Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

पथरिया में बुंदेली मेला महोत्सव का रंगारंग आगाज..विधायक रामबाई और पीएल तंतुबाय के साथ कलेक्टर ने किया शुभारंभ.. इधर दमोह बुंदेली मेला मैं कलेक्टर की सिफारिश के बाद भी.. विकलांग से दुकान के लिए मांगे 10 हजार..

 पथरिया में बुंदेली मेला महोत्सव का रंगारंग आगाज
दमोह। बोर्ड परीक्षाओं के दौर में एक और बुंदेली मेला का आगाज पथरिया में हो चुका है। 28 फरवरी से 8 मार्च तक चलने वाले पथरिया बुंदेली मेला महोत्सव का शुभारंभ मेला आयोजक विधायक रामबाई के साथ हटा विधायक पीएल तंतुबाय, जिला पंचायत अध्यक्ष शिव चरण पटेल तथा कलेक्टर तरुण राठी, सहकारी बैंक के प्रशासक गौरव पटेल, एसडीएम भारती सिंह के साथ अन्य आमंत्रित अतिथियों के द्वारा दीप प्रज्वलन वाह माल्यार्पण करके किया गया।
इस अवसर पर विधायक रामबाई गोविंदसिंह ने जय-जय कमलनाथ के उद्घोष के साथ अपने उद्बोधन की शुरुआत की तथा सभी को मेला कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए गड़बड़ी करने वालों को चेतावनी भी दी। मंचीय कार्यक्रमों की शुरुआत में स्कूली बच्चों द्वारा शानदार नृत्य प्रस्तुतियां दी गई। उसके बाद पारंपरिक लोक नृत्यों की शुरुआत हुई और फिर फिल्मी गीतों की धुन पर राई नृत्य की धूम शुरू हो गई।
इस दौरान नृत्यांगना ओं की प्रस्तुति देखने के लिए प्रथम दिन अपेक्षित दर्शकों का अभाव देखा गया इसके बावजूद मंच प्रस्तुति जबरदस्त रही खासकर सपना चौधरी की तर्ज पर सुर ताल के साथ नृत्य संगीत की प्रस्तुति उपस्थित दर्शकों की दिलों की धड़कन बढ़ाने के साथ लोगों को रोमांचित करती रही। इस दौरान स्थानीय जनप्रतिनिधियों और स्थानीय अधिकारियों सहित गणमान्य जनों और ग्रामीण जनों की भी उपस्थिति रही।
दमोह मेला आयोजक ने कलेक्टर के पत्र को नकारा-
दमोह तहसील ग्राउंड पर चल रहे बुंदेलखंड सांस्कृतिक मेला महोत्सव के दौरान महंगी दुकान के आवंटन से विकलांग बेरोजगार परेशान हैं वही एक मामले में कलेक्टर द्वारा की गई सिफारिश के बावजूद विकलांग बेरोजगार से चाय की दुकान संचालन हेतु 10000 रु की मांग की गई जिसके बाद पुनः इसके द्वारा शिकायत की गई है। विकलांग जागेश्वर लोधी ने बताया कि विकलांग पुर्नवास केंद्र के माध्यम से कलेक्टर को दिए गए आवेदन के बाद कलेक्टर महोदय की ओर से अपर कलेक्टर अपर कलेक्टर आनंद कोपरिया द्वारा मेला आयोजक को जाराी पत्र में नियमानुसार कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए थे। जिसके बाद दुकान के लिए दस हजार जमा कराने को कहा गया जबकि उसने दुकान नहीं सिर्फ चाय बनाने की टेबिल लगाने जरा सी जगह की मांग की थी।
विकलांग जागेश्वर लोधी ने बताया कि तहसील ग्राउंड दमोह में आयोजित बुंदेली मेला महोत्सव में चाय पान की दुकान लगाने के उद्देश्य से मैंने अनेक बार मेला समिति से चर्चा की एवं मुझे चाय पान की दुकान लगाने के परपस में 25000 की मांग की गई एवं उसके बाद मैंने उनको बताया कि मैं 80% दिव्याग हू,  बेरोजगार व्यक्ति हूं मैं मेले में पैसा नहीं जमा कर पाऊंगा उसके बाद मैंने माननीय कलेक्टर महोदय को एक आवेदन देकर अपनी स्थिति से अवगत कराया। एवं माननीय जी ने मंगलवार को एक पत्र मुझे दिया जो कि *मेला समिति के नाम से था जिसमें मेले में जगह दिलाने के आदेश दिए गए थे। 
परंतु जब मैंने मेला समिति को आवेदन देकर पुनः अवगत कराया तो मेला समिति ने चाय की दुकान हेतु 10000 की मांग की जोकि बेरोजगारी के चलते मेरी व्यवस्था नहीं हो सकी , बुंदेलखंड में आयोजित बुंदेली महोत्सव मेला में बुंदेलखंड के लोगों को रोजगार की कोई आसा नहीं रही एवं दुकानो के आसमान छूते भाव के चलते मुझे कहीं से कोई सहायता प्राप्त ना हुई एक दिव्यांग को भी मेले में जगह नहीं मिली चुकी मैंने आपने आवेदन में स्पष्ट लिखा था कि मुझे दुकान नहीं चाहिए केवल थोड़ी सी जगह चाहिए है, जोकि मैं रोजगार हेतु अपनी जीविका हेतु रोजगार कर सकूं। परंतु मेला समिति के कठोर नियमों के आगे कलेक्टर द्वारा जारी आवेदन आदेश भी हुआ फेल हो जाने से एक दिव्यांग को निराशा ही हाथ लगी। दमोह बुंदेली मेला में लूट खसोट के हालात की पिक्चर अभी बाकी है..

Post a comment

0 Comments