Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

साथ जीने मरने की कसम खाने वाले प्रेमी युगल के शव.. जंगल में एक ही पेड़ पर फांसी के फंदे से झूलते मिले.. एक ही समाज के युवक युवती के तौर पर हुई दोनों मृतकों की पहचान.. जान दी अथवा किसी ने जान ली ? जांच में जुटी पुलिस..

साथ जीने मरने की कसम खाने वाले प्रेमी युगल के शव.. 
दमोह। साथ जीने मरने की कसम खाने वाले एक प्रेमी जोड़े को जब यह महसूस हुआ कि समाज और परिजन उन्हें साथ जीने का मौका नहीं देंगे तो उन्होंने एक साथ अपनी जान देकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। 
हिंडोरिया थाना क्षेत्र के नोन पानी के जंगल में पेड़ पर लटक रहे युवक-युवती के शव को सोमवार सुबह मौके पर पहुंची पुलिस ने एफएसएल टीम की जांच कार्यवाही के बाद पंचनामा करते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। करीब तीन चार दिन पुराने लग रहे इन शवो के पेड़ पर लटके होने की जानकारी रविवार शाम पुलिस को लगी थी। हिंडोरिया थाना प्रभारी सत्येंद्र सिंह ने बताया कि आज सुबह जांच कार्यवाही के बाद मृतक के पास से मिले मोबाइल के आधार पर उसकी पहचान हिंडोरिया निवासी हीरालाल सेन के तौर पर हुई  थी। वही बाद में मृतका की पहचान हिंडोरिया थाना अंतर्गत 29 दिसंबर को दर्ज गुमशुदा युवती के तौर पर की गई। 
                                      
यह दोनों एक ही जाति के बताए जा रहे हैं। फिर आखिर ऐसे कौन से हालात निर्मित हुए जो इनको खुदकुशी करने के लिए मजबूर होना पड़ा या फिर यह किसी वारदात के शिकार हो गए इसका पता तो पुलिस जांच के बाद ही लगेगा। लेकिन स्थानीय लोगों की माने तो दोनों के बीच प्रेम प्रसंग के चलते पहले युवती के परिजन विवाह को तैयार नहीं थे बाद में दोनों ने भागकर साथ जीने मरने की कसम खा ली तो इसके बाद युवक के परिजन तैयार नहीं हुए माना जा रहा है इसी के बाद इन दोनों ने यह आत्मघाती कदम उठाया होगा। 
फिलहाल एक ही पेड़ पर एक साथ दोनों की लाशें मिलने के बाद दोनों परिवारों में गमगीन माहौल बना हुआ है। परमपिता परमेश्वर इन प्रेमी युगल की अंतर आत्मा को को अपने चरणों में स्थान दे और परिजनों को यह गहन दुख सहने की शक्ति प्रदान करें तथा कोई भी प्रेमी युगल इस तरह अपनी जीवन लीला समाप्त ना करें इन्हीं भावनाओं के साथ ओम शांति शांति शांति.. हिंडोरिया से होशियार चक्रवर्ती की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments