Ticker

6/recent/ticker-posts

पेट्रोल डीजल के रोज बढ़ रहे दाम लेकिन बस वालों की नहीं हो रही सुनवाई.. बसों को आरटीओ ऑफिस में खड़ा करने जा रहे आपरेटरों से पुलिस की झड़प.. किल्लाई नाके पर ज्ञापन लेकर बस वालों को वापस भेजा.. इधर रैली में आ रही एक बस का अगला हिस्सा नाली में घुसकर फसा..

बसों आपरेटरों की झड़प, ज्ञापन लेकर वापस भेजा..
 देश के अंदर दिनों दिन बढ़ रहे कोरोना मरीजो की संख्या तथा बॉर्डर पर चीन व पाकिस्तान की घुसपैठ का मैं तोड़ जवाब देने में लगी सेना की खबरें इन दिनों मीडिया की सुर्खिया बनी हुई है। ऐसे में लगातार बढ़ती पेट्रोल डीजल की कीमतों की रेस में डीजल के आगे निकल जाने से किसानों से लेकर वाहन चालकों और बस ऑपरेटरों की मुसीबत बढ़ने और महंगाई के चरम पर पहुंचना तय हो गया है वहीं दूसरी ओर लाक डाउन अवधि में 3 मार्च तक खड़ी रही बसों को दोबारा सड़क पर लाने के लिए प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है जिससे आम यात्रियों के साथ वाहन चालक और मालक सभी परेशान हैं। 
दमोह जिला मुख्यालय पर ऐसे ही कुछ हालातों के बीच अपनी बसों को आरटीओ ऑफिस में खड़ा करने के लिए जा रहे बस व ऑपरेटरों को रोकने पर से पुलिस व बस आपरेटरो के बीच झड़प तथा तकरार के हालात निर्मित हो गए। बाद में एसडीएम रविंद्र चोकसे ने मामले को शांत कराते हुए आरटीओ को बुलाकर बस ऑपरेटरों का ज्ञापन दिलवाया और जल्द कार्रवाई का भरोसा दिलाया। इस दौरान किल्लाई नाके से लेकर से लेकर बस स्टैंड व स्टेशन चौराहे के पास तक बसों की लाइन लगे रहने से जाम जैसे हालात बनते रहे। 
इस मौके पर जिला बस यूनियन के अध्यक्ष शंकर राय ने बताया कि लॉकडाउन अवधि के 3 महीनों तक सभी बसें खड़ी रही है ऐसे में इस अवधि का टैक्स शुन्य करते हुए आगामी 3 माह के लिए टैक्स में छूट दी जाए। उपाध्यक्ष करण सिंह ने बताया कि बंद पड़ी बसों की बीमा पालसी अवधि 3 माह के लिए आगे बढ़ाई जाए। सचिव समीम कुरेशी ने कहा कि वाहनों की नानी यूज़ ऑफ जी मैं वृद्धि किए जाने के साथ डीजल के दामों में हुई बेहद आशा वृद्धि को ध्यान में रखकर किराया 50% तक बढ़ाया जाए इसके बाद ही वह बसों को चालू करेंगे। इसके अलावा लॉकडाउन अवधि में बेरोजगार बैठे रहे बसों के चालक परिचालक व हेल्परों के शासन से 10/ 10 हजार रुपये की आर्थिक मदद प्रदान करने की मांग भी की गई है।
एक बस का पहिया क्रासिंग करते नाली में घुसा
आरटीओ आफिस में बसों को खड़ा कराने के लिए आपरेटरों के घरों से आ रही बसों में से एक बस शिवाजी स्कूल के पास सकरी सड़क पर टेक्टर से क्रासिंग के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हो गई। बस का अगला चका सड़क किनारे नाली में घुस कर फस जाने से यहां से बस को सड़क पर लाने में चालक को काफी देर तक मशक्कत करना पड़ी। वहीं दूसरे वाहन चालकों को निकलने में भी परेशानी होती रही। मनीष साहू के साथ अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments