Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

मप्र में सत्ता जाने से मायूस भाजपा नेताओं में जोश भर गए नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव.. कांग्रेस सरकार की कुंडली मे बताया अल्पायु योग..

 नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव का जोरदार स्वागत-
दमोह। नेता प्रतिपक्ष बनने के बाद प्रथम बार दमोह पधारे पूर्व मंत्री और गढ़ाकोटा विधायक गोपाल भार्गव का भाजपा कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। वहीं श्री भार्गव अपने जोशीले भाषण से हताश भाजपा कार्यकर्ताओं में जोश का संचार करते नजर आए।  
पंचकल्याणक गजरथ महोत्सव में शामिल होने गुरुवार को दमोह पहुंचे नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव का जिला भाजपा कार्यालय में जोरदार स्वागत किया गया। इस मौके पर पूर्व मंत्री जयंत मलैया उनकी धर्मपत्नी सुधा मलैया, पूर्व सांसद चंद्रभान सिंह और शिवराज भैया, पूर्व विधायक सोनाबाई और लखन पटेल जिला भाजपा अध्यक्ष देवनारायण श्रीवास्तव सहित अन्य पदाधिकारियों की मौजूदगी रही। 
पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की स्वागत उपरांत श्री भार्गव ने अपने उद्बोधन में विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद उपजे हालातों की चर्चा की। श्री भार्गव ने हताश नजर आ रहे पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं में अपने जोशीले जोश का संचार करते हुए कहां की मप्र में बीमार सरकार का गठन हुआ है। जो बसपा और सपा की बैशाखियों के सहारे है। संक्रमण जैसे हालात में इसकी सांसे कब थम जाए कहा नहीं जा सकता।   
 श्री भार्गव का कहना था कि उन्होंने कुंभ में आए ज्योतिषियों को कांग्रेस सरकार की कुंडली दिखाई थी। जिसमे अल्प आयु का योग बताया गया है। जिससे स्पष्ट है कि यह सरकार कुछ दिनों की मेहमान है, यह कभी भी जा सकती है। श्री भार्गव से ज्योतिषी की भविष्यवाणी को सुनकर भाजपा कार्यकर्ताओं के चेहरे खिलते हुए नजर आए। इसके पूर्व श्री भार्गव की दमोह नगर की सीमा में प्रवेश के पूर्व सागर नाका टोल बैरियर पहुंचकर अनेक उत्साही कार्यकर्ताओं और युवाओं ने फूल माला पहनाकर जोरदार स्वागत किया तथा नेता प्रतिपक्ष बनने की बधाइयां दी।
 गौरतलब है कि मप्र में लगातार 15 साल तक सत्ता में रही भाजपा सरकार के चौका लगाने के चक्कर में सत्ता से आउट हो जाने से अनेक नेताओ की सत्ता सुख की प्लानिंग फेल हो गई है। वही 15 साल तक  लगातार कैबिनेट मंत्री रहे जयंत मलैया की पराजय का दुख दमोह जिले के अनेक नेताओ के चेहरों पर आज भी झलकता देखा जा सकता है। इधर सप्लाई ठेकेदारी की मलाई छानने वाले अनेक फूल छाप कांग्रेसी अब कमलनाथ सरकार मैं पर्दे के पीछे अपने पुराने आकाओ के साथ भोपाल दिल्ली एक करते नजर आ रह है। अटल राजेन्द्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments