Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सावधानी नहीं बरती तो पहले जैसे लॉक डाउन के लिए हो जाए तैयार.. इंदौर भोपाल ग्वालियर रतलाम विदिशा मैं रात का कर्फ़्यू शुरू.. दमोह में नवंबर के बीसवे दिन 21 पोजेटिव रिपोर्ट.. टोटल केस तेईस सौ के पार, 780 रिपोर्ट शेष..

मप्र सरकार की कोविड-19 बचाओ हेतु नई गाइडलाइन जारी
भोपाल। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर राज्य शासन ने प्रदेश के 5 जिला मुख्यालय भोपाल इंदौर ग्वालियर रतलाम और विदिशा में रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक सभी व्यवसाय प्रतिष्ठान खोलने पर प्रतिबंध लगा दिया है हालांकि उद्योग धंधों को उससे दूर रखा गया है। दूसरे शब्दों में कहा जा सकता है कि इन 5 शहरों में रात 10:00 से सुबह 6:00 बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू या लाक डाउन आगामी आदेश तक जारी रहेगा।

मध्यप्रदेश में कोविड-19 की महामारी की रोकथाम के तारतम्य में आज निम्न निर्णय राज्य सरकार द्वारा लिए गए.. 
प्रदेश में कंटेनमेंट जोन को छोड़कर किसी भी जिले शहर क्षेत्र में लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। अंतरराज्यीय एवं अंतर जिला परिवहन सतत एवं निर्बाध रूप से चल सकेगा।
अधिक संक्रमण के निम्न जिलों में कल 21 नवंबर से आगामी आदेश तक प्रत्येक रात्रि 10:बजे से प्रातः 6:बजे तक दुकानें व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे एवं नागरिक अति आवश्यक होने पर इस अवधि में परिवहन कर सकेंगे। इंदौर भोपाल ग्वालियर रतलाम विदिशा जिले में रात 10 से, सुबह 6 बजे तक व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। औद्योगिक मजदूरों के आवागमन एवं ट्रकों के परिवहन पर कोई रोक नहीं रहेगी।
कक्षा 1 से 8 तक के समस्त स्कूल 31 दिसंबर तक बंद रहेंगे।कक्षा 9 से 12 के स्कूली छात्र-छात्राएं एवं कॉलेज के छात्र छात्राएं विभाग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप स्कूल कॉलेज आ जा सकेंगे। फेस मास्क का उपयोग पब्लिक प्लेस में समस्त नागरिक करें इसका सख्ती से पालन कराया जाए।
प्रदेश के समस्त जिलों में 21 नवंबर से जिला क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों की बैठक आयोजित कर 22 नवंबर तक जिला कलेक्टर सुझाव सरकार को भेजेंगे। मैनेजमेंट की बैठकों में विवाह सामाजिक आदि कार्यक्रमों में उपस्थिति के अधिकतम सीमा तय की जाए , जिलों में कौन कौन से कंटेन्मेंट जोन बनाए जाएं इन बैठकों में तय होगा।

नवंबर के 20 वे दिन 21 केस,  780 रिपोर्ट आना शेष..

दमोह। जिले में ठंड बढ़ने के साथ कोरोना संक्रमण का असर बढ़ने लगा है। वहीं शहरी क्षेत्र में कोरोना से बचाव के मामले में लापरवाही बरतने से गांव की तुलना में अधिक मरीज मिल रहे हैं। नवंबर के बीसवें दिन 21 नए मरीज मिले हैं जिनमें से 18 शहरी क्षेत्र के हैं। इनको मिलाकर जिले में कोविड-19 केस अब तेईस सौ को पार कर गए हैं। जबकि मौत का आंकड़ा 68 तक अपडेट किया जा चुका है।


20 नवंबर के मेडिकल हेल्थ बुलेटिन के अनुसार अभी तक 410 94 प्रकरण कोविड-19 भेजे गए जिनमें से 403 14 की रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है अर्थात अभी 780 सैंपल की रिपोर्ट आना बाकी है अभी तक जो रिपोर्ट प्राप्त हुई है उसमें 2309 पॉजिटिव रही हैं जिनमें से 2266 ठीक हो चुके हैं जबकि 68 की मौत हो चुकी है इस तरह अभी 175 केस एक्टिव कहे जा सकते हैं। जिस तरह से तेजी से कोरोना संक्रमण के मरीज सामने आ रहे हैं उसे ध्यान में रखते हुए पहले से अधिक सावधानी और सतर्कता की आवश्यकता बढ़ गई है क्योंकि ठंड बढ़ने के साथ सर्दी खासी के मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है वहीं इससे कोरोना का खतरा भी तेजी से बढ़ रहा है। 

दमोह जिले में आज जो 21 केस सामने आये हैं उनमें 08 फीमेल मरीज और 13 मेल मरीज शामिल है,, मेल मरीज 25, 73, 48, 29, 60, 24, 52, 30, 30, 35, 40, 53, और 28 वर्ष के शामिल है। साथ ही फीमेल मरीज 42, 28, 33, 29, 61, 75, 50 और 48 वर्ष शामिल है। इसमें मेहगुआ दमोह से 01, एसपीएम नगर दमोह से 01, जबलपुर नाका से 01, मिशन हॉस्पिटल दमोह से 01, गोकलधाम नगर दमोह से 01, राजीव कॉलोनी दमोह से 01, सुभाष कॉलोनी दमोह से 01, विजय नगर दमोह से 01, माँगज वार्ड 1 से 01, फुटेरा वार्ड 1 से 01, दमोह से 01, सदगुआ से 01, खुमान फुटेरा से 01, जटाशंकर कॉलोनी दमोह से 01, एसपी ऑफिस दमोह से 01, बजरिया वार्ड 05 से 01, बजरिया दमोह से 01, दमोह से 01, रिछाई दमोह से 01, मुस्की बाबा दमोह से 01, सिविल वार्ड 6 से 01, मरीज शामिल हैं।




Post a comment

0 Comments