Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

नवरात्र के पहले दिन मैहर में मां शारदा देवी के दर्शनार्थ उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़.. यूपी से आए एक भक्त ने शीश समर्पण के उद्देश्य से ब्लेड से गला काटकर न्याय की गुहार लगाई.. पुलिस ने गंभीर हालत में हॉस्पिटल में एडमिट कराया..

 यूपी से आए एक भक्त ने शीश समर्पण करने काटा गला

मैहर/सतना। मप्र के सतना जिले के मैहर में स्थित जगत प्रसिद्ध मा शारदा देवी के मंदिर में दर्शन करने के लिए देश के कोने कोने से श्रद्धालु जनों का नवरात्र के मौके पर भारी तादाद में पहुंचने का दौर जारी है यहां पर भक्तों द्वारा माता रानी के दरबार में अपनी जीभ समर्पित करने के नजारे तो अक्सर सामने आते रहते हैं लेकिन इस बार शारदीय नवरात्र के पहले दिन यूपी से आए भक्तों के द्वारा अपना जी समर्पित करने के उद्देश्य से अपने गले को काटने का प्रयास किया गया। 

मैहर की मां शारदा भवानी के दरबार में भक्तों का तांता यूं तो पूरे वर्ष भर लगा रहता है। लेकिन नवरात्र के दोनों प्रभु के दौरान पर्वों के दौरान यहां पर हजारों लाखों श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है। इस वर्ष कोरोना काल के चलते चैत्र नवरात्रि के दौरान जहां भक्त माता रानी आराधना करने के लिए मैहर दरबार में पहुंचने से वंचित रहे थे। वही शारदीय नवरात्र के मौके पर मंदिर के पट पाठ खुल जाने के बाद भी सोशल डिस्टेंस को ध्यान में रखकर दर्शन इंतजाम किए गए हैं। 

यहां पर माता रानी के दरबार में सैकड़ों किलोमीटर दूर से पैदल चलकर आने वाले भक्तों से लेकर देश के कोने कोने से आने वाले भक्तों मां को अपनी श्रद्धा के अनुसार कुछ ना कुछ समर्पित करके अपनी मनोकामना पूर्ण करते हैं इसी क्रम में नवरात्र के पहले दिन यूपी निवासी एक भक्त के द्वारा अपना शीश समर्पित आशीष समर्पित करने का प्रयास किया गया।

 माता रानी के दर्शन के बाद मंदिर के सीढ़ियों पर ही अपना गला काटने वाला यह भक्त माता से न्याय की गुहार लगा रहा था। गले पर धारदार ब्लैड का कट लगते हैं खून के गुब्बारे छूटकर सीढ़ियों पर गिरने लगे। वही हजारी को देखते ही इस नजारे को देखते ही सुरक्षा कर्मियों ने तत्परता दिखाई और मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराते हुए उसे नीचे भेजकर हॉस्पिटल में एडमिट कराया जहां उसकी हालत ठीक बताई जा रही। माता को शीश अर्पित करने की कोशिश करने वाला भाग बांदा यूपी निवासी राजकुमार वर्मा बताया जा रहा है जो किसी अन्याय से पीड़ित होने के बाद माता के दरबार में न्याय की गुहार लगाने आया था।

Post a comment

1 Comments