Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सावन में सुबह शाम दोनो टाइम कोरोना की बौछार.. दमोह में 5 नए केस मिलने से टोटल स्कोर 107, एक्टिव केस 40.. डेढ़ सौ रिपोर्ट आना बाकी.. शनिवार को लाक डाउन का आदेश त्योहार के मद्देनजर टला.. सिविल चार में एक किराना दुकान संचालक की रिपोर्ट भी पाजेटिव..!

दमोह में 5 नए केस मिलने से टोटल स्कोर 107
दमोह। सावन मास में पानी की रिमझिम बौछार की जगह कोरोना के नए केसों की बौछार जैसी हालत में ने आम नागरिकों को सावधानी और सुरक्षा को लेकर सोचने को मजबूर कर दिया है। वहीं प्रशासन द्वारा लगाई जाने वाली बंदिशों से भी लोग सहमति जताते रात 8:00 बजे से सुबह 5 बजे के कर्फ्यू को उचित बताने से नहीं चूक रहे हैं।
 दमोह जिले में गुरुवार को दोपहर 12:00 बजे तक 5 नए कोविड 19 के सामने आने से एक्टिव केस 40 तथा टोटल केसों की संख्या 107 हो गई है। जिनमें से 66 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं। वही फुटेरा निवासी एक पेशेंट को अन्य बीमारियां होने की वजह से नहीं बचाया जा सका। आज जो 5 नए केस सामने आए हैं उनमें तीन फुटेरा के मरीज की कांट्रैक्ट हिस्ट्री वाले रहे हैं। एक नया मरीज पटेरा के मझौली में मिला है। इधर दमोह के सिविल वार्ड 4 में मिला नया मरीज किराना दुकान संचालक बताया जा रहा है। इसकी कांट्रैक्ट हिस्ट्री लंबी होने का अनुमान लगाया जा रहा है।
शनिवार को लाक डाउन होना त्योहार के मद्देनजर टला..
जिले में लगातार सामने आ रहे कोरोना केसों को ध्यान में रखकर शांति समिति की बैठक में आए प्रस्तावों के बाद एसडीएम गगन बिसेन ने रविवार के साथ शनिवार को भी लाक डाउन के आदेश जारी कर दिए थे। 23 जुलाई को जारी इस आदेश में अब पुणे संशोधन किया गया है तथा त्यौहार के मद्देनजर फिलहाल रविवार को ही लाक डाउन रहेगा। शनिवार को पूर्व की तरह जिले के बाजार खुलते रहेगे। यह जानकारी जनसंपर्क अधिकारी सीबीएसई द्वारा दी गई है।
एक बार पुनः निवेदन घर पर रहे हैं सुरक्षित रहें..
दमोह जिले में जिस तरह से सावन में कोरोना बरस रहा है उससे बचने के लिए मास्क तथा सैनिटाइजर काफी नहीं है सबसे जरूरी है लोग घरों से कम से कम निकले तथा आपस में दूरी बनाए रखते हुए कम से कम लोगों से मेल जोल संपर्क करें। क्योंकि वर्तमान समय को सावधानी से निकाल कर ही हम अगले दिन, अगले माह और अगले वर्ष में सब कुशल सुरक्षित पहुंच सकते हैं। जीवन रहा तो धन दौलत कमाने के साथ खूब घूम फिर लेंगे। नही तो वर्तमान हालात में अंतिम यात्रा में शामिल होने पर भी पाबंदियां लगी हुई हैं। एक बार पुनः निवेदन घर पर रहे.. सुरक्षित रहें। बाहर निकल कर कोरोना से लड़ने के बजाए घर पर रहकर बचे। इसी में सबसे बड़ी समझदारी है। आज शाम को आने वाले केसों की रिपोर्ट अभी बाकी है..

Post a comment

1 Comments

  1. सबसे अहम है घर पर ही रहना जब गले में आ जाये बिलकुल तब निकलने का नियम जनता को ही तय करना होगा,,

    ReplyDelete