Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

अपहरण या इश्कबाजी..! नाटकीय ढंग से लापता कथित ठेकेदार युवक जबलपुर में मिला.. बयानों में भी झलक रही नाटकीयता, नोह्टा पुलिस जांच में जुटी..

नोहटा का लापता युवक गड़ा जबलपुर में मिला-
दमोह। नोहटा थाना क्षेत्र से नाटकीय ढंग से लापता कथित ठेकेदार युवक को पुलिस ने साइबर सेल की मदद से जबलपुर गढ़ा इलाके में लोकेशन के आधार पर बरामद कर लिया है। पुलिस पूछताछ में युवक के बयान नाटकीय प्रतीत हो रहे है। वही अपहरण की एक कहानी के पीछे  इश्कबाजी का क्लाइमेक्स भी बताया जा रहा है। पुलिस  जांच के बाद अपहरण की घटना के पटाक्षेप की उम्मीद की जा रही है।
नोहटा थाना अंतर्गत हथनी गांव में मंदिर का निर्माण कार्य करा रहे युवक विकल्प जैन के बुधवार दोपहर से लापता हो जाने के बाद tiktok पर एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें युवक का मुंह एक एक गमछे से बंधा नजर आ रहा था। शाम तक युवक के घर नही पहुचने पर परिजनों ने उसके अपहरण की आशंका जताते हुए नोहटा थाना पुलिस को जानकारी दी।
 बाद में स्थानीय निवासियों लगातार दबाव के चलते पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था। देर रात नोहटा पहुंचे तेंदूखेड़ा एसडीओपी अशोक चौरसिया का कहना था कि परिजनों के बयानों के आधार पर  प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया गया है जल्द ही युवक का पता लगा लेगी।
इधर युवक के कथित अगवा होने का यह मामला कुछ ही देर में मीडिया की सुर्खियां बनने के साथ ठेकेदार के अपहरण की गाथा में तब्दील हो गया। इसी के साथ वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में स्थानीय पुलिस के अलावा अन्य थानों की पुलिस तथा साईवर सेल सक्रिय हुआ। सूत्रों का कहना है कि युवक के एक मोबाइल नम्बर की लोकेशन एक लड़की के घर में मिली थी। जिसे बरामद करने के बाद लड़की तक यह मोबाईल पहुचाने वाले दो युवकों को पकड़कर पुलिस ने पूछताछ की।
लेकिन इसके बाद भी विकल्प जैन का पता नहीं लगा।  इस बीच रात करीब डेढ़ बजे लापता युवक के मोबाईल की लोकेशन जबलपुर में मिलने पर नोहटा थाना पुलिस एसओ सुधीर सिंह के नेतृत्व में जबलपुर रवाना हुई। जहा रात करीब साढ़े तीन बजे युवक को हिरासत में ले लिया गया। गुरुवार सुबह स्थानीय पुलिस युवक को लेकर नोहटा थाने पहुंची।
 जहां युवक ने बताया कि बुधवार दोपहर हथनी के पास बोलेरो सवार लोगों ने उससे जबलपुर का रास्ता पूछा था। वह लिफ्ट लेकर उसी बोलेरो में सवार हो गया, रास्ते में बोलेरो सवार लोगों ने उसका मोबाइल काल करने को मांगा। इस बीच उनके द्वारा दिए गए चिप्स खाने के बाद बेहोश हो गया। इसके बाद उसे जबलपुर में होश आया। 

वहीं सूत्रों का कहना है यह सारा घटनाक्रम इश्क बाजी के चलते सामने आया है। गांव की एक युवती के चक्कर में विकल्प द्वारा अपने मित्रों के साथ मिलकर वह नौटंकी की गई थी। लेकिन संयोग से कथित अपहरण का यह वीडियो परिजनों तक पहुंच गया और उन्होंने घबराकर इसे सच मानते हुए पुलिस थाने में अपहरण की रिपोर्ट दर्ज करा दी। 
आनन फानन में मीडिया ब्रेकिंग की सुर्खियां बने ठेकेदार अपहरण कांड में पुलिस की तत्परता दिखाते ही मोबाइल लोकेशन के आधार पर मामले का पटाक्षेप होते भी देर नहीं लगी। प्रभारी थाना प्रभारी सुधीर सिंह बेगी ने पूरे घटनाक्रम की जानकारी देते हुए अंत में यह भी कहा की मामला संदिग्ध प्रतीत होता है। तथा पुलिस हर स्तर पर जांच में जुटी हुई है। दमोह की नए पुलिस कप्तान विवेक सिंह की जॉइनिंग के सामने आए इस घटनाक्रम को चुनौती के रूप में लेकर जिस तरह से पुलिस ने सुलझाया है, उसके लिए संबंधित पुलिस अमला और साइबर सेल बधाई का पात्र है।
इधर विकल्प द्वारा दिए जा रहे बयानों व जानकारी से सारा घटनाक्रम नाटकीय नजर आ रहा है। फिलहाल पुलिस सारे मामले की गंभीरता से जांच पड़ताल में जुटी हुई है। जल्द पूरे मामले में दूध का दूध पानी का पानी होने की उम्मीद की जा रही है। हो सकता है  अपहरण की  झूठी कहानी गढ़ने का मामला भी  सामने आ जाए। अटल राजेन्द्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments