Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

हत्या या हादसा.. नरसिंहगढ़ से जुआ खेलने गए बाइक सवार युवक का शव बटियागढ़ बाईपास पर मिला.. परिजनों ने हत्या की आशंका जताई.. डॉक्टरों की पैनल ने किया पोस्टमार्टम.. पुलिस ने चर्चित जुआ फड़ संचालक व जुआरियों की तलाश शुरू की..

 बटियागढ़ बाईपास पर मिला बाइक सवार युवक का शव 
दमोह। पुलिस के अयोध्या मामले को लेकर सुरक्षा व्यवस्था में व्यस्तता के चलते जिले के विभिन्न क्षेत्रों में जुआ के चर्चित फ़ड़ों के जमकर आबाद होने तथा हजारों लाखों के दाव लगने जैसी चर्चाओं के बीच बटियागढ़ के सदाबहार जुआ फड़ पर दूर-दूर से जुआड़ियों के पहुंचने की बात किसी से छिपी नहीं है। वही बीती रात नरसिंहगढ़ से इस जुआ फड़ पर दांव लगाकर मोटी रकम कमा कर लौट रहे युवक का शव बटियागढ़ बाईपास पर मिलने जैसे हालात में परिजनों ने हत्या किये जाने के आरोप लगाते हुए पुलिस कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर दिये हैं।
बटियागढ़ थाना क्षेत्र के बाईपास पर देर रात एक बाइक सवार युवक के रक्तरंजित हालात में पड़े होने की सूचना पर मौके पर पहुंची हंड्रेड डायल पुलिस टीम ने युवक को बटियागढ़ के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया था। जहां जांच के बाद डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया गया था। मंगलवार सुबह मृतक की पहचान नरसिंहगढ़ निवासी सुनील उर्फ सोनू मिश्रा के रूप में होने पर परिजनों को सूचना दी गई। जानकारी लगते ही बटियागढ़ अस्पताल पहुंचे सोनू मिश्रा के परिजनों का रो रो कर बुरा हाल हो चुका था। वही जगह-जगह गहरे घाव तथा चोट खरोच के निशान नजर आने से परिजनों द्वारा  उसकी  हत्या कर दिए जाने की बात कही जा रही थी।  
जबकि मौके पर पहुंची पुलिस प्रथम दृष्टया इसे एक्सीडेंट का मामला मानकर चल रही थी। पूरे घटनाक्रम को लेकर सोनू मिश्रा के भाई मोनू का कहना था कि बीती रात 10 बजे सोनू बाइक से जुआ खेलने के लिए बटियागढ़ के लिए निकला था। वह जुआ खेलने का आदि था तथा अक्सर घर पर जुआ खेलने जाने की बात कहकर बटियागढ़ जाता था। देर रात तक जवाब वापस नहीं लौटा परिजनों के द्वारा अनेक बार उसे मोबाइल लगाया गया लेकिन घंटी जाने के बाद उसका मोबाइल नहीं उठा। इधर सुबह उसकी मौत की खबर उसके मोबाइल से घर पहुंची। सोनू के पास से करीब दो लाख रुपए मिलने की बात भी सामने आ रही है
परिजनों ने आशंका जताई है कि बटियागढ़ के चर्चित जुआ फड़ पर बड़ी रकम जीतकर सोनू की देर रात हत्या कर दी गई। यदि एक्सीडेंट हुआ था तो सोनू के गला कैसे कटा? सीने पर धारदार हथियार से हमला करने जैसे निशान कैसे आये, यह सवाल हर किसी के मन मे उठ रहे है। अपने जबान बेटे की मौत पर सोनू की माँ का बुराहाल था तो वहीं अन्य परिजन भी घटना से पूरी तरह सहमे नजर आए। सोनू के 2 छोटे छोटे बच्चे हैं जो रो रोकर भगवान से अपने पापा को मांग रहे थे, साथ ही सोनू की पत्नी का भी बुरा हाल था। 
मौके पर पहुचीं FSL अधिकारी किरण सिंह ने हादसा या हत्या समेत हर पहलू की बारीकी से जांच की गई है। इधर पुलिस ने परिजनों के आरोपों को ध्यान में रखकर डॉक्टरों की पैनल से पोस्टमार्टम कराकर जांच शुरू कर दी है। देखना होगा जांच के दौरान पुलिस उस चर्चित जुआ फड़ तक पहुंच पाती है अथवा नहीं ? तथा जुआ फड़ संचालक और यहां आने वाले अन्य जुआड़ियों से पूछताछ की जाती है अथवा नहीं ? अटल राजेन्द्र जैन

Post a comment

0 Comments