Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

केंद्रीय मंत्री रहे अरूण जेटली को श्रद्धांजलि से शुरू हुए नृत्य संगीत समारोह में राई नृत्य की धूम.. बांदकपुर में चल रहे बरखा बहार महोत्सव में.. गम के पलों में भाजपा नेताओं की फेसबुक लाईव मस्ती बायरल..

लोकनृत्य, ढिमरयाई, बरेदी नृत्य और राई की रही धूम 
दमोह। केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल के प्रयासों से बांदकपुर में शुरू हुए तीन दिवसीय बरखा बहार महोत्सव के दूसरे दिन भी रंगारंग कार्यक्रमों की धूम देखने को मिली। जबकि उम्मीद की जा रही थी केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय के सहयोग से आयोजित इस कार्यक्रम को पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली के निधन के की बजह से आज स्थगित कर दिया जाएगा। लेकिन स्वर्गीय जेटली को श्रद्धांजलि देने के साथ दूसरे दिन के कार्यक्रम का आगाज हो गया। जो देर रात तक चलता रहा। इस दौरान भाजपा विधायकों के अलावा भाजपा के अनेक नेताओं की मौजूदगी के चलते यह समझ में नहीं आया कि भाजपा को अपने पसीने से सींचने वाले अरूण जेटली के निधन का क्या इन नेताओं को जरा भी दुख नहीं था जो यह आज के नाच गाने का त्याग नहीं कर सके।
दमोह। उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र प्रयागराज (संस्कृति मंत्रालय भारत) द्वारा दमोह जिले के प्रसिद्ध तीर्थ क्षेत्र बाॅदकपुर मे बाॅदकपुर महोत्सव बुन्देली बरखा बहार का शुभारम्भ के पहले भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व वित्त,रक्षा मंत्री अरूण जेटली के निधन होने पर कार्यक्रम के पहले उन्हें  श्रद्धांजलि अर्पित कर द्वितीय दिवस का शुभारम्भ किया गया। द्वितीय दिवस की प्रथम प्रस्तुति दमोह के नन्हें कलाकार सचिन/संध्या राठौर बुन्देली गीत की शानदार प्रस्तुति दी जिस पर तालियों की बजती रही। 
सागर से अरविंद यादव के समूह ने बुंदेली महोत्सव मे बधाई नृत्य की शानदार मनमोहक प्रस्तुति जो पीपल का पत्ता हिलत नईया पर लोग झूमने नाचने लगे।प्रहलाद कुर्मी के द्वारा समूहिक रूप बुदेलखंड के मशहूर राई नृत्य ये गौरा डार आई ये री शंकर जी पर माला की प्रस्तुति से समूचे परिसर मे धार्मिक माहौल उत्पन्न हुआ तो वही सागर के दल का नेतृत्व कर रहे प्रदीप कुर्मी ने बुंदेलखंड के मशहूर बरेदी नृत्य ने शमा बांधा इस दौरान सागर से अये कलाकारों के दल की बुंदेली राई जहाँ आकर्षण का केन्द्र रही तो प्रिंस यादव के बुंदेली गीत जा बुंदेली माटी महान,कहा लो ईको गान करे की प्रस्तुति पर गायक प्रिंस यादव ने जमकर तालियाँ बटोरी तो कटनी से आये विजय नायडू ढिमरयाई नृत्य की प्रस्तुति देकर ढिमरयाई नृत्य को बुदेलखंड मे जीवंत रखने का बुन्देली कलाकारों से आव्हान किया है।
 बाॅदकपुर महोत्सव के द्वितीय दिवस मालवा के लोकनृत्य स्वाती उकले की शानदार प्रस्तुति रही तो जबलपुर के मनीष अग्रवाल के तम्बूरा भजन ने रुद्र मैदान पर धार्मिक माहौल बना रहा। संचालन रंगकर्मी राजीब अयाची के द्वारा किया गया आभार सांसद प्रतिनिधि आलोक गोस्वामी के द्वारा व्यक्त किया गया। 
 इस दौरान प्रमुख रूप से जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटेल, जबेरा विधायक धर्मेन्द्र सिंह लोधी, सांसद प्रतिनिधि आलोक गोस्वामी, निज सचिव रमेश पटले, रामकृपाल पाठक, दमोह नपा अध्यक्ष मालती असाटी, कविता राय, प्रतिभा तिवारी, वर्षा रैकवार, रूपेश सेन, मनीष सोनी, अनुपम सोनी, प्रशांत जड़िया, मोन्टी रैकवार, आदित्य परमार, वीरू नेमा, श्रीकांत गुप्ता, सिक्कू गुप्ता, केदारनाथ दुबे, राम प्रताप दुबे, भूपेन्द्र जैन, रामू जड़िया सहित बड़ी संख्या में समिति के सदस्य मौजूद रहे। 
गम के पलों में भाजपा नेताओं की फेसबुक पर लाईव  
एक तरफ वरिष्ठ भाजपा नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री अरूण जेटली के निधन से देश भर में लोग गमजदा बने हुए थे वहीं दूसरी ओर दमोह जिले के बांदकपुर में चल रहे बरखा बहार महोत्सव की शुरूआत स्वर्गीय जेटली को श्रद्धांजलि देकर किए जाने के बाद किस तरह से नृत्य संगीत की धमाल मची वह पहले ही आपकों दिखा चुके है। लेकिन शाम ढलने के बाद मौसम की फिजा के अनुरूप मंच पर चल रही प्रस्तुतियों के दौरान भाजपा के कुछ नेता खुद को नाचने से नहीं रोक पाए। मंच के ठीक सामने चल रहे नेताओं के इस धमाल में महिला नेत्रियां भी पीछे नहीं रही। हालांकि कुछ नेताओं ने कैमरे का लिहाज करके इस धमाल में शामिल होने से हाथ पीछे खींच लिए। परंतु एक उत्साही नेता फेसबुक लाइव के जरिए गम के क्षणों में मस्ती के इस धमाल को पूरी दुनिया में दिखाने की चूक भी कर गए। देखना होगा इस तरह की लाइव मस्ती के बाद इस कार्यक्रम के सूत्रधार रहे केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल के समक्ष यह नेता गण क्या सफाई देते है। अटलराजेंद्र जैन 

Post a comment

0 Comments