Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

शादी के पहले होने वाली पत्नि मोबाइल पर ठीक से नहीं करती थी बात.. युवक ने चरित्र संदेह के शक में युवती को चुनरी से गला दबाकर उतारा मौत के घाट.. पन्ना पुलिस ने नाले में मिले युवती के शव मामले का किया पर्दाफाश..

 पन्ना पुलिस ने मामले का किया पर्दाफाश..

पन्ना। कहते हैं इश्क प्यार मोहब्बत के बीच में जब शंका के बादल छा जाते हैं तो मोहब्बत का गला घुटते दे देर नहीं लगती। तथा साथ जीने मरने की कसम खाने वाले भी शक के चलते कब जान के दुश्मन बन जाते हैं इसका पता ही नहीं चलता ऐसा ही एक मामला पन्ना जिले में सामने आया है जहां होने वाली पत्नी के मोबाइल पर ठीक से बात नहीं करने पर चरित्र संदेह के चलते युवक ने उसकी हत्या कर दी लेकिन उसका यह गुनाह ज्यादा समय तक छिप नहीं सका और आखिरकार पुलिस के लंबे हाथ उसकी गर्दन तक पहुंच गए।

पन्ना पुलिस कंट्रोम रूम में शनिवार दोपहर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में एसपी मयंक अवस्थी से घटना का खुलासा करते हुए पत्रकारों को जानकारी दी। दरअसल पन्ना के ग्राम मडैयन निवासी जगदीश कुशवाहा ने 28 सितंबर को बराछ पुलिस चोकी में अपनी बहिन की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। 3 दिन बाद 2 अक्टूबर को गुदलाहा नाला के पास उक्त युवती का शव मिला। जिसके बाद थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक अरूण कुमार सोनी द्वारा घटनास्थल पहुँचकर मामले में मर्ग कायम करके जाँच मे लिया। घटना की गंभीरता को देखते हुये एसपी मयंक अवस्थी स्वयं घटना स्थल पहुँचे एवं घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण किया गया। घटना की प्रकृति एवं घटना स्थल के निरीक्षण उपरांत मामले मे अज्ञात आरोपी के विरूद्ध हत्या करने एवं साक्ष्य छिपाने संबंधी वारदात होना पाये जाने पर से थाना कोतवाली पन्ना में अज्ञात आरोपी के विरूद्ध अप.क्र. 780-2020 धारा 302, 201 भादवि का कायम किया जाकर विवेचना मे लिया गया।

 मामले की गंभीरता को देखते हुये वरिष्ठ अधिकारियों के  निर्देशन मे थाना प्रभारी कोतवाली पन्ना निरीक्षक अरूण कुमार सोनी के नेतृत्व मे मामले के अज्ञात आरोपी की गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम का गठन किया गया । उक्त पुलिस टीम द्वारा मृतिका के गाँव पहुँचकर लोगो के कथन एवं मृतिका के मोबाइल की काल डिटेल सायबर इन्टेलीजेन्स से प्राप्त की। जिसमें मृतिका द्वारा अंतिम बार राजकुमार पटेल निवासी ग्राम इटहा मोहन्द्रा जिसके साथ मृतिका की शादी तय हुई थी उससे बात होना पाया गया एवं दोनो (मृतिका एवं संदेही राजकुमार पटेल) के मोबाइल की लोकेशन घटनास्थल में पायी गई। 3 अक्टूबर को छतरपुर बायपास बाइक से भागने की फिराक में खड़े राजकुमार पटेल को पुलिस ने हिरासत में लेकर जब पूछताछ की तो मामले का पर्दाफाश होते देर नहीं लगी।

राजकुमार पटेल के द्वारा बताया गया कि लॉकडाउन के पूर्व मेरी शादी मृतिका के साथ तय हुई थी जिसके बाद मै लगातार मृतिका से फोन पर बात करता था कुछ समय बाद जब मै मृतिका को फोन लगाता था तो कई बार वह मेरा फोन नही उठाती थी जिससे मुझे उस पर शंका होने लगी थी। इसी कारण मैने दिनांक 27 सितंबर 2020 को सुबह 10-11 बजे के बीच मृतिका को फोन पर गुदलाहा नाला के पास बुलाया और हम दोनो मिले उसके बाद कुछ देर बात हुई बात-बात में हम लोगो मे बहस शुरू हो गई। जिसको लेकर मैने उसी के दुपट्टे से गला दबाकर हत्या कर दी और लाश को नाले में फेंक दिया । उसके बाद मै वापस अपने घर इटहा मोहन्द्रा आ गया । पुलिस द्वारा आरोपी के बताये अनुसार आरोपी के आने जाने वाले रास्तो के सी.सी.टी.व्ही. फुटेज को चेक किया गया जिसमे उक्त आरोपी घटना दिनांक को अपनी मोटर साइकिल से घटनास्थल तरफ जाते हुये दिखा है । पुलिस ने आरोपी द्वारा घटना में प्रयुक्त काले नीले रंग की एच.एफ डीलक्स मोटरसाइकिल व मोबाइल जब्त कर लिया है।

प्रकरण के खुलासे में थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक अरूण सोनी, उपनिरीक्षक जेएम सिहं, उनि राहुल यादव, उनि व्हीके अहिरवार, उनि जया सोनी, प्रआर.रामकृष्ण पाण्डे, शिवेन्द्र सिहं, प्रेमलाल पाण्डेय, सायबर सेल से नीरज रैकवार, आशीष अवस्थी, धर्मेन्द्र सिंह राजावत एवं पुलिस टीम से आरक्षक राजेश सिहं,बीरेन्द्र कुमार, रामपाल बागरी, राजीव मिश्रा, मोहन सिंह, दीपप्रकाश, प्रदीप पाण्डेय, रविकरन, केशव, सुनील, रोहित, मुन्ना, रवि खरे का विशेष योगदान रहा। पुलिस अधीक्षक पन्ना द्वारा उक्त पुलिस टीम को नगद पुरूस्कार से  पुरुस्कृत करने की घोषणा की गई है ।

Post a comment

0 Comments