Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

दिल्ली की घटना से व्यथित हिन्दू समाज एवं सन्त जनों ने चेतावनी भरे लहजे में पैदल मार्च निकाला.. हाथों में काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन में शामिल हुए सैकड़ों युवा.. राष्ट्रपति महोदय के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा

हाथों में काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन में शामिल हुए लोग -
दमोह। देश की राजधानी दिल्ली में संसद भवन एवं सुप्रीम कोर्ट से मात्र छह किलोमीटर की दूरी पर स्थित चावड़ी बाजार स्थित माँ दुर्गा देवालय को तोड़कर हिन्दू समाज की आस्था के प्रतीक मन्दिर की प्रतिमाओं को तोड़ने से सकल हिन्दू समाज मे आक्रोश व्याप्त है। उग्रवादियों एवं साम्प्रदायिक विप्लवकारी तत्वों के द्वारा जगह जगह हिंदुओं को निशाना बनाकर सामूहिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। परिणामस्वरूप कैराना एवं मेरठ सहित अन्य मुश्लिम बाहुल्य क्षेत्रों से हिंदुओं को पलायन करने पर विवश किया जा रहा है। 
निरन्तर विकृत मानसिकता के इश्लामिक उग्रवादियों द्वारा हिन्दू बेटियों के साथ बलात्कार करते हुए भीभत्स हत्याएँ की जा रहीं हैं जिससे एक वर्ग विशेष के प्रति हिन्दू परिवारों में भय व्याप्त है। लव जिहाद के नाम पर देश भर में हिन्दू बेटियों के साथ धोखाधड़ी करते हुए निरन्तर शोषण किया जा रहा है।  जिनके विरुद्ध प्रसाशनिक रूप से कोई ठोस निर्णय नहीं लिए जा रहे हैं। प्रशासनिक स्तर पर इस विषयक दोषियों के विरुद्ध ठोस कार्यवाही की मांग को लेकर व्यथित हिन्दू समाज एवं सन्त जनों ने चेतावनी भरे लहजे में पैदल मार्च निकाला तथा राष्ट्रपति महोदय के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा।  
मंगलवार को नगर के गौरीशंकर मन्दिर तिराहा पर विशाल एकत्रीकरण हनुमान चालीसा पाठ के उपरांत मौन जुलूस के रूप में विरोध प्रदर्शन मार्च महाकाली चौराहा, बड़ा पुल, धगट चौराहा, विंदन तिराहा, घण्टाघर से होते हुए अम्बेडकर चौक पहुँचा। जहां पुनः सामूहिक रूप से हनुमान चालीसा पाठ करने के उपरांत जमकर विरोध दर्ज कराया। समाज के बरिष्ठ जनों एवं सन्त समाज की उपस्थिति में ज्ञापन में उल्लिखित विभिन्न बिंदुओं का वाचन वेदांताचार्य श्री श्री भगवान ने किया। 
ज्ञापन में मुख्य रूप से मांग की गईं कि सर्वविदित है कि निरन्तर समुदाय विशेष के कुछ विकृत मानसिकता के लोगों द्वारा देशभर में माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया जा रहा है। जिस कारण सम्पूर्ण भारत में साम्प्रदायिक सौहार्द की गरिमा भंग हो रही है। मुख्यतः उक्त घटनाएं साम्प्रदायिक संतुलन को बिगाड़ने हेतु नित प्रतिदिन कारित की जा रहीं हैं। इसके अलावा गौहत्याएं एवं गौ तश्करी के विरुद्ध दोषियों पर कठोर दंडात्मक कार्यवाही हेतु प्रशासन को निर्देशित करने नगर में विकास के नाम पर तोड़े गए मंदिरों की देव प्रतिमाएं को पुनः स्थापित कराए जाने की मांग प्रमुख रूप से की गई । 

 इस अवसर पर सकल हिन्दू समाज सहित विश्व हिंदू परिषद, श्रीराम परिषद, बजरंग दल, हिन्दू युवा वाहिनी, बजरंग सेना, शिवसेना, सहित विभिन्न हिन्दू संघठनों की उपस्थिति रही। ज्ञापन सौंपे वालों में श्री श्री भगवान वेदांता जी महाराज सवा लाख मानस पाठ, चंद्रगोपाल पौराणिक, रमाशंकर ताम्रकार, हिंदू युवा बाहिनी के जिलाध्यक्ष बिक्रांत गुप्ता, विहिप जिला मंत्री नरेंद्र जैन, जिला संयोजक पवन रजक, श्री राम पटेल, रजित जैन, शशिकांत जी, अभिषेक सोनी, अमित राय, मनीष तिवारी, रितेश सोनी, विशाल शिवहरे, कल्लू ठाकुर, शंभू विश्वकर्मा, कन्हैया पटेल, अभय रजक, जगत यादव, राहुल चौबे, सोम्य सोनी, जलज असाटी,  छोटू प्यासी, राम गुप्ता, सुनील ठाकुर, अम्बर मिश्रा, राम मिश्रा, शंकर गौतम सहित सैकड़ों युवाओं की मौजूदगी रही। 

हिंदू समाज के पैदल मार्च को ध्यान में रखकर पुलिस प्रशासन द्वारा व्यापक इंतजाम किए गए थे। सीएसपी मुकेश अविद्रा, टीआई आरके गौतम एवं एचआर पांडे पुलिस बल के साथ पूरे जुलूस में हालात पर नजर रखे हुए थे। वहीं अंबेडकर चौक पर एसडीएम रविंद्र चौकसे एवं तहसीलदार बबीता राठौर ज्ञापन लेने मौजूद रही। उक्त ज्ञापन प्रतिलिपियों के माध्यम से नरेंद्र दामोदरदास मोदी प्रधानमंत्री कार्यालय, अमित शाह गृहमंत्री भारत सरकार गृह मंत्रालय, महामहिम आनंदी बेन पटेल राज्यपाल मध्यप्रदेश शासन राजभवन भोपाल की ओर प्रेषित करते हुए शीघ्र ही संज्ञान लेने का आग्रह किया गया है।

Post a comment

0 Comments