Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

शिकारी कुत्तों से जान बचाकर शहर की ओर भागे चीतल को समय रहते नहीं मिली शरण.. प्राणघातक हमले में जान गवाने के बाद शोभा नगर क्षेत्र में मिला नर हिरण का शव.. वन विभाग की टीम मृत हिरण को कब्जे में लेकर जांच में जुटी..

शिकारी कुत्तों ने हमला करके ले ली मासूम हिरण की जान
दमोह। अल्प बारिश के हालातों के बावजूद चारों तरफ फैली हरियाली वन्य जीव जंतुओं को खुशहाली का संदेश देती नजर आ रही है यही वजह है कि हरियाली में घूमते घूमते अनेक वन्य जंतु कब आबादी क्षेत्र में पहुंच जाते हैं उन्हें पता ही नहीं लगता। इस बात का एहसास उन्हें तब होता है जब कोई शिकारी उनके पीछे लग जाता है या फिर शिकारी कुत्ते जान के दुश्मन बन जाते हैं। ऐसा ही एक घटनाक्रम दमोह में सामने आने के बाद वन्य प्राणियों सुरक्षा पर सवाल उठते नजर आ रहे हैं।
दमोह के किशुन तलैया राजनगर क्षेत्र से जुड़े शोभा नगर क्षेत्र में मंगलवार सुबह एक नर चीतल के बेसुध पड़े होने की खबर से सनसनी के हालात निर्मित हो गए। लोगों ने मौके पर पहुंचकर जब नजदीक से हिरण को देखा तो उसकी सांसें थम चुकी थी। वही उसकी कोमल काया मैं जगह जगह चोट खरोच के निशान नजर आ रहे थे गर्दन तथा पेट पर गहरे जख्मों के निशान उसके ऊपर शिकारी कुत्तों द्वारा किए गए जानलेवा हमले की दास्तान बयान कर रहे थे। स्थानी निवासियों द्वारा वन विभाग को मृत हिरण के पड़े होने की सूचना दिए जाने के काफी देर बाद वन कर्मी मौके पर पहुंचे तथा शव को उठा कर पोस्टमार्टम के लिए ले गए।
पीएम रिपोर्ट के बाद ही मौत की कारणों का खुलासा वन विभाग करेगा। लेकिन पहली नजर में यह साफ नजर आ रहा है की घेराबंदी करके पीछे से तथा साइड से हमला करके मासूम हिरण के प्राण हरण करने का दुस्साहस शिकारी कुत्तों द्वारा किया गया होगा। यहा  के कुछ लोगों जंगली जानवरों के प्रवेश पर चिंता जताई है। इन का कहना है जो उन्होंने कुत्तों को भगाने के बाद वन विभाग के अधिकारियों को सूचना दे दी लेकिन समय रहते बन अमले को यहां नहीं भेजा गया.. अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments