Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

जटाशंकर कालोनी से लापता युवक का शव बेलाताल मैं मिलने से सनसनी.. बेलाताल के घाटों पर कूड़े करकट ने खोली स्वच्छता मिशन की पोल.. केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल की पहल पर लाखों के सौंदर्यीकरण हेतु हो चुका है सर्वे..

 बेलाताल में युवक की लाश मिलने से सनसनी
दमोह। शहर के बेलाताल तालाब के टापू मंदिर के समीप स्थित घाट पर अज्ञात युवक का शव पड़े होने की खबर से सनसनी के हालात निर्मित हो गए। मौके पर स्थानीय लोगों  और राहगीरों की भीड़ लग गई  तथा  पुलिस हंड्रेड डायल को  सूचना दिए जाने पर कुछ ही देर में कोतवाली पुलिस भी मौके पर पहुंच गई।
यहा लोगों की भीड़ लगी देखकर पहुंचे जटाशंकर कॉलोनी निवासी भरत मुड़ा ने मृतक की पहचान अपने छोटे भाई सुरेश मुड़ा के तौर पर करते हुए बताया कि वह 3 दिनों से लापता था। परिजन उसकी तलाश में जुटे हुए थे तथा उसके लापता होने की सूचना देने कल कोतवाली भी गए थे। कोतवाली पुलिस ने पंचनामा कार्रवाई करते हुए शव को पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया है। 
कोतवाली टीआई एचआर पांडे का कहना है कि पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के आने के बाद ही मौत के कारणों का खुलासा हो सकेगा। प्रथम दृष्टया मामला तालाब में डूबने से मौत का नजर रहा है। वहीं मृतक के भाई ने महीने भर पूर्व कुछ लोगों से सुरेश का विवाद होने जानकारी देते हुए उपरोक्त लोगों पर प्रताड़ित करने की आशंका जताई है।
कूड़ा करकट से भरे घाट ने स्वच्छता की पोल खोली-
दमोह के जटाशंकर, कलेक्टर, न्यायाधीशों तथा सांसद और केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल के आवास के नजदीक स्थित बेलाताल मैं लाखों रुपए के सौंदर्यकरण और लाइटिंग के कार्य प्रस्तावित है। इस तालाब में सांसद श्री पटेल अनेक बार अपने समर्थकों और सहयोगियों के साथ उतर कर श्रमदान करते हुए सफाई कर चुके हैं। तथा यहां पर साफ-सफाई और स्वच्छता का ध्यान रखने के नगर पालिका प्रशासन को निर्देश और आम नागरिकों से निवेदन कर चुके हैं। इसके बावजूद यहां के घाटों पर सफाई व्यवस्था का कितना ध्यान रखा जाता है इसका अंदाजा सामने आई तस्वीरों को देखकर लगाया जा सकता है।
उल्लेखनीय है कि इस तालाब के सामने की मेन सड़क की हालत गंभीर होने से पानी गिरते ही कीचड़ और धूप निकलते ही धूल उड़ने के हालात बनते रहते है। वहीं पिछले दिनों केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल की पहल पर मुंबई से आई टीम प्रस्तावित लाइटिंग और सौंदर्यी करण कार्य हेतु विजिट कर चुकी है उसके बावजूद नगर पालिका प्रशासन तालाब के घाटों पर और आसपास साफ-सफाई को लेकर कितना गंभीर है इसका अंदाजा बेलाताल टापू मंदिर के सामने स्थित घाटों पर फैले कूड़ा करकट को देखकर लगाया जा सकता है।
उल्लेखनीय है कि स्वच्छता मिशन के नाम पर शहरी क्षेत्र के विभिन्न वार्डों में करोड़ों रुपए खर्च करके निर्मित कराए गए शौचालयों में सेे आधे से अधिक का अस्तित्व ही खत्म हो चुका है। वही शौचालय निर्माण कराने वाले नेता अधिकारी और तथाकथित पत्रकार नुमा ठेकेदार लाखों डकारने के बाद अभी भी जुगाड़ में जुटे हुए हैं। इधर कमीशन के नाम पर लाखों कबाड़ने वालेे उपयंत्री अपना ट्रांसफर हटा करा चुके हैं। वही सफाई विभाग में होने वाली कमाई को ध्यान में रखकर  इसकी कमान तेंदूखेड़ा नगर पालिका से बुलाये गए सीएमओ के रिश्तेदार को सौंप दी गई है। नगर पालिका केे कचरा वाहनो के मेंटेनेंस और डीजल आयल पर खर्च होने वाली राशि में भी बड़ा हेरफेर होने की जानकारी सामने आ रही है।  नगरपालिका के सफाई विभाग में चल रहे गड़बड़झाला और घोटालोंं मैं  कौन कहां तक लिप्त है, इसकी अपडेट के साथ जल्द मिलते है।

Post a comment

0 Comments