Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

CRPF मेजर के निधन के शोक में डूबे खडेरी गांव में लोकार्पण समारोह की गूंज.. केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल के कार्यक्रम के बाद.. तिरंगे में लिपटा पहुंचा मेजर गोरेलाल का पार्थिव शरीर.. नेताओं की अनुपस्थिति में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई..

गमगीन माहौल में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई
दमोह। जिले के बटियागढ़ ब्लॉक के खडेरी गांव के निवासी सीआरपीएफ के मेजर गोरेलाल अहिरवार का अंबिकापुर में आकस्मिक निधन हो जाने के बाद पूरा गांव गमगीन माहौल में डूबा हुआ था इधर रविवार को यहां पर केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री प्रहलाद पटेल के आतिथ्य में उनकी सांसद निधि से निर्मित MPLD विद्या भारती के सरस्वती शिशु मंदिर शिवाजी परम का लोकार्पण समारोह था। शनिवार को ही मेजर के निधन की खबर गांव पहुंच जानेेे के बाद शोकाकुल ग्रामीण जन सुबह से ही मेजर के शव का गांव आनेे का इंतजार कर रहे थे। इधर पिछले अनेक दिनों से सांसद निधि से निर्मित स्कूल भवन के लोकार्पण की तैयारी करा चुके आयोजक गण केंद्रीय मंत्री केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल के आगमन का इंतजार कर रहे थे
 निर्धारित समय पर केंद्रीय मंत्री श्री पटेल खडेरी गांव पहुंचे जहां उनका स्वागत अभिनंदन के साथ उन्होंने MPLD भवन का लोकार्पण किया। उनके संबोधन के दौरान देर तक तालियां बजती रहें। लोकार्पण समारोह में केंद्रीय मंत्री श्री पटेल के अलावा हटा विधायक पीएम तंतुवाय, पथरिया के पूर्व विधायक लखन पटेल, जिला पंचायत के अध्यक्ष शिवचरण पटेल,  भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष नरेंद्र व्यास सहित बड़ी संख्या में भाजपा के स्थानीय नेताओं की मौजूदगी रही। परंतु किसी ने भी मंत्री श्री पटेल को मेजर के निधन के बारे में तथा कुछ घंटे बाद उनका शव आने के बारे में जानकारी क्यों नहीं दी यह आश्चर्य का विषय है। बाद में श्री पटेल वापिस बटियागढ़ पहुंचे जहां वृक्षारोपण कार्यक्रम में हिस्सा लिया तथा यहां से बड़ा मलहरा रवाना हो गए।
 इसी दौरान सीआरपीएफ के विशेष वाहन से मेजर गोरेलाल का शव बटियागढ़ पहुंच गया था। जहां पुलिस थाने में आवश्यक कार्यवाही के बाद सीआरपीएफ का वाहन सब लेकर खडेरी गांव पहुंचा। जहां सैकड़ों लोगों ने अपने लाडले मेजर की अंतिम अगवानी की। बाद में पूरे राजकीय सम्मान और गार्ड आफ आनर के साथ मेजर गोरेलाल को अंतिम विदाई दी गई। इस दौरान सैकड़ों की संख्या में आसपास के ग्रामीण जनों की मौजूदगी तो रही लेकिन कुछ घंटे पहले मंत्री श्री पटेल के कार्यक्रम में तालियां बजाकर सक्रियता दर्ज कराने वाले नेताओं की कमी अखरने वाली रही। बाद में जब इस संदर्भ में कार्यक्रम के आयोजक और भाजपा नेता किशोरीलाल पटेल से जानकारी चाही गई तो उनका कहना था की मेजर के निधन की खबर लगने पर मंत्री जी की अगवानी में बाजे बजा कर स्वागत नही किया गया। जबकि मंत्री जी को मेजर की मौत के बारे में खबर देने के मामले में आयोजक चुप्पी साधे रहे।  जिससे मंत्री जी पूरे मामले से अनजान बने रहे और खडेरी गांव में 1 घंटे के अंतराल से खुशी और गम दोनों माहौल बनते चर्चा का विषय बने रहे।

उल्लेंखनीय है कि विद्या भारती सरस्वती शिशु मंदिर के MPLD भवन निर्माण के लिए पूर्व  कार्यकाल मे श्री प्रहलाद पटेल ने 10 लाख रूपए की राशि सांसद निधि से दी थी। वहीं तत्कालीन विधायक लखन पटेल ने विधायक निधि से पांच लाख की राशि दी थी। सांसद विधायक की मौजूदगी में पूर्व के वर्षो में भूमिपूजन के बाद आज लोकार्पण समारोह निर्धारित किया गया था। इस बीच गांव के जवान मेजर गोरेलाल अहिरवार के आकस्मिक निधन की खबर आ जाने के बाद भी आयोजकों ने कार्यक्रम को स्थगित करने या मंत्री श्री पटेल को इस बारे में अवगत कराना क्यों आवश्यक नही समझा यह बात समझ से परे तथा ग्रामीणजनों के दोहरे दुख देती नजर आ रही है।  मेजर गोरेलाल अहिरवार की आत्मा को परमपिता परमेश्वर अपने चरणों में स्थान दें और परिजनों को इस गहन दुख सहने की शक्ति प्रदान करें ओम शांति... अटल राजेंद्र जैन  

Post a comment

0 Comments