Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

तेंदूखेड़ा सड़क बनाने वाली कंपनी ने मुरम निकालकर गहरी कर दी थी मनरेगा की तलैया.. गहराई का अंदाजा नहीं लगने से नहाने गए दो मासूम बच्चो की जल समाधि.. एक बच्चा सागर से रक्षाबंधन पर आया था ननिहाल.. घटना के बाद तेजगढ़ हर्रई क्षेत्र में शोक की लहर..

तालाब में नहाने गए दो मासूमो की डूबने से मौत..
दमोह। अभाना तेंदूखेड़ा सड़क निर्माण कराने वाली कंपनी द्वारा मनरेगा की तलैया से मुरम खनन करने कराई गई जबरदस्त खुदाई के बाद तलैया में भर गया बारिश का पानी दो मासूम बच्चों की जान का दुश्मन बन गया तलैया की गहराई से अंजाम नहाने पहुंचे दो मासूम बच्चों की जल्द समाधि हो गई बाद में जब इनकी तलाश की गई तब तक इन की सांसे थम चुकी थी।
 तेजगढ़ थानां के गांव हर्रई मैं दो मासूम की तालाब के गहरे पानी मे डूबने से मौत होने का ह्रदय विदारक घटना सामने आई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सागर निवासी अरविंद शर्मा का 8 वर्षीय पुत्र आर्यन रक्षा बंधन मैं अपनी मां के साथ ननीहाल आया हुआ था। जहा शुकवार दोपहर हर्रई निवासी 12 वर्षीय पुष्पेंद्र पिता मूलचंद के साथ घर से विना बताए तालाब में नहाने गया था। बाद में इनके घर वापिस नही लोटने पर खोजखबर करते हुए परिजन मनरेगा से बने तालाब के पास पहुचे।  जहा दोनों मासूम के कपड़े तालाब किनारे मिलने पर  तेजगढ़ थाना पुलिस को सूचना दी गई। 
बाद में एएसआई डीपी साहू ने पटवारी नन्हे सिंह पुलिस स्टाफ व ग्रामीणों की मदद से तालाब के गहरे पानी मे बच्चों को खोजने का रेस्क्यू कराया और भारी मसक्त के वाद दोनों बच्चो के शव गहरे पानी से गोताखोरों की मदद से निकाले गए। ग्रामीणों ने बताया कि मनरेगा से बनाई गई तलैया को अभाना तेंदूखेड़ा सड़क निर्माण कम्पनी के द्वारा मुरम निकालकर कर बेहद गहरा कर दिया गया था। बरसात का पानी भर जाने की वजह से जिसकी गहराई मासूम समझ नही पाए और तालाब की गहराई मैं भरे पानी मे डूब गए।
थानां प्रभारी विकास सिंह चौहान ने बताया कि बच्चे तालाब मैं नहाने गए थे और गहरे पानी मे डूबने से मौत हो गई। शवों की पंचनामे की कार्यवाही कर शवों को पीएम के लिए तेन्दूखेड़ा स्वास्थ्य केंद्र भेजकर मर्ग विवेचना मैं लिया गया है। तेंदूखेड़ा से विशाल रजक की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments