेश धाकड़ को निवाड़ी टीकमगढ़ ओ पी एस भदौरिया को भिंड जिले मैं कोरोना नियंत्रण हेतु प्रभारी मंत्री बनाया गया है।

Post a Comment

0 Comments