Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

मामा के यहां आए मासूम भाईयों के नदी में नहाते समय डूबने से मौत.. कल से लापता दोनों बच्चों के शव में नदी में मिलने से सनसनी.. जबेरा थाना पुलिस जांच में जुटी.. नरसिंहगढ़ से गए थे नाना के घर..

लापता मासूम भाइयों के शव नदी में मिलने से सनसनी
दमोह। जिला मुख्यालय से 45 किलोमीटर दूर जबेरा थाना अंतर्गत कोरता गांव से निकली नदी मैं डूबने से दो मासूम भाइयों की मौत हो जाने का दुखद घटनाक्रम सामने आया है। बुधवार को दोनों भाइयों की गुमशुदगी की रिपोर्ट जबेरा थाने में दर्ज कराई गई थी वहीं गुरुवार को इनके शव नदी से बरामद हुए।
 प्राप्त जानकारी के अनुसार कोरता निवासी शिव नारायण पटेल के यहां उसकी बेटी के बच्चे गोविंद और गोलू पटेल बिजोरी नरसिंहगढ़ से आए हुए थे। करीब सात आठ वर्ष के यह दोनों भाई कल दोपहर से लापता थे। जिसके बाद इनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट जबेरा थाने में दर्ज कराई गई थी। नरसिंहगढ़ की बिजोरी गांव निवासी अशोक पटेल के दोनों बच्चों की तलाश में ग्रामीण में जहां जुटे हुए थे वही रात के समय इनकी कपड़े गांव घाट के पास मिलने से जय आशंका जताई जा रही थी यही बच्चे नहाते समय नदी में डूब तो नहीं गए हैं लेकिन रात हो जाने की वजह से कुछ पता नहीं लग सका था।
  गुरुवार को दोनों के शव गांव से निकली नदी के घाट पर मिलने से सनसनी की हालात निर्मित हो गए। सुबह नहाने के लिए पहुंचे लोगो को जैसे ही दोनों बच्चों के शव नजर आये तो तत्काल पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर जबेरा थाना से पहुंचे सब इंस्पेक्टर एमके सिंह ने बताया कि बच्चों के कपड़े घाट की बाहर मिलने से संभावना जताई जा रही है कि कल दोपहर नहाते हुए दोनों बच्चे गहराई में जाकर डूब गए होंगे। पंच नामा कार्रवाई करते हुए दोनों बच्चों के शव पोस्ट मार्टम के लिए जबेरा भेज दिए गए है। वहीं अब इस बात की भी जांच की जा रही है बच्चे किन हालात में नदी में डूबे। 
मामा के यहां आए मासूम भाईयों के नदी में नहाते समय डूब जाने से मौत की खबर से पूरे गांव में मात पसरा हुआ है। वहीं परिजनों का भी रो रोकर बुरा हाल बना हुआ है। बताया जा रहा है कि 19 नवम्बर को बच्चों की नानी नरसिंहगढ़ बिजोरी से दोनों भाईयों को अपने साथ मामा संजय पटेल के घर यानि अपने गांव कोरता ले आई थी। उनको क्या पता था कि इस तरह ही दुखद घटना हो जाएगी। जबेरा से मयंक जैन की रिपोर्ट

Post a comment

1 Comments