Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सपना चौधरी के प्रोग्राम में पुलिस की व्यस्तता का फायदा उठाकर.. अज्ञात लुटेरों ने एसबीआई के एटीएम में ब्लास्ट कर लाखो की नगदी पर किया हाथ साफ.. करीब 24 घन्टे बाद भी नही लग सका लुटेरों का सुराग..

 एसबीआई के एटीएम में ब्लास्ट कर लाखो की नगदी लूटी
दमोह जिला मुख्यालय से करीब 25 किलोमीटर दूर पटेरा कुंडलपुर मार्ग पर हिंडोरिया तथा पटेरा के बीच  देवडोंगरा गांव में भारतीय स्टेट बैंक के एटीएम को बारूद से उड़ा कर उड़ा कर लाखों रुपए की नगदी को लूट लिए जाने का सनसनीखेज घटनाक्रम सामने आया है। इस वारदात को उस समय अंजाम दिया गया जब जिले भर की पुलिस पथरिया में आयोजित डांसर सपना चौधरी के प्रोग्राम में व्यवस्थाएं बनाने में व्यस्त थी।
पटेरा थाना अंतर्गत देव डोंगरा गांव में मेन रोड पर संचालित भारतीय स्टेट बैंक के एटीएम मशीन को फिल्म स्टाइल में डायनामाइट से ब्लास्ट करके उसमें रखी करीब 6 लाख की नगद राशि को लूटकर ले जाने का सनसनी खेज घटनाक्रम सामने आया है। शुक्रवार देर रात इस वारदात को उस समय अंजाम दिया गया जब जिले भर की पुलिस प्रशासनिक व्यवस्था पथरिया में आयोजित बुंदेली मेला महोत्सव के मंची कार्यक्रम के दौरान सपना चौधरी के नृत्य के दौरान हो रहे हंगामे को संभालने में व्यस्त थे।
हालांकि वारदात की जानकारी लगने पर पटेरा थाना पुलिस बाद में मौके पर पहुंची तथा वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दिए जाने के बाद वह भी घटनास्थल पर पहुंचे तथा आसपास मौजूद साक्ष्यों को सुरक्षित कर आरोपियों की पतासाजी हेतु नाकाबंदी के प्रयास किए गए। लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी और वारदात को अंजाम देने वाले शातिर लुटेरे शायद जिले की सीमा से भी बाहर हो चुके थे। शनिवार को एसपी हेमंत चौहान के अलावा सागर से पुलिस के वरिष्ठ जांच अधिकारी भी मौके पर पहुचे तथा जांच जानकारी में जुटे रहे।
बताया जा रहा है कि एटीएम मशीन में ब्लास्टिंग के पूर्व वहां लगे सीसीटीवी कैमरों को स्प्रे के जरिए धुंधला करने का प्रयास किया गया वही ब्लास्टिंग के लिए एटीएम के मीटर से ही कनेक्शन लिए जाने तथा एक लुटेरे के घायल होने और कुछ रुपयों के भी जल जाने जैसे सुराग पुलिस के हाथ लगे हैं। 
वारदात को अंजाम देने वाले लुटेरों की संख्या करीब आधा दर्जन होने काअनुमान लगाए जाने व इनके डायनामाइट ब्लास्टिंग में माहिर रहने तथा पुलिस के पथरिया में  सपना चौधरी के प्रोग्राम में व्यस्तता का पता पूर्व से होने जैसे हालातों को ध्यान में रखकर पूर्व से ही इस एटीएम की रेकी किए जाने तथा कुछ स्थानीय बदमाशों का भी इन्हें सपोर्ट होने जैसी संभावनाएं जताई जा रही हैं। 

फिलहाल पुलिस के लिए इन शातिर लुटेरों को पतासाजी करके इनकी गिरफ्तारी तथा लूट की रकम बरामद करना सबसे बड़ी चुनौती बना हुआ है। 

Post a comment

0 Comments