Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

वैक्सीन के पहले ही दमोह में कोरोना संक्रमण खात्मे की कगार पर ! क्या विधान सभा उप चुनाव के पूर्व कोरोना पूरी तरह से विदा हो जाएगा..? आज की 333 जांच में सिर्फ 3 महिलाए पाजेटिव.. मात्र 6 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष..

    दिसंबर के 13 वे दिन 3 नए फीमेल मरीज मिले... 

दमोह। क्या विधानसभा उपचुनाव के पहले दमोह से कोरोना संक्रमण की पूरी तरह से विदाई हो जाएगी ? क्या कोरोना वैक्सीन के आने के पहले ही दमोह में कोरोना संक्रमण खात्मे की कगार पर पहुच गया है ! यह बात हम नहीं कर रहे बल्कि दिसंबर माह में प्रतिदिन सामने आ रहे कोविड मरीजों की अपडेट यह संकेत दे रहा है। आज 13 दिसंबर की बात करें तो मेडिकल बुलेटिन के अनुसार आज की गई 333 जांच में से सिर्फ 3 महिलाओं की रिपोर्ट ही पाजेटिव है। वहीं अब मात्र 6 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष रह गई है। मेडिकल बुलेटिन के अनुसार आज 22 मरीज ठीक हुए है जबकि मीडिया को दी गई जानकारी में दो मरीजों के ठीक होना बताया गया है। 

 दिसंबर के 13 वे दिन जो 3 नए मरीज मिले हैं। तीनों मरीज फीमेल है तथा शहर की मुकेश कालोनी, देवरान और सिहोरा पड़रिया गांव की निवासी है। इधर 2 मरीजों की कोरोना की जंग जीतने की जानकारी भी दी गई है जबकि आज के मेडिकल बुलेटिन के अनुसार स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 22 होना चाहिए। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या का हेरफेर कहीं ना कहीं आंकड़े जारी करने में लापरवाही या फिर किसी गड़बड़ी की ओर संकेत करता है।

12 दिसंबर के मेडिकल बुलेटिन पर एक नजर..

स्वास्थ्य विभाग द्वारा 12 दिसंबर को जो मेडिकल बुलेटिन जारी किया गया था उसके अनुसार टेस्ट हेतु भेजे गए प्रकरण 49383 है। रिपोर्ट प्राप्त 49221, पॉजिटिव 2513 ठीक हुए 2296, मृत्यु 73..

13 दिसंबर के मेडिकल बुलेटिन पर एक नजर..

13 दिसंबर के मेडिकल बुलेटिन के अनुसार आज तक टेस्ट हेतु भेजे गए प्रकरण 49560 है जिनमें से 49554 की रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है यानी मात्र 6 सैंपल की रिपोर्ट बाकी है। प्राप्त रिपोर्ट में से 2516 पॉजिटिव रहे। इनमें से 2318 ठीक हो चुके और 73 की मृत्यु हुई है।

कोविड-19 की अपडेट को लेकर जारी होने वाले आज तथा कल के मेडिकल हेल्थ बुलेटिन को देख कर स्पष्ट हो जाता है कि 12 दिसंबर को ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 2296 थी और आज 13 दिसंबर के मेडिकल बुलेटिन के अनुसार ठीक हुए मरीजों की संख्या 2318 है अर्थात कल से आज के बीच में 22 मरीज स्वस्थ हुए हैं जबकि आज ठीक होने वाले मरीजों की जो जानकारी अपडेट की गई है उसमें सिर्फ दो मरीजों के कोरोना की जंग जीतने की जानकारी दी गई है। ऐसे में सवाल यह भी उठता है आखिर यह 20 अन्य मरीज कहां से कैसे स्वस्थ हुए ? क्या यह वास्तव में बीमार हुए भी थे अथवा नहीं ? इसी तरह आज 177 सैंपल लिए जाने तथा आज कुल 333 सैंपल की रिपोर्ट आने और इनमें से मात्र 3 के ही पॉजिटिव रहने का रिजल्ट यह बता रहा है कि दमोह में कोरोनावायरस का असर नाम मात्र का बचा है  मेडिकल बुलेटिन के अनुसार आज की तारीख में सिर्फ 6 रिपोर्ट आना बाकी है। 

ऐसे में प्रशासन को पूरी तरह से पारदर्शिता बरतते हुए मीडिया के जरिए आम जनता को यह बताना चाहिए कि अभी कितने केस एक्टिव हैं.. उन में कितने होम कॉरेंटाइन है और कितने कोविड केयर सेंटर में भर्ती है। कोरोना के केस कम होने के साथ कोविड-19 ड्यूटी में लगे डॉक्टर नर्स वार्ड बॉय सहित अन्य कर्मचारियों की कहां कैसी ड्यूटी फिलहाल चल रही है ?  इस स्थिति को भी स्पष्ट किया जाना आवश्यक हो गया है.. जिससे जिला अस्पताल में पहुंचने वाले अन्य बीमारियों के मरीजों को ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी यह कहकर सेवा देने से इनकार नहीं कर सके कि स्टाफ अभी कोविड-19 ड्यूटी में लगा है..  तथा इस वजह से ठीक तरह की सेवाएं सुविधा उपलब्ध नहीं हो पा रही है। पिक्चर अभी बाकी है.. अटलराजेंद्र जैन

Post a comment

0 Comments