Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

नायब तहसीलदार के सामने चल रहा था रिश्वत का खुला खेल.. सागर लोकायुक्त ने नामांतरण के नाम पर चार हजार रूपये की रिश्वत लेते लिपिक को रंगे हाथों पकड़ा.. दमोह तहसील कार्यालय में लोकायुक्त की कारवाई से बने हड़कंप के हालात..

 लोकायुक्त ने 4000 की रिश्वत लेते लिपिक को पकड़ा
दमोह। तहसील कार्यालय में नायब तहसीलदार की मौजूदगी में चल रहे रिश्वत के खुले खेल का खुलासा लोकायुक्त छापे के साथ सामने आया है। सागर से पहुंची लोकायुक्त टीम ने अभाना मंडल की नायब तहसीलदार रंजना यादव की कोर्ट में 4 हजार रु की रिश्वत ले रहे लिपिक सूर्यकांत गुप्ता को रंगे हाथों पकड़ते हुए भ्रष्टाचार अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण पंजीबद्ध करते हुए कार्यवाही की है।
सागर से डीएसपी राजेश खेड़े के नेतृत्व में निरीक्षक मंजू सिंह के साथ दमोह पहुंची लोकायुक्त टीम ने गुरुवार दोपहर दमोह तहसील कार्यालय स्थित अभाना राजस्व मंडल के नायब तहसीलदार के कक्ष में दस्तक देते हुए लिपिक सूर्यकांत गुप्ता को 4000 रु की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों दबोच ने में देरी नहीं की। रिश्वत की यह रकम फरियादी शुभम दुबे से ली जा रही थी। दरअसल शुभम के परिवार का एक नामांतरण प्रकरण लंबे समय से तहसील कार्यालय में लंबित था। जिसमें 5 नाम दर्ज किए जाने के बदले में 5000 रु रिश्वत की मांग की गई थी। जिसमें से एक हजार रुपए फरियादी पूर्व में ही दे चुका था। शेष रकम देने के पूर्व शुभम दुबे ने सागर लोकायुक्त को शिकायत कर दी तथा आज रिश्वतखोर बाबू को ट्रेप पर भी करा दिया।
 पूर्व में भी एक पटवारी को रिश्वत लेते हुए पकड़वा चुके ग्रामीण शुभम दुबे ने बताया कि 5 लोगों के नामांतरण के बदले में प्रत्येक रिश्वत की रकम मांग करने वाले  लिपिक  सूर्यकांत द्वारा रिश्वत का आधा हिस्सा नायब तहसीलदार मैडम को भी देने की बात कही थी। तथा इस बातचीत की रिकॉर्डिंग फरियादी द्वारा लोकायुक्त कपूर में प्रेषित की गई थी आज भी जब रिश्वत का खुला खेल चल रहा था उस दौरान थोड़ी दूरी पर नायब तहसीलदार मैडम विराजमान थी। जबकि नायब तहसीलदार रंजना यादव इस पूरे घटनाक्रम से खुद को दूर अर्थात पाक साफ बताती नजर आई। इधर लोकायुक्त कार्रवाई की जानकारी लगने पर तेंदूखेड़ा क्षेत्र के अनेक लोग मीडिया को मोबाइल पर सूचना देकर यहां पर पदस्थ रही नायब तहसीलदार मैडम के कारनामे में बताते नजर आए।
 हालांकि इस पूरी कार्रवाई के दौरान लिपिक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है लोकायुक्त डीएसपी राजेश खेड़े का कहना है कि अभी मामले में जांच जारी है। तहसील कार्यालय में लोकायुक्त कार्रवाई की खबर लगते ही यहां पर पेशी तथा अन्य कार्यों से आए अनेक लोग अपनी परेशानी की व्यथा कथा भी मौके पर कवरेज करने गए मीडिया कर्मियों को सुनाते हुए नजर आए। अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments