Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

लक्ष्मण कुटी में दोनों तरफ दमोह पन्ना स्टेट हाइवे पर होगा प्रवेश द्वार का निर्माण.. गुरु पूर्णिमा पर लक्ष्मण कुटी धाम पहुंचे विधायक राहुल सिंह का ऐलान.. बांदकपुर में चारों तरफ हुआ गेट निर्माण..

विधायक निधि से निर्मित होंगे दोनों तरफ प्रवेश द्वार..
दमोह। दमोह पन्ना स्टेट हाईवे पर जिला मुख्यालय से 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित प्रभु श्री राम भक्त हनुमान की दरबार लक्ष्मण कुटी धाम सैकड़ों बरसों से भक्तों की आस्था और श्रद्धा का केंद्र बना हुआ है। यहां प्रत्येक मंगलवार शनिवार के अलावा पूर्णिमा अमावस्या एवं अन्य पर्वों पर श्रद्धालु जनों की जमकर भीड़ उमड़ती है। वही यहां से निकलने वाले अधिकांश वाहन प्रभु दर्शन के बिना आगे नहीं बढ़ते। संकट मोचन हनुमान की संध्या आरती यहां विशेष आकर्षण का केंद्र होती है।
जन आस्था के केंद्र प्रसिद्ध पवित्र धर्म क्षेत्र के बारे में बाहर से निकलने वाले लोगों को भी जानकारी हासिल हो सके इसके लिए यहां प्रवेश द्वार निर्माण की आवश्यकता लंबे समय से महसूस की जा रही थी। वही गुरु पूर्णिमा के अवसर पर यहा प्रभु चरणों मे शीश झुकाने और भंडारा प्रसाद ग्रहण करने पहुचे विधायक राहुल सिंह का ध्यान जब इस और आकर्षित कराया गया तो उन्होंने तत्काल दोनों ओर प्रवेश द्वार निर्माण कराने की घोषणा कर दी। 
विधायक निज सचिव भागीरथ पटेल ने बताया कि मंदिर कमेटी के सदस्यों के साथ बैठक के बाद विधायक श्री राहुल सिंह ने दमोह तथा हटा दोनों तरफ से लक्ष्मण कुटी की सीमा में प्रवेश स्थल पर विधायक निधि से दोनों प्रवेश द्वार का निर्माण कराने की घोषणा की है। जिससे श्रद्धालु जनों के साथ ग्रामीण जनों में भी उत्साह का माहौल बना हुआ है। जल्द ही यहां पर प्रवेश द्वार निर्माण कार्य शुरू कराने की घोषणा विधायक राहुल सिंह द्वारा की गई है। 
बांदकपुर के चारों तरफ निर्मित हो चुके हैं प्रवेश द्वार
दमोह विधायक राहुल सिंह के द्वारा भगवान जागेश्वर नाथ की धाम बांदकपुर में चारों तरफ पहले ही प्रवेश स्वागत द्वार का निर्माण कार्य विधायक निधि से कराया जा चुका है जो अब यहां पर दूर-दूर से आने वाले श्रद्धालु जनों के लिए दिशा सूचक के साथ आकर्षण का केंद्र हैं।

 पहला प्रवेश द्वार स्टेसन बांदकपुर मार्ग पर दूसरा हरदुआ केवलारी सलैया रोड पर तीसरा टिकरी पिपरिया बनवार हलगज रोड पर तथा चौथा आनू दमोह मार्ग पर अपनी छटा बिखेरते नजर आते हैं।

चारो गेट देश के प्रमुख संतो के नाम से बनवाये गए है।
गेटों में बांदकपुर से जुड़े हुए आसपास के ग्रामों के अलावा
महानगरों की दूरी की जानकारी एवं बांदकपुर छेत्र के धार्मिक स्थानों की जानकारी अंकित की गई है ।

Post a comment

0 Comments