Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

इंदौर से 3 साल पहले चोरी टाटा इंडिगो कार.. गढ़ाकोटा के पास कथावाचक के घर के बाहर मिली.. चोरी की कार कथा वाचक को बेचकर चूना लगाने वाले का नहीं लगा सुराग..

इंदौर से चोरी कार गढाकोटा के कदला ग्राम से बरामद
इंदौर से 3 साल पहले चोरी की गई एक टाटा इंडिगो कार   गढ़ाकोटा क्षेत्र के एक कथा वाचक उपयोग कर रहे थे।  शायद उनको इस बात का आभास भी नहीं था कि वह चोरी की कार है। आज गढ़ाकोटा पहुंची इंदौर पुलिस ने  चोरी की कार को लावारिस हालत में कथावाचक के घर के बाहर से जब्त करके जांच शुरू कर दी है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार इन्दोर के मडाल गंज निवासी सुधीर कासलीवाल की तीन साल पहले अप्रैल 2016 में उनकी दुकान के बाहर से चोरी हो गई थी। जिसकी रिपोर्ट इन्दोर के संयोगिता गंज थाने में दर्ज कराई गई थी। 2 दिन पहले श्री कासलीवाल के पास किसी का फोन पहुंचा कि 3 वर्ष पूर्व चोरी हुई उनकी कार गढ़ाकोटा थाने के कदला गांव में एक कथा वाचक के घर के बाहर खड़ी है। जिस पर उन्होंने इंदौर पुलिस को सूचना दी तथा आज इंदौर पुलिस के एएसआई कुंअर सिंह खरते एवं आरक्षक जितेंद्र यादव गढ़ाकोटा थाना पुलिस के साथ कदला ग्राम पहुंचे। जहा से कार को लावारिस हालत में कब्जे में लेकर गढाकोटा थाना ले आये। 
गढाकोटा के थाना प्रभारी अखलेश मिश्रा ने बताया कि यह कार कदला ग्राम से लावारिश रूप में बरामद की गई है। इन्दोर से पुलिस टीम गढाकोटा आई थी प्रकरण जांच में लिया गया है। इधर इंदौर से आए कार मालिक का कहना था कि चोरी करने वालो के बीच मे संभवतः अनबन हो जाने से इनमें से किसी व्यक्ति ने ही उनको कार के गढ़ाकोटा मे होने की सूचना दी थी। इधर जिस कथावाचक के घर के बाहर कार मिली है उससे जब फोन पर संपर्क किया गया तो उसका कहना था की उनके किसी चेले ने यह कार खरीदबाई थी। उन्हें नहीं पता या चोरी की है या साहूकारी की। अभी वह बाहर हैं गांव आने के बाद ही इस बारे में कुछ चर्चा कर पाएंगे।
कुल मिलाकर कार मालिक ज्यादा विवाद में पड़े बिना अपनी कार को सुपुर्दगी में लेकर चलता बना है। अब गढ़ाकोटा पुलिस के ऊपर निर्भर है कि वह चोरी की कार बेचने वालों तक पहुंचने का प्रयास करती है अथवा नहीं। गढ़ाकोटा से रवि सोनी की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments