Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सागर से शादी से वपिस लौट रहे सिपाही की कार जेसीबी से टकराई.. तीन बेटियों सहित आरक्षक दंपत्ति की मौत.. दमोह रोड पर सड़क हादसे में 3 घायलों को अस्पताल पहुचाकर दीपू भार्गव ने जान बचाई..

 दर्दनाक हादसे में सिपाही के पूरे परिवार की मौत-
सागर। सागर बीना मार्ग पर खुरई थानांतर्गत एक दर्दनाक सड़क हादसे में तेज रफ्तार कार सड़क किनारे खड़ी जेसीबी से टकराकर बुरी तरह से दुर्घटनाग्रस्त हो गई। हादसा इतना जबरजस्त था पांच लोगों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। पति पत्नी और 3 बच्चे शामिल हैं मृतकों की पहचान चाचौड़ा के एसडीओपी कार्यालय में पदस्थ आरक्षक सुभाष सप्रे उसकी पत्नी गुड्डी और 3 बेटी निशा, बेबी, मुनमुन के तौर पर हुई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार गुना जिले की आरोन में निवासरत  तथा चाचौड़ा एसडीओपी कार्यालय में पदस्थ आरक्षक सुभाष सप्रे अपनी पत्नी और 3 बेटियों के साथ सागर में एक शादी समारोह में सम्मिलित होने के लिए आए थे देर रात विवाह से फ्री होने के बाद परिवार के सभी लोग वापस आरोन लौट रहे थे। तभी रात्रि एक बजे के लगभग खुरई बाईपास पर इनकी स्विफ्ट डिजायर कार MP-08/CA /8466 सड़क पर खड़ी जेसीबी  MP-15/DA /0326 से टकरा गई। जिससे कि घटनास्थल पर ही आरक्षक सहित परिवार के सभी पांच सदस्यों की दर्दनाक मौत हो गई। हादसे में कार चालक गंभीर बताया गया है। घटना में कार भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गयी है। शवों का खुरई मैं पोस्टमार्टम कराकर रिश्तेदारों को सौंप दिया गया है। वही खुरई थाने में अप. क्र. 235/19 धारा 304 (A) 279 337 IPC कायम करके पुलिस ने जांच शुरू कर दी है दर्दनाक हादसे की खबर पूरे इलाके में गमगीन माहौल बना हुआ है। खुरई से मनोज बाधवानी की रिपोर्ट
सागर दमोह रोड पर पर पड़े घायलों की जान बचाई-
सागर दमोह मार्ग पर सड़क हादसे के बाद गंभीर तौर पर घायल पड़े लोगों को समय रहते अस्पताल पहुंचा दिए जाने तथा उनको इलाज मिल जाने से जान बच जाने का घटनाक्रम भी सामने आया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ओजस्विनी कॉलेज टोल नाके के समीप सड़क पर घायल पड़े तीन युवक देर रात तक तड़प रहे थे। इसी दौरान गढ़ाकोटा से दमोह आ रहे युवा समाजसेवी अभिषेेेेक दीपू भार्गव की नजर इन पर पड़ी। तत्काल अपने साथियों की मदद से घायलों को अपनी गाड़ी में रखकर दमोह जिला अस्पताल लेकर पहुचे।
 जहां समय पर उपचार मिल जाने से घायल राधे पटेल एवं श्याम पटेल निवासी भौरांंसा तथा एक अन्य व्यक्ति की जान बच गई। बताया गया है कि नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के बेटे दीपू अपने मित्र वीरू दुुुबे, अभिषेक सोनी आदि के साथ दमोह जिला अस्पताल में भर्ती कुछ अन्य घायलों को देखने आ रहे थे। तभी उनको रास्ते मे घायल पड़े बाइक सवार भोरासा निवासी दो युवक तथा एक अन्य व्यक्ति नजर आ गया। जिनको उन्होंने दमोह जिला अस्पताल तक पहुंचाकर और समय पर इलाज उपलब्ध कराकर मानवता का परिचय दिया जिसके लिए वह तथा उनकी टीम साधुवाद की पात्र हैं। अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments