Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

नरसिंहगढ़ में दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या के विरोध में गुस्साई भीड़ ने चौकी के सामने सड़क पर लगाया जाम.. आरोपियों को फांसी पीड़ित परिजनों को आर्थिक मदद की मांग.. पुलिस ने मुख्य आरोपी व दो अन्य पर कसा शिकंजा..

 हत्या के विरोध में गुस्साई भीड़ ने चौकी के सामने सड़क पर लगाया जाम.


दमोह। नरसिंहगढ़ में कल दिनदहाड़े परम रजक की गोली मारकर हत्या कर दिए जाने के बाद आज सुबह से ही नरसिंहगढ़ चौकी के सामने मृतक के परिजनों रिश्तेदारों समाज के लोगों का सड़क पर धरना प्रदर्शन के रूप में आक्रोश फूट पड़ा। रोते बिलखते लोगों की भीड़ से सड़क पर जाम के हालात बनते देर नहीं लगी। वही सीएसपी अभिषेक तिवारी लोगों को समझाने की कोशिश करते रहे।


 नरसिंहगढ़ में दिनदहाड़े कानून व्यवस्था का माखौल उड़ाते आते हुए गोली कांड के आरोपियों तक भले ही पुलिस के लंबे हाथ पहुंच गए हो लेकिन घटना की वजह से अपने पिता को खो देने से यतीम हो गई दोनों बेटियों के दुख दर्द की कोई भरपाई होना संभव नहीं है। उल्लेखनीय है कि परम रजक की पत्नी की 2 साल पहले मृत्यु हो गई थी जिसके बाद वह दिल्ली से मजदूरी काम छोड़कर नरसिंहगढ़ आकर अपनी अपनी बेटियों की परवरिश करने के लिए रहने लगा था। लेकिन मां के बाद  अब पिता का भी साया बेटियों के सिर से जाने के बाद अब उनका भविष्य अंधकार में होता नजर आ रहा है यही वजह है कि परिजन रिश्तेदारों मोहल्ले के लोग दोनों बेटियों की परवरिश के लिए शासन प्रशासन से मदद के साथ भविष्य को बनाने नौकरी आदि की अपेक्षा लगा रहे हैं और इसी को लेकर उनके द्वारा सड़क पर जाम लगाकर प्रदर्शन किया जा रहा है। 
बिन माँ की बेटियां पिता के जाने के बाद हो गई यतीम


आपको बता दे कि मंगलवार दोपहर नरसिंहगढ़ बाजार मोहल्ला में अपने घर के बाहर बेटी के साथ बैठे परम रजक के ऊपर बाइक सवार तीन युवक कट्टा से गोली चला कर फरार हो गए थे। वही जिला अस्पताल ले जाने पर परम की मौत हो गई थी घटना के प्रत्यक्षदर्शी परम की बेटी काजल ने जहां वारदात की जानकारी पुलिस को दी थी वहीं आरोपियों युवा पहचान नहीं कर सकी थी इधर घटना के सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने अपना जाल बिछाते हुए गोली मारने वाले मुख्य आरोपी  प्रशांत ठाकुर व दो अन्य युवकों पर रात में ही शिकंजा कस लिया था वही प्रशांत के साथ बाइक पर सवार दो अन्य युवकों के भी पकड़े जाने की खबर है। हालांकि  इस मामले में पुलिस अधिकारियों द्वारा कोई अधिकृत बयान नहीं दिया गया है।

इधर आरोपियों द्वारा घटना को अंजाम दिए जाने की वजह परम रजक द्वारा पूर्व में की गई शिकायत पर पिछले दिनों नरसिंहगढ़ क्षेत्र में शराब माफियाओं के अवैध अतिक्रमण ढहाने की कार्रवाई पुलिस प्रशासन द्वारा किया जाना बताया जा रहा है। वारदात में शामिल पांच आरोपियों में से तीन रजक समाज के बताए जा रहे हैं। सभी आरोपी नरसिंहगढ़ के ही निवासी होने के बावजूद उनको घटना के प्रत्यक्षदर्शी परम रजक की बेटी काजल कल पहचानने में डर रही थी। हालांकि आज उसके द्वारा प्रशांत ठाकुर का नाम खुल कर लिया जा रहा है। इस सनसनीखेज वारदात के आरोपियों को भले ही पुलिस ने पकड़ लिया हो लेकिन दिनदहाड़े जिस तरह से वारदात को अंजाम दिया गया क्षेत्र में आरोपियों के बेखौफ होने के साथ हौसले बुलंद रहने के हालात को उजागर करने काफी है। वहीं मृतक के परिजनों द्वारा आरोपियों को फांसी दिए जाने की मांग की जा रही है। शकील मोहम्मद की रिपोर्ट

Post a Comment

0 Comments