Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

अवैध हथियार तथा गांजे की खरीद फरोख्त की मंडी बना दमोह.. 6 माउजर, 20 जिंदा कारतूस, 6 बटनदार चाकू, 80 हजार के गांजे के तीन मामलो का खुलासा.. आठ बदमाशो पर कसा पुलिस ने शिकंजा..

तीन मामलों में पुलिस ने आठ बदमाशों को पकड़ा
दमोह। अवैध हथियार तथा गांजे की खरीद-फरोख्त की मंडी बन चुके दमोह जिले में पुलिस की लगातार कार्य वाही के बाद भी बाहरी तत्व आपराधिक गतिविधियों को बढ़ावा देकर स्थानीय युवाओं को अपराध की राह पर धकलने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे है। ताजा मामला 6 माउजर, कारतूस, 6 चाकू और 80 हजार के गांजे की तस्करी के तीन अपराधों का सामने आया है। जिसमें आठ आरोपियों को दबोचने में पुलिस ने सफलता प्राप्त की है। एसपी विवेक सिंह ने पत्रकार वार्ता में तीनों मामलों का खुलासा करते हुए मीडिया को जानकारी दी। इस दौरान सीएसपी मुकेश अविद्रा,  कोतवाली टीआई रवींद्र गौतम, हिंडोरिया थाना टीआई  विजय मिश्रा सहित आरोपियों की गिरफ्तारी में अहम भूमिका निभाने वाले पुलिस कर्मचारियों की भी उपस्थिति रही।
पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित हुई प्रेस वार्ता में एसपी विवेक सिंह ने बताया कि जिले में अवैध हथियारों का विक्रय करने वाले आरोपी नाजिम नजर से दो देशी पिस्टल व 12 जिंदा कारतूस, सलमान खान से एक पिस्टल व दो जिंदा कारतूस जब्त किये इन आरोपियों से जब पुलिस ने पूछताछ की तो अन्य आरोपियों जिनमें अरविंद प्रजापति, मयंक ठाकुर के पास तीन देशी पिस्टल एवं छह जिंदा कारतूस जब्त करने में सफलता प्राप्त की। सभी आरोपियों के खिलाफ 25/27 आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया। वहीं इस मामले का मुख्य आरोपी अरविंद पांडे अभी भी पुलिस पकड से दूर है।
एसपी विवेक सिंह में दूसरे मामले में  जानकारी देते हुए  बताया कि दमोह निवासी शहजान कुरैशी को बटनदार चाकू के साथ गिरफ्तार किया गया है इस आरोपी के पास से पुलिस ने 4 बडे व 2 छोटे चाकू बरामद किये है जो नक्काशीदार है। इस आरोपी ने ये चाकू कसाई मंडी निवासी सद्दाम कुरैशी से खरीदे थे। घटना की जानकारी लगने पर मुख्य आरोपी सद्दाम फरार हो गया। 
तीसरे मामले में आपरेशन प्रहार के तहत जब पुलिस कार्यवाही कर रही थी तब बांदकपुर रेल्वे स्टेशन से बाईक पर जा रहे पिंटू साहू, अरविंद हरिपाल निवासी उडीसा एवं बांदकपुर निवासी राहुल दुबे को पकडा गया इन आरापियों से पुलिस ने दस किलो गांजा जब्त किया जिसकी कीमत 80 हजार रूपये आंकी गयी। आरोपियों को पकड़ने वाली पुलिस टीम को पुरूष्कृत करने की घोषणा की गई है।

Post a comment

0 Comments