Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

हटा मंडी के बाद समन्ना वेयरहाउस के सामने किसानों ने लगाया जाम.. पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों ने किया समझाईस का काम..

समन्ना वेयर हाउस के सामने किसानों ने किया हंगामा-
 कड़ाके की ठंड में किसानों की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है। बात चाहे खेत में खड़ी फसल में लग रही इल्ली और पानी की कमी की हो। या फिर वेयरहाउस वेयरहाउस सोसायटी और मंडी में अव्यवस्थाओं भरे हालात की। हर जगह परेशानी किसानो को ही उठाना पड़ रही है। और आखिरी में मजबूर होकर उसे चका जाम प्रदर्शन जैसा रुख अख्तियार करना पड़ रहा है।

दमोह जिले के दो अलग-अलग स्थानों पर गुरुवार को परेशान किसानों द्वारा सड़क पर उतर कर जाम लगाकर प्रदर्शन करने जैसे हालात के लिए मजबूर होना पड़ा। पहले हटा मंडी के बाहर बटियागढ़ छतरपुर मार्ग पर पाइप रखकर किसानों के जाम लगाने की खबर सामने आई उसके कुछ घंटे बाद दमोह कटनी मार्ग पर समन्ना वेयरहाउस के सामने किसानों के जाम लगाने से दोनों और वाहनों की कतारें लग गई।

                             
किसानों के प्रदर्शन की जानकारी लगने पर दमोह से सीएसपी और तहसीलदार मौके पर पहुंचे और उन्होंने किसानों से चर्चा की और समस्या के समाधान का भरोसा दिलाया किसानों का कहना था 4 दिन से परेशान हो रहे हैं लाल ने बारदाना मिल रहा है और ना ही तो लाई हो रही है ऐसे में कड़ाके की ठंड में उनके पास प्रशासन का ध्यान आकर्षित कराने के लिए प्रदर्शन के अलावा और कोई विकल्प नहीं बचा था।
जबकि इसके कुछ घंटे पूर्व हटा मंडी के बाहर किसानों ने प्रदर्शन करते हुए बटियागढ़ मार्ग पर पानी के बड़े-बड़े पाइप रखकर जाम लगा दिया था इससे कुछ ही देर में हड़कंप के हालात निर्मित हो गए थे। दरअसल   गैसाबाद सोसायटी में वारदाना सिलाई न होने और टैग नही मिलने से नाराज किसानों ने यह प्रदर्शन शुरु किया था। बाद में एसडीएम और तहसीलदार मौके पर पहुंचे। और किसानों से चर्चा कर उनकी समस्या को समझने का प्रयास किया गया। 
                   
जबकि किसानों ने समिति प्रबंधक गन्धर्व सिंह की कार्य प्रणाली पर सवाल खड़े करते हुए उन पर लापरवाही के आरोप लगाए। सनकुइया समिति में 2 दिन से माल पास नही होने सर्वेयर और समिति प्रबंधक के गायब 
होने जैसे हालात को लेकर भी खरी-खोटी सुनाई। एसडीएम नाथूराम गोंड़, एसडीओपी कमल कुमार जैन और तहसीलदार ज्योति ठाकुर द्वारा दिए गए आश्वासन के बाद किसानों ने चक्का जाम खत्म किया इसके बाद ही बटियागढ़ छतरपुर मार्ग पर आवागमन बहाल हो सका।
कुल मिलाकर जिले के विभिन्न क्षेत्रों में किसानों की परेशानियां कम होने का नाम नहीं ले रही है एक तरफ कलेक्टर नीरज कुमार सिंह विभिन्न में धान उपार्जन केंद्रों का आकस्मिक निरीक्षण करके लापरवाही गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ कार्यवाही कर रहे हैं जहां कलेक्टर नहीं पहुंच पा रहे हैं उन समितियों में मनमानी का दौर जारी है। अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments