Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

विधायक रामबाई के रवैए से आहत.. ट्रेजरी ऑफीसर विवेक धारू ने कलेक्टर से शिकायत करके प्राथमिकी दर्ज करने इजाजत मांगी.. रामबाई के रवैये से नाराज विभिन्न अधिकारी कर्मचारियों और संगठनों से जुड़े लोग एकजुट होकर विरोध प्रदर्शन के मूड़ में..

विधायक रामबाई के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने की मांग-
दमोह। विभिन्न कार्यालयो में पहुंचकर रौब झाड़ते हुए फटकार लगाने तथा वीडियो वायरल कराके मीडिया में सुर्खियां बटोरने वाली पथरिया विधायक रामबाई के खिलाफ जिला कोषालय अधिकारी ने मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने अपने साथ हुए अभद्रता पूर्ण व्यवहार की शिकायत कलेक्टर सहित विभाग के उच्च अधिकारियों से करते हुए मामले में नियमानुसार कार्यवाही करने और विधायक रामबाई के ख़िलाफ़ खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने की अनुमति मांगी है।
बुधवार 6 नवंबर को जिला कोषालय अधिकारी  विवेक धारू एवं विभाग के अधिकारी कर्मचारियों के हस्ताक्षरो से युक्त एक शिकायती ज्ञापन कलेक्टर के नाम सौंपा गया है। जिसमें कोषालय अधिकारी श्री धारू ने 4 नवंबर की शाम 5 बजे पथरिया विधायक राम बाई के उनके कार्यालय में पांच अन्य लोगों के साथ पहुंचकर, बिना पूर्व सूचना के चेंबर में आक्रमक तरीके से आकर धमकाते हुए शासकीय कार्य में व्यवधान उत्पन्न करने और वीडियो बनाने, जाति सूचक अभद्रता किए जाने की शिकायत करके कारवाई किए जाने की मांग की है। शिकायत में बताया गया है कि कोषालय जैसे संवेदनशील क्षेत्र में जहां अरबों के स्टांप और मूल्यवान पैकेट संघारित थे वहां पर वीडियो बनाकर और इसे वायरल करके मीडिया में दुष्प्रचार किया गया है। जिससे उनकी प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचने के साथ मानसिक प्रताड़ना जैसे हालात की वजह से वह अपने आप को भय ग्रस्त और आसहज महसूस कर रहे हैं। 
उपरोक्त हालात का बखान करते हुए ट्रेजरी ऑफीसर विवेक धारू ने एसपी से सुरक्षा तथा मामले में प्राथमिकी दर्ज किए जाने की मांग करते हुए स्पष्ट किया है कि यदि उनके साथ कभी भी कोई भी घटना होती है तो उसके लिए पथरिया विधायक श्रीमती रामबाई ही जिम्मेदार होंगी। उनका यह भी कहना है उनके ऊपर जो भी आरोप विधायक रामबाई ने और प्रिंट इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के जरिए लगाए गए हैं उनकी 15 दिन में जांच कराई जाए। यदि आरोप सिद्ध पाए जाते हैं तो सीधी सेवा समाप्ति की कार्रवाई की जाए अन्यथा उन्हें लिखित में जांच रिपोर्ट से अवगत कराया जाए।
उपरोक्त शिकायती ज्ञापन की प्रतियां विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा विभिन्न कर्मचारी संगठनों के पदाधिकारियों को भी प्रेषित की गई हैं। इसमें श्री धारू के अलावा ट्रेजरी विभाग के अन्य अधिकारी कर्मचारियों ने भी हस्ताक्षर करते हुए विधायक रामबाई और उनके सहयोगियों के रवैया के प्रति अपनी नाराजगी आपत्ति दर्ज कराई है। उल्लेखनीय है कि विधायक रामबाई द्वारा ट्रेजरी ऑफीसर के कार्यालय में पहुंचकर उनकी विधायक निधि की राशि किसी सरपंच को जारी नहीं किए जाने के मामले में आपत्ति दर्ज कराते हुए कोषालय अधिकारी को खरी खोटी सुनाने की वीडियो 5 नवंबर को सोशल मीडिया पर वायरल की गई थी। 
जिसके आधार पर इलेक्ट्रॉनिक व प्रिंट मीडिया में विधायक रामबाई की दबंगई की खबरे एक बार फिर सुर्खियों में आ गई थी। वही अब इस मामले में कोषालय अधिकारी द्वारा शिकायती ज्ञापन देकर मोर्चा खोल देने तथा उनको अन्य अधिकारी कर्मचारियों का साथ मिलने  के बाद विधायक रामबाई का बयान सामने नही आया है। आने वाले दिनों में यदि विभिन्न कर्मचारी अधिकारी संगठन मिलकर विधायक रामबाई के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए प्रदर्शन करते नजर आये तो इसमें आश्चर्य की बात नहीं होगीअटल राजेंद्र जैन

Post a comment

0 Comments