Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

कुंडलपुर मार्ग पर मास्क वाहन चैकिंग अभियान के दौरान पुलिस का दोहरा रवैया.. एक तरफ सवारियों से भरी पिकअप की अनदेखी दूसरी ओर आटो चालक से महिला कर्मियों की मौजूदगी में अमानवीय व्यवहार.. दोनो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल..

दोनो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए..

दमोह। कुंडलपुर मार्ग पर मास्क वाहन चैकिंग अभियान के दौरान हिंडोरिया थाना पुलिस के दोहरे रवैये के दो अलग अलग वीडियो वायरल हुए है। एक वीडियों में हिंडोरिया स्कूल के सामने मैन रोड पर चल रही पुलिस जांच के दौरान सवारियों से भरी पिकअप मालवाहक गाड़ी पुलिस की नजरों के सामने से निकल जाती है। लेकिन बाइक सवारों को रोकने में सड़क के दोनों तरफ खड़े पुलिस कर्मी पिकअप को रोकने कोई ध्यान नहीं देते है। 

हिंडोरिया थाना के मास्क वाहन चेकिंग अभियान का एक दूसरा वीडियों भी सामने आया है। जिसमें एस.आई. चैधरी की मौजूदगी में पुलिस स्टॉफ द्वारा वाहनों की जांच चालनी कारवाई के दौरान लाल कलर के एक खाली लगेज ऑटो को रोककर कागजात मांगे जाते है। जिस पर चालक द्वारा कागजात गाड़ी में रखे होने परंतु लायसेंस घर पर होने की बात कहीं जाती है। जिस पर वहां मौजूद पुलिस कर्मी एकदम से भड़क उठते है। वहीं एसआई सत्रह सौ रूपए के जुर्माने की रसीद कटवाने को कहते है। जिस पर आटो चालक बताता है कि वह भूसा खाली करके लौट रहा है और उसके पास रूपए नहीं है तथा वह मोबाइल करके देवडोंगरा स्थित घर से जैसे ही लायसेंस बुलवाने की बात करता है तो वहां मौजूद हवलदार का गुस्सा सातवे आसमान पर पहुच जाता है। इसी दौरान एक बाइक सवार को जब दूसरा पुलिस कर्मी रोकता है तो हवलदार बाइक वाले को यह कहते हुए जाने देने को कहता है कि यह फला आदमी के भतीजे है।और फिर उसे बेरोकटोक जाने दिया जाता है।

इधर आटो चालक पुलिस के सामने गिड़गिड़ाते हुए खुद को गरीब आदमी बताकर दया की भीख मांगता नजर आता है लेकिर गुस्से से आग बगूला पुलिस कर्मी वहां मौजूद महिला कर्मियों की मौजूदगी में बहुत ही गंदी एवं भद्दी गालियां ऑटो चालक को देते हुए धमकाने तथा झूमाझटकी करने से भी नहीं चूकते है। इस दौरान आटो चालक का मोबाइल भी पुलिस छीन लेती है तथा उसे धारा 185 में फसाने की धमकी देती हुई नजर आती है। 

उल्लेखनीय है कि दमोह कुंडलपुर मार्ग से देश के विभिन्न हिस्सों से आने वाले श्रद्धालुजनों का आना जाना लगा रहता है लेकिन मास्क तथा वाहनों की जांच के नाम पुलिस का इस तरह का रवैया यदि किसी बाहरी वाहन चालक के साथ सामने आता है तो उसका मैसेज प्रदेश के बाहर मप्र पुलिस तथा दमोह पुलिस की क्या छवि पेश करेगा इसका अंदाजा लगाना बड़ा ही आसान है। आटो चालक के साथ पुलिसकर्मी द्वारा महिला कर्मियों एवं उपनिरीक्षक की मौजूदगी में की गई भद्दी गालीगालोच एवं मारपीट का वीडिया वायरल होने के बाद देखना होगा कि पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मामले में कोई कार्रवाई करते है अथवा आम वाहन चालकों के साथ इस तरह के अभद्र अमानवीय व्यवहार को जारी रखने की छूट देते है। 

Post a comment

1 Comments

  1. देहातों में रोज का हाल है सिर्फ पैसे बसूलना

    ReplyDelete