Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सावधान.. महानगरों से बुंदेलखंड के गांव की और प्रवासी मजदूरों की दस्तक जारी.. श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन पटियाला से सागर.. गुड़गांव दिल्ली से दमोह पहुंची...केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल ने प्रवासियों से की 14 दिनों तक होम कोरेंटाईन में रहने की अपील..

गुड़गांव दिल्ली से दमोह पहुंची श्रमिक एक्सप्रेस..
दमोह/सागर। लाक डाऊन 4 में कोरोना वायरस संक्रमण का सबसे अधिक असर नजर आने वही महानगरों में कार्यरत मजदूरों का श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के जरिए बुंदेलखंड में दस्तक का दौर जारी है। गुरुवार को पटियाला से मजदूरों को लेकर सागर तथा गुड़गांव से मजदूरों को लेकर दमोह श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन पहुंची। बाद में ट्रेन से उतरे मजदूरों को उनके गंतव्य की ओर रवाना किया गया। लेकिन मजदूरों के गांव पहुंचने के पहले ही ग्रामीणों के बीच में अज्ञात भय जैसा माहौल देखने को मिला।
गुड़गांव दिल्ली  से 1400 मजदूरों को लेकर श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन गुरुवार सुबह दमोह रेलवे स्टेशन पहुंची जहां सभी मजदूरों की बारी बारी से जांच स्क्रीनिंग करने के बाद उनको भोजन पानी के पैकेट वितरित किए गए। बाद में अलग-अलग बसों के जरिए संबंधित जिलो की तहसील तथा गांव की ओर मजदूरों को रवाना किया गया। इस दौरान ट्रेनों से आए पिछले 2 महीनों से महानगरों में फंसे रहने की दास्तान सुनाते मोदी सरकार के घर वापसी के निर्णय से राहत मिलने की बात करते नजर आए।
इसके पूर्व बुधवार को भी दिल्ली से आई श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन में सवार होकर 422 मजदूर दमोह रेलवे स्टेशन पर उतरे थे जिनकी जांच स्क्रीनिंग उपरांत भोजन पानी का इंतजाम करके उनकी रवानगी में एसडीएम सहित प्रशासनिक अमला जुटा रहा था। बाद में सभी मजदूरों को बसों से उनके गंतव्य की ओर रवाना किया गया था। खास बात यह है कि ट्रेनों से आने वाले मजदूरों में दमोह के अलावा छतरपुर टीकमगढ़ पन्ना कटनी सतना आदि के मजदूर भी शामिल रहे हैं जो अपने गांव की ओर रवाना होने के बाद भले ही उनको होम क्वॉरेंटाइन करा दिया गया हो लेकिन उनकी उपस्थिति गांव में पहले से मौजूद लोगों के बीच में भय का कारण बनी हुई है।
बुंदेलखंड के लगभग सभी जिलों में कोरोना पॉजिटिव का मिलना जारी है। संभागीय मुख्यालय सागर में जहां संख्या बढ़कर 52 हो चुकी है वही दमोह जिला मुख्यालय पर सात कोरोना पेशेंट का इलाज जारी है। टीकमगढ छतरपुर पन्ना निवाड़ी आदि मैं भी कोरोना पेशेंट इलाजरत है। वही अब अब इन सभी जिलों में प्रवासी मजदूरों की दस्तक मरीजों की संख्या में और वृद्धि के संकेत देते साफ नजर आ रहे हैं। ऐसे में अब अधिक सावधानी से रहने की आवश्यकता बढ़ गई है। 
 केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल ने की सावधानी की अपील
केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल ने लाक डाउन 4 के दौरान बाजार में दुकानें खोले जाने के लिए मिलने वाली छूट तथा प्रवासियों की गांव वापसी के बाद बढ़ने वाली भीड़ को लेकर सभी से सावधानी व सर्तकता की अपील की है। श्री पटेल ने सोशल डिस्टेंस के पालन के साथ प्रवासी मजदूरों से 14 दिनों तक बाहर नही निकलने तथा होम कोरेंटाईन में रहने की अपील भी की है। दमोह जिले में 2 महीने बाद 21 मई से बाजार में सभी दुकानों को खोलने की इजाजत मिलने के बाद भीड़ उमड़ने के साथ सोशल डिस्टेंस के पालन करने के मामले में हम सभी की जिम्मेदारी बढ़ गई है। स्वयं भी संक्रमण को रोकने के लिए सजगता का परिचय दें और दूसरों को भी सजग बनाए रखें। अभिषेक जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments