Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

कमलनाथ सरकार की सहयोगी MLA रामबाई के बिगड़े बोल.. शासन कांग्रेस का काम BJP के तरीके से.. मंत्री अधिकारी कर रहे गेम.. CM तक नही पहुच रही सच्चाई.. रोजगार देने के बचन के बजाय सरकार कर रही बेरोजगार..!

 विधायक रामबाई ने शासन प्रशासन पर साधा निशाना
भोपाल। मप्र में कमलनाथ सरकार की सहयोगी और बहुजन समाज पार्टी से निलंबित विधायक रामबाई ने एक बार फिर प्रदेश सरकार के मंत्रियों और अफसरों पर निशाना साधा है। उन्होंने अधिकारी मंत्रियों द्वारा मिलकर गेम डालने और मुख्यमंत्री तक सच्चाई नहीं पहुंच पाने की बात कही है। भाजपा के लोगों की आज भी सरकार में चलने, भ्रष्टाचार बढ़ने और रोजगार देने के बजाए संविदा अतिथि कर्मचारियों का रोजगार छीनकर बेरोजगार करने जैसे आरोप लगाए हैं। 
विधायक रामबाई के भोपाल स्थित आवास पर बुधवार को सहकारी बैंक के संविदा लिपिक, कंप्यूटर ऑपरेटर ज्ञापन सौंपने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने अपनी सेवा समाप्ति के हालात में बेरोजगारी का संकट आ जाने और विभाग के अधिकारियों मंत्री द्वारा कोई भी सुनवाई नहीं करने की बात कहीं। जिस पर विधायक राम बाई ने सरकार चला रहे मंत्रियों और अफसरों पर निशाना साधते नजर यहां तक कह दिया कि " सब मर जाए सरकार को कोई फर्क नहीं पड़ेगा" 
उन्होंने चीन में फैले कोरोना वायरस की बात कहते हुए कहा कि सरकार के बस में नहीं है अन्यथा वो यह बीमारी भी फैला देती। हालांकि वह मुख्यमंत्री कमलनाथ की तारीफ करती उन तक ज्ञापन देने वालों की बात पहुंचाने की बात करती ज्ञापन देने पहुचे हताश कर्मियों को आश्वस्त करती भी नजर आई। 

 दरअसल मप्र में सरकार में आने के पूर्व कांग्रेस ने चुनावी वचन पत्र में किसी भी संविदा कर्मचारी को बाहर नहीं करने का वायदा किया था। लेकिन वर्तमान में जो आदेश जारी हुआ है उसमें स्पष्ट है कि किसी भी संविदा लिपिक व कंप्यूटर ऑपरेटर की सेवाएं आगे नहीं बढ़ाई जाएंगी। जिस से प्रदेश भर में कोऑपरेटिव बैंक में बरसों से कार्यरत 400 संविदा लिपिक  कंप्यूटर ऑपरेटर के समक्ष बेरोजगारी का संकट खड़ा हो गया है। जिसको लेकर विधायक रामबाई का गुस्सा जायज नजर रहा है। देखना होगा उनके इस बयान के बाद सरकार में बैठे भाजपा समर्थक अफसर और मनमानी कर रहे मंत्रियों की कार्यप्रणाली पर कोई फर्क पड़ता है अथवा नहीं ? अटलराजेंद्र जैन

Post a comment

0 Comments