Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

वन टू का फोर.. इधर हिंडोरिया से एक मरीज की छुट्टी हुई उधर हटा में दो नए मिले.. दिल्ली से लौटे दंपत्ति की कोरोना रिपोर्ट पाजेटिव आते ही कलेक्टर एसपी पहुचे हटा.. इधर जम्मू एक्सप्रेस से दमोह पहुचे 595 मजदूर.. स्वास्थ्य परीक्षण के बाद पन्ना, छतरपुर, इंदौर, नीमच रवाना..

हटा के गौरीशंकर वार्ड में दम्पत्ति कोरोना पाजिटिव
 दमोह। कोरोना संकट काल में मरीजों के ठीक होने तथा नए मरीजांे के मिलने का सिलसिला जारी रहने से दमोह जिला बार बार कोरोना मुक्त होने की कगार पर पहुचकर अटकता नजर आ रहा है। आज भी एक मरीज की छुट्टी होने के बाद एक मरीज ही शेष बचा था। लेकिन कुछ देर बाद दो नए मरीज मिल जाने से वन टू का फोर जैसे हालात बनते नजर आए। 
जानकारी लगते ही शनिवार 13 जून की शाम कलेक्टर तरूण राठी तथा एसपी हेमंत चोहान हटा पहुचे तथा गोरीशंकर वार्ड के एरिया विशेष को कैचमेंट क्षेत्र बनाने की कार्यवाही करते हुए क्षेत्र के लोगों को घरों में रहने तथा इनकी जांच स्क्रीनिंग शुरू कराने निर्देश दिए गए। गौरी शंकर वार्ड में बुंदेलखंड स्कूल के पीछे से,तलैया के पास तक लल्लू प्रजापति के घर से विनोद वाल्मीकि और घनश्याम अहिरवार से मकुंदी के घर तक सौ मीटर सभी तरफ का एरिया कन्टोन्मेंट क्षेत्र घोषित कर यंहा चारो तरफ बेरिकेडिंग कराकर सभी सेवाएं बन्द कराई हैं।कलेक्टर तरुण राठी का कहना है कि दोनों मरीजों के प्रथम सम्पर्क वाले लोगो की सूचियां तैयार कराई जा रही हैं। चिंता की बात नहीं है स्वास्थ्य अमला पूरी सजगता से कार्य कर रहा है।
 आपको बता दे कि हटा के गौरीशंकर वार्ड निवासी पति पत्नी पांच दिन पूर्व 8 जून को दिल्ली से अपने घर हटा लौटे थे। जिनके कोविड 19 सेंपल जांच हेतु पहले जिला अस्पताल भेजे गए थे। जहां रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर इसकी पुष्टि हेतु सेंपल पुनः सागर भेजा गया। जहां से रिपोर्ट पाजेटिव आते ही हड़कंप के हालात बन गए। दोनों को कोविड केयर सेंटर में भर्ती करके इलाज शुरू कर दिया गया है। वही इनके तीन बच्चो के भी संक्रमित होने की आशंका में उनके भी सेंपल लेकर रविवार को कोविड 19 जांच हेतु भेजने के निर्देश जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ राकेश राय को दिए गए है।
स्वस्थ्य होने वाले मरीजो का आंकड़ा पहुंचा 26.. 
दमोह। कोविड सेन्टर हिण्डोरिया में एडमिट एक स्वास्थ्य कार्यकर्ता की रिर्पोट निगेटिव आने के बाद आज उसे डिस्चार्ज कर दिया गया। इस मौके पर पुष्प मालाओं से स्वागत कर स्वस्थ्य होने के बाद उसके घर भेजा गया। इसकों मिलाकर जिले में कोराना की जंग जीतने वालों की संख्या 26 हो गई है।
 इस मौके पर एसडीएम रवीन्द्र चैकसे, सीबीएमओ डॉ रीता चटर्जी, डॉ ज्योति दुबे, बीसीएम हेमंत शुक्ला, प्रकाश त्रिपाठी और अन्य कर्मचारियों ने फूल वर्षा करके मरीज का अभिनंदन किया और शुभकामनाएं देते हुए उन्हें उनके घर की ओर एम्बुलेंस से रवाना किया गया। डॉ. चटर्जी ने बताया कि स्वस्थ्य हुए मरीज को होम कोरोन्टाईन में रहने के लिए कहा गया है।
पन्ना, छतरपुर, इंदौर, नीमच के मजदूर बसों से रवाना
दमोह। शनिवार शाम 5 बजे जम्मू से दुर्ग जा रही विशेष श्रमिक ट्रेन दमोह पहुंची। ट्रेन से 595 मजदूर छतरपुर, पन्ना, नीमच और इंदौर के भी आए। इन सभी मजदूरों को दमोह में उतारा गया। कलेक्टर श्री तरूण राठी द्वारा सभी मजदूरों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने की तत्काल व्यवस्था की गई। इस अवसर पर मौजूद एसडीएम श्री रविंद्र चोकसे ने बताया कि इन 595 मजदूरों में 15 नीमच और 4 मजदूर इंदौर के हैं, इन्हें भी भेजने के लिए विशेष वाहन की व्यवस्था की जा रही है। ट्रेन के दमोह पहुंचते ही मेडिकल टीम द्वारा सभी का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। राजस्व और नगरपालिका विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा मजदूरों को उनके बस तक बैठने के लिए व्यवस्था की गई।
ट्रेन से आए सभी मजदूरों का स्वास्थ्य परीक्षण नोडल अधिकारी डॉ वेदांत तिवारी ने अपने सहयोगी स्टाफ के साथ स्वास्थ्य परीक्षण करवाया।  मजदूरों ने सरकार के इंतजामों की भरपूर सराहना की। श्रमिक पप्पू अहिरवार जम्मू से आये हुये है उन्होने कहा हम ट्रेन से फ्री आये हैं, सरकार का धन्यवाद। मैं छतरपुर के लिए बस से जाऊगां, सरकार ने अच्छी सुविधा करा दी। कालीचरण अहिरवार जो जम्मू से ट्रेन से आये हुये है, उनका कहना है, वे भी अपने घर छतरपुर बस से जा रहे है। इसी प्रकार सभी आये हुये अन्य श्रमिकों ने भी व्यवस्थाओं को सराहा। उन्होंने कहा कि सरकार का बहुत-बहुत धन्यवाद, सारी सुविधाएं मिली, खाना मिला, किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नही हुई।

Post a comment

0 Comments