Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

नकली सोना बेंचने वाले अन्तर्राज्यीय ठग गिरोह को पन्ना पुलिस ने पकड़ा.. 2 किलो नकली सोने के साथ असली सोने के गुरिया, 80 हजार नगदी बरामद.. सतना, रीवा, जबलपुर, कटनी, इलाहाबाद में भी देे चुके बारदात को अंजाम..

नकली सोना बेंचकर ठगी करने वाले गिरोह को पकड़ा
पन्ना। नकली सोना बेंचकर प्रदेश के अनेक क्षेत्रों में ठगी की वारदातों को अंजाम दे चुके अन्तर्राज्यीय ठग गिरोह को पकड़ने में पन्ना पुलिस ने सफलता प्राप्त की है। 9 सदस्यी ठग गिरोह के कब्जे से पुलिस ने 80 हजार रुपए नगदी के अलावा करीब 2 किलो नकली सोना, असली सोने के 18 गुरिया तथा चाँदी के सिक्के भी बरामद किये है। उक्त आरोपीगणो के द्वारा पूछताँछ पर सतना, रीवा, जबलपुर, कटनी, इलाहाबाद  मे इस तरीके की बारदात को अंजाम देना स्वीकार किया है । 
पन्ना एसपी मयंक अवस्थी ने रविवार दोपहर पत्रकार वार्ता में इस बहुचर्चित मामले की जानकारी दी गई। पकड़े गए आरोपियों  नाम शंकर लाल पिता राजाराम राय निवासी आवास विकाश कालोनी थाना सिकंदरा जिला आगरा, शंकर राय पिता बीरचन्द्र राय निवासी मल्लपुरा आगरा, मंगल राम पिता तेजराम राय निवासी आवास विकाश कालोनी सिंकदरा जिला आगरा, अर्जुन राय पिता शंकर राय निवासी आवास विकाश कालोनी सिकंदरा जिला आगरा, अर्जुन सिलवट पिता धुला सिलवट निवासी गुलाब बाई कालोनी नागदा जिला उज्जैन, रामलाल राय पिता धूरा लाल राय निवासी बदरीकूठ थाना बसरीहर जिला इटावा, श्रीमति टीना राय पति मंगल राय निवासी आवास विकाश कालोनी सिकंदरा जिला आगरा, श्रीमती राजू देवी राय पति राम लाल राय निवासी बदरीकूठ थाना बसरीहर जिला इटावा उ प्र,  श्रीमति नूतन सोलंकी पति हेमराज सोलंकी निवासी खोडिया नगर अहमदाबाद गुजरात’ से कडाई से पूछताँछ करने पर उक्त सभी आरोपीगणो के कब्जे से नगद 80000 रूपए, 18 सोने के गुरिया, 08 चाँदी के सिक्के, 01 चाँदी का पेण्डल, नकली सोना करीब 02 किलो बरामद किया गया। आरोपीगणो के द्वारा मेमोरण्डमं मे बताया गया की उक्त घटना मे हेमराज सोंलकी पिता कप्तान सोंलकी उम्र 35 साल निवासी ग्राम करारी जिला झाँसी उप्र भी शामिल है जिसे शीघ्र गिरफ्तारी किया जावेगा।  उक्त आरोपीगणो के द्वारा पूछताँछ पर सतना, रीवा, जबलपुर, कटनी, इलाहाबाद  जिलो मे इस तरीके की बारदात को अंजाम देना स्वीकार किया है ।
उक्त आरोपीगणो को बाद गिरफ्तारी न्याया0 पेश किया जाकर पुलिस रिमाण्ड लिया जाकर  पूछताँछ की जाती है  जिनसे और भी कई खुलासे होने की संभावना है । उक्त संपूर्ण कार्यवाही मे  निरी0 हरिसिहं ठाकुर , उपनिरी0  एन पी पटेल ,बलवीर सिहं, सउनि0 कस्तूरी बाई , प्र0आर0 रामकष्ण पाण्डे. शिवेन्द्र सिहं , प्रेमलाल पाण्डे ,आर0 राजेश सिहं , लक्ष्मीनारायण यादव , राजीव, ब्रम्हदत्त , प्रदीप, रामपाल, म0आर0 किरन , सीतू सिहं , मीना अहिरवार व साईबर सेल पन्ना  से आर0 नीरज रैकवार ,आशीष अवस्थी , धर्मेन्द्र राजावत का सराहनीय योगदान रहा पुलिस अधीक्षक पन्ना के द्वारा उक्त टीम को नगद पुरूष्कार देने की घोषणा की गई ।
सब्जी बेचने वाले को चूना लगाकर भागे थे आरोपी14.फरवरी को लखनलाल कुशवाहा निवासी जनवार ने कोतवाली पन्ना में रिपोर्ट की थी के 24 जनवरी को उसकी सब्जी भाजी की दुकान पर आए एक व्यक्ति ने ख्ुाद को बिहार का निवासी बताते हुए पन्ना अस्पताल मे नींव खोदते समय आधा किलो वजनी सोने का हार मिलने की बात कहीं थी। तथा अपनी बच्ची की शादी करने पैसे की आवश्यकता बताकर सोने के के उक्त हार को गिरवी रखने या खरीदने का आग्रह किया। दूसरे दिन उक्त व्यक्ति ने पुनः आकर सोने के दो गुरिया देते हुए सोनी से जांच कराने और अपना मोवाइल नंबर देकर बताने को कहा। सोने के गुरिया असली होने की बात मोबाइल पर बताने पर पर उन लोगों ने लखनलाल को सोने का हार देने के बदनले में एक करधोनी तथा दो लाख रूपए लेकर देवेन्द्रनगर आने को कहां। 
दो लाख नगद और करधनी लेकर दिया तांबे का हार- जिस पर दूसरे दिन लखनलाल अपने पुत्र मनमोहन के साथ एक सोने का हार और एक चांदी का डोरा करीब डेढ पाव का और करीब 02 लाख रूपए लेकर बाइक से देवेन्द्रनगर पहुच गए। जहां बस स्टैंड पर उन्होंने उस व्यक्ति को 2 लाख रुपये दिये और एक सोने का हार वजनी करीब सवा तोला का और एक चांदी का डोरा वजनी करीब एक पाव देकर बदले में सोने जैसा एक हार लेकर वापिस पन्ना लौट आए। बाद में पन्ना में उक्त हार को चेक कराने पर वह तांबे का निकला। अपने साथ ठगी की आंशका होते ही लखनलाल ने पहले तो आरोपियों की पतासाजी का प्रयास किया परंतु जब सफलता नहीं मिली तो पन्ना थाना पुलिस को सूचना देते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई।
सीसीटीवी फुटेज के आधार पर लगा गिरोह का सुराग- मामले की गंभीरता को देखते हुये पुलिस अधीक्षक पन्ना श्री मयंक अवस्थी के निर्देशन में ,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बीके एस परिहार एवं अनुविभागीय अधिकारी आरएस रावत के मार्गदर्शन एवं थाना प्रभारी कोतवाली के नेतृत्व मे तत्काल एक पुलिस टीम का गठन कर मुखबिर तंत्र को सक्रिय कर घटना दिनांक के CCTV फुटेज को खंगाला गया। उक्त दोनो व्यक्तियो की सी.सी.टी.व्ही. के माध्यम फोटो प्राप्त पन्ना, सकरिया, देवेन्द्रनगर, बृजपुर, मडला अजयगढ एवं आसपास के कस्बो मे गाँवो मे उनकी पतासाजी शुरू की गई। 16 फरवरी को उक्त हुलिया के व्यक्ति  रानीबाग पन्ना तरफ घूमते मिलने की सूचना पर कोतवाली टीआई हरिसिहं ठाकुर द्वारा टीम को रवाना किर ठग गिरोह के 9 लोगों को दबोचने में सफलता हासिल की गई। 

Post a comment

0 Comments