Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

मप्र के जिला न्यायालयों में सबसे पहले.. दमोह में ऑफ-लाइन सुनवाई शुरू.. बिना इंटरनेट कनेक्टिवटी के बिना ब्रॉड बेंड सुविधा के सॉफटवेयर जिटसी स्थापित.. लॉकडाउन के दौरान निषेधाज्ञा का उल्‍लंघन करने वाले 17 व्यक्तियों को जेल भेजा गया..

जिला न्यायालयों में ऑफ-लाइन सुनवाई शुरू..
दमोह। जिला न्यायालय दमोह में आज विशेष न्यायालय (एट्रोसिटी) के पीठासीन अधिकारी श्री रमाशंकर शर्मा के समक्ष जमानत आवेदन पत्र पर ऑफ-लाइन जिला न्यायालय परिसर में स्थापित कान्टेक्ट पाइंट से सुनवाई की गई। जिला न्यायालय दमोह के सर्वर रूम द्वारा बिना इंटरनेट कनेक्टिवटी के बिना ब्रॉड बेंड सुविधा के सॉफटवेयर जिटसी स्थापित कर अधिवक्तागणों को उक्त सुविधा प्रिंसिपल एवं जिला सत्र न्यायधीश श्री एसएस रघुवंशी के मार्गदर्शन में उपलब्ध कराई गई हैं।
ज्ञात हो कि प्रिंसिपल एवं जिला सत्र न्यायधीश श्री एसएस रघुवंशी के मार्गदर्शन में यह पूरी प्रक्रिया दमोह में सिस्टम ऑफीसर मयूर उपाध्याय द्वारा की गई हैं। सर्वर दमोह में ही तैयार किया गया हैं। आज जिले की पहली व्हीसी इस माध्यम से संपन्न हुई।

सुनवाई के समय कान्टेक्ट पांइट (इन कैंपस) पर प्रधान न्यायाधीश कुटुम्ब न्यायालय श्री राजीव कुमार सिंह, जिला राजिस्ट्रार सिविल न्यायालय श्री रवि नायक, आवेदक के अधिवक्ता श्री कमलेश भारद्धाज उपस्थित रहे।
लॉकडाउन निषेधाज्ञा उल्‍लंघन पर 17 को जेल.. 

दमोह। पुलिस अधीक्षक हेमंत चैहान के निर्देश पर जिले में विगत दिवस लॉक डाउन के दौरान निषोधाज्ञा का उल्‍लंघन करने वाले 28 व्यक्तियों के विरूद्ध धारा 188 ताहि के प्रकरण पंजीबद्ध किये गये, इसके अतिरिक्त 17 व्यक्तियों को जेल भेजा गया है इसमें मुख्य रूप से थाना कोतवाली, थाना जबेरा, थाना तेजगढ, थाना मगरोन में 03-03, थाना हटा एवं थाना बटियागढ में 02-02, थाना रनेह 01 आरोपी को जेल भेजा गया। गत दिवस धारा 144 के अंतर्गत निषेधाज्ञा का उलंघन करने पर जिले के विभिन्न थानों में 23 प्रकरण पंजीबद्ध कर 28 आरोपियों के विरूद्ध कार्यवाही की गई है।

Post a comment

0 Comments