Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सांसद प्रहलाद पटेल ने हटा में किया केंद्रीय विद्यालय भवन का भूमिपूजन.. कार्यक्रम में उपेक्षा से दुखी पूर्व विधायक उमादेवी खटीक नही गई मंच पर.. पार्टी के बड़े नेताओं से की शिकायत..

हटा में केंद्रीय विद्यालय भवन का भूमिपूजन संपन्न-
दमोह। जिले का दूसरे सेंट्रल स्कूल हटा में खोले जाने की स्वीकृति के बाद लोकसभा चुनाव की घोषणा के ठीक पहले सांसद प्रहलाद पटेल के आतिथ्य में हटा में केंद्रीय विद्यालय भवन हेतु भूमि पूजन किया गया। इस दौरान मंच से दूरी बनाए रखने वाली पूर्व विधायिका श्रीमती उमा देवी खटीक अपनी उपेक्षा से काफी दुखी तथा एवं आरोप लगाती नजर आई। 
हटा के लाल टेक एरिया में केंद्रीय विद्यालय भवन के निर्माण हेतु मंगलवार को भूमिपूजन कार्यक्रम किया गया। जिसमें बतौर मुख्य अतिथि दमोह सांसद प्रह्लाद पटेल मौजूद रहे। हटा विधायक पी एल तन्त्वाय व कई भाजपा नेताओं और सम्बंधित विभाग के अधिकारियों की उपस्थिति में आयोजित समारोह मैं बड़ी संख्या में गणमान्य जन मौजूद रहे।
सेंट्रल स्कूल के भूमि पूजन समारोह में पहुंची हटा की पूर्व विधायक उमादेवी खटीक का आमंत्रण कार्ड में नाम नही होने और कार्यक्रम मंच पर जगह न मिलने के बाद दर्द छलक उठा। इसके बाद भी वह मंच के सामने दर्शक दीर्घा में बैठी रही। बाद में जब आयोजकों को इसका एहसास हुआ तो उन्होने पूर्व विधायक को मंच पर आमंत्रित किया लेकिन वह नहीं गई बाद में पूर्व विधायक विजय सिंह राजपूत भी उन्हें मनाने पहुंचे। लेकिन उमा देवी ने उनके पैर पढ़ कर उन्हें वापस लौटा दिया।
 शिवराज सरकार में लगातार 10 साल तक हटा से भाजपा की विधायक रही उमा देवी खटीक 2010 से हटा में केंद्रीय विद्यालय लाने के लिए प्रयासरत थी। इसके लिए वह लगातार भोपाल दिल्ली एक करती रही। पिछले वर्ष आखिरकार हटा को सेंट्रल स्कूल की मंजूरी मिली तो 2018 में विधानसभा चुनाव में भाजपा ने उमा देवी की टिकट काट दी। और आज जब सांसद प्रहलाद पटेल केंद्रीय विद्यालय भवन का भूमि पूजन करने को पहुंचे तो इस विद्यालय के लिए संघर्ष करने वाली तत्कालीन विधायिका के संघर्ष को नजर अंदाज करने की कोशिश की गई। जिसके चलते वह कार्यक्रम मंच पर नहीं पहुंची।
 वहीं कार्यक्रम के बाद मीडिया के समक्ष खुलकर अपना दुख बयान करती उपेक्षा के आरोप लगाती दिखी। इस पूरे घटनाक्रम के लिये पूर्व विधायक ने शीर्ष  नेताओं को जिम्मेदार ठहराया है। आमंत्रण कार्ड में नाम न होने की जानकारी मुख्य अतिथि सांसद प्रह्लाद पटेल को दिए जाने पर उनकी और से भी दो टूक जवाब दे दिया गया जिससे श्रीमती खटीक और भी अध्यक्ष दुखी नजर आई
हालांकि सांसद प्रह्लाद पटेल ने अपने उद्बोधन में हटा में इस उपलब्धि के लिये पूर्व विधयक उमादेवी खटीक को साधुबाद दिया गया। इसके बावजूद हटा की पूर्व विधायिका के लिए उपेक्षा का दंश इतना गहरा था कि वह कार्यक्रम के बाद मीडिया के कैमरे के सामने अपने आंसुओं को छुपाने की कोशिश करती रही। जबकि उनकी टिकट कटवाने से लेकर भाजपा में उनको अलग-थलग करने वाले कुछ नेता सांसद के खास बनने के दंभ में फुले नही समा रहे थे। हटा कार्यक्रम के बाद सांसद प्रहलाद पटेल उप तहसील कार्यालय भवन के भूमिपूजन के लिये मड़ियादो पहुचे। यहां भी बदइंतजामी भले हालात सामने आए। हटा से अनिल शर्मा की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments