Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

9 साल की नाबालिग से पड़ोसी ने की ज्यादती.. पुलिस ने 10 घंटे बाद बलात्कारी को पकड़ा.. पीड़िता हटा अस्पताल में भर्ती, भीड़ ने थाने के सामने प्रदर्शन करके आरोपी को फांसी दिए जाने की मांग की..

थाने के सामने आरोपी को फांसी देने की मांग के नारे-
दमोह। जिला मुख्यालय से करीब 50 किमी दूर हटा अनुविभाग के रनेह थाना अंतर्गत एक 9 साल की मासूम के साथ पड़ोसी रिश्तेदार युवक द्वारा देर रात ज्यादती किये जाने का घटनाक्रम सामने आया है। थाना प्रभारी ने रात में रिपोर्ट दर्ज करने से लेकर वरिष्ट अधिकारियों को भी अवगत कराना जरूरी नही समझा। बाद में सुबह  दमोह से एडिशनल एसपी और हटा से एसडीओपी मौके पर पहुंचे। उनके निर्देश पर हटा थाना प्रभारी को रिपोर्ट दर्ज करने से लेकर आरोपी को गिरफ्तार करना पड़ा । उसके बाद भी ग्रामीणों को गुस्सा शांत होने का नाम नहीं ले रहा। दोपहर में ग्रामीणों की भीड़ में पुलिस थाने के सामने नारेबाजी के साथ प्रदर्शन करते हुए आरोपी को फांसी दिए जाने की मांग की है। बुधवार रात पीड़िता को हटा से जिला अस्पताल रेफर किए जाने पर जिला अस्पताल में उसे भर्ती किए जाने के मामले में हीला हवाली होती रही।

रनेह थाना अंतर्गत तीसरी कक्षा की मासूम छात्रा को रात 10 बजे घर से अगवा करके पड़ोस में रहने वाले रिश्तेदार युवक राहुल अहिरवार द्वारा बलात्कार किये जाने का घटनाक्रम सामने आया है। बाद में आरोपी के चुंगल से छूटकर घर पहुंची 9 साल की पीड़िता द्वारा घटना की जानकारी परिजनों को दी गई।  तत्काल पुलिस को सूचना देने के बाद भी पुलिस ने आपसी रिश्तेदारी का मामला बताकर रिपोर्ट दर्ज नही की। बाद में पीड़ित को उपचार हेतु जिला अस्पताल भेजा गया। जहा औपचारिक इलाज के बाद छुटी दे दी गई। इधर पीड़िता की हालत गंभीर होने पर बुधवार को  वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर 108 की मदद से पुनः हटा के सिविल अस्पताल ले जाया गया। जहा हालत में सुधार नही होने पे शाम को पुनः दमोह रैफर कर दिया गया।
 इधर घटना को गंभीरता से लेते बुधवार को एएसपी  विवेक लाल एवं एसडीओपी कमल जैन मोके पर पहुचे। मामले की जांच करके थाना प्रभारी सुनील मेहर को अपराध दर्ज कर आरोपी गिल्ली उर्फ राहुल अहिरवार को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए गए। इसके बाद ही आरोपी को पकड़ा जा सका। आरोपी की गिरफ्तारी के बाद भी ग्रामीणों का गुस्सा कम होने का नाम नहीं ले रहा है। दर असल आरोपी द्वारा मासूम के साथ की गई ज्यादती के दौरान प्रतिरोध करते हुए पीड़िता ने आरोपी के सिर के बाल तक नोच डाले थे। इसके बाद भी आरोपी रिश्तेदार को उस पर दया नहीं आई। यही बजह है कि आरोपी की समाज के लोगों के साथ ही ग्रामीणों ने पुलिस थाने के बाहर नारेबाजी के साथ प्रदर्शन करते हुए उसे फासी की सजा की मांग की है। 
आरोपी के परिजनों को भी गांव से बाहर किए जाने की मांग करते अनेक लोग नजर आए। हालांकि पुलिस अधिकारियों की समझाएं थोड़ा और शासन के बाद फिलहाल मामला शांत हो गया है लेकिन उपरोक्त घटनाक्रम से लोगों में नाराजगी बरकरार है। इधर बुधवार रात जिला अस्पताल में पीड़िता को भारती किए जाने के मामले में हीला हवाली का दौर चलता रहा। रनेह से सुनील तिवारी की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments