Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

बेव सीरीज के नाम पर माडल युवतियों की.. एडल्ड वेब सीरिज बनाकर पोर्न साईट पर डालने वाले.. फिनियों मूवीज के संचालको पर इंदौर सायबर सेल का शिकंजा.. पाकिस्तान से भी जुड़े है अश्लील फिल्म निर्माताओं के तार.. 22 देशों में फैला फिनियों मुविज प्लेटफार्म का नेटवर्क..

 फिनियों मूवीज के संचालको पर पुलिस का शिकंजा
इंदौर। मॉडल युवतियों को वेब सीरीज में एक्टिंग का मौका देने के नाम पर उनकी एडल्ट वेब सीरीज बनाकर पोर्न साईट पर डाल ओटीटी प्लेटफार्म पर प्रसारित करके लाखो की कमाई करने वाले फिनियों मूवीज के संचालको पर इंदौर साइबर सेल की मदद से पुलिस ने शिकंजा कसते हुए बड़ा खुलासा किया है। इनके तार पाकिस्तान से जुड़े होने का चैंकाने वाला खुलासा भी सामने आया है। फ्री लांसर बेवसाईट के माध्यम से पाकिस्तान के युवक हुसैन अली से जुड़कर अपनी खुद की फिनीयों मुविज ओटीटी प्लेटफार्म डिजाइन कराने की जानकारी भी सामने आई है। 
 युवती व अरोपीयों के द्वारा पुछताछ के दौरान बताया कि फिल्म को बनाने में डायरेक्टर ब्रजेन्द्र गुर्जर, राजेश बजाड उर्फ राज गुर्जर, अंकित चावडा, मिलिंद डाबर सुनिल जैन, अनिल द्विवेदी, विजयानंद पाण्डेय, अजय गोयल, गजेन्द्र सिंह , युवराज, प्रमोद सिमरिया, योगेन्द्र जाट भी शामिल। आरोपी ब्रजेन्द्र गुर्जर, अंकित चावडा, मिलिंद डावर को गिरफ्तार कर चूकी हैं सायबर सेल इंदौर शेष आरोपियों की सरगर्मी से तलाश जारी। पुछताछ में आरोपीयों द्वारा राजेश बजाड उर्फ राज गुर्जर, अशोक सिंह, विजया नंद पाण्डेय के तार ओटीटी प्लेटफार्म Ullu, Flizmovies के साथ जुडे होना बताया। 

 SP राज्य सायबर सेल इंदौर जितेन्द्र सिंह ने बताया कि 25 जुलाई को 2020 को शिकायतकर्ता रिया परिवर्तित नाम ने एक आवेदन पत्र राज्य सायबर सेल इंदौर में दिया था। जिसमें अल्ट बालाजी में बेव सीरीज बनाने के नाम पर एक एडल्ड वेब सीरिज बनाकर पोर्न साईट पर डालने के सम्बंध में  शिकायत दर्ज कराई थी। मामले की गभींरता को देखते हुए एक टीम निरीक्षक राशिद अहमद, उपनिरीक्षक संजय चौधरी व आरक्षक विवेक मिश्रा, गजेन्द्र सिंह राठौर, विनिता त्रिपाठी गठित कर जॉच के लिए लगाया गया था। शिकायत जॉच पर से राज्य सायबर सेल इंदौर द्वारा अपराध क्रमांक 128/2020 धारा 66ई, 67 एवं 67ए सूचना प्रौघोगिकी एक्ट 2000 के अतंगर्त पंजीबध्द कर विवेचना में लिया गया। जिसकी विवेचना राशिद अहमद एवं उनकी टीम को दी गई। 
उक्त प्रकरण की विवेचना में फिनियों मुविज के मालिक आरोपी दीपक सैनी मुरार जिला ग्वालियर एवं केशव सिंह निवासी पोरसा जिला मुरैना ने कडी पुछताछ में बताया की वर्ष 2019 में freelancer wesite के माध्यम से जुडा पाकिस्तान के युवक हुसैन अली से ओर उसके सहयोग से डिजाइन की अपनी खुद की फिनीयों मुविज ओटीटी प्लेटफार्म जिसके एवज में हुसैन अली को 18 से 20 हजार रुपए दिए थें। फिनियों का मैनटेनेंस हुसैन अली के द्वारा ही देखा जाता हैं जिसके एवज में हुसैन अली को 30 से 40 हजार रुपए महिना जो पाकिस्तानी करंसी के हिसाब से 60 से 80 हजार रुपए महिना दिया जाता हैं।
22 देशों में फैला फिनियों मुविज प्लेटफार्म का नेटवर्क..

 ओटीटी प्लेटफार्म पर सबसे पहली फिल्म एलएसडी एक एडल्ट बेव सीरीज अपलोड की गई। जिससे लोगों का रिस्पांस अच्छा आया इसके बाद फिनियों मुविज पर एडल्ट बेव सीरिज कम पैसों में बनाकर व बनवाकर फिनियों पर अपलोड किया जाता था। जिससे देश विदेश से जुडे लोगों से एक मोटी रकम प्राप्त होती थी। विजयानंद पाण्डेय, अशोंक सिंह से शांताबाई बेव सीरीज व अन्य बेव सीरीज को अपने ओटीटी प्लेटफार्म पर चलाने के लिए दे चूका है लगभग 04 से 05 लॉख रुपए पुछताछ में आरोपीयों द्वारा राजेश बजाड उर्फ राज गुर्जर, अशोक सिंह, एवं विजयानंद पाण्डेय के तार ओटीटी प्लेटफार्म Ullu, Flizmovies के साथ जुडे होना बताया जो एडल्ट मूवीज बनाने का काला काम करते हैं। अन्य आरोपीयों की धडपकड करने में सायबर सेल इंदौर प्रयासरत हैं। पिक्चर अभी बाकी है..

Post a comment

0 Comments