Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

मतगणना के पूर्व आपत्तिजनक शब्द बाणों की राजनीति गरमाई.. शिकायत दर्ज कराने कांग्रेसियों ने कोतवाली और भाजपा नेताओ ने कलेक्ट्रेट में दम दिखाई..

धार्मिक उन्माद फैलाने वाले पंपलेट पर मचा बवाल-
दमोह। विधानसभा चुनाव की मत गणना के पूर्व भाजपा कांग्रेस के नेताओं के बीच सोशल मीडिया पर  टिप्पणियों तथा आपत्तिजनक पर्चे पंपलेटो की शिकायतों के साथ इन पर कार्यवाही की मांग तेज हो गई है।
मप्र के वित्त मंत्री श्री जयंत मलैया की धर्मपत्नी डॉ सुधा मलैया के साथ भाजपा नेता, पदाधिकारियों, कार्यकर्ता ओं ने मंगलवार शाम कलेक्ट्रेट पहुंचकर कलेक्टर विजय कुमार जे से मुलाकात की। तथा विधानसभा चुनाव के दौरान सामाजिक राजनीतिक विद्वेष तथा धार्मिक उन्माद फैलाने वाले आपत्तिजनक पर्चे बांटने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही किए जाने की मांग की।

तत्सन्दर्भ में चुनाव के दौरान भी शिकायती ज्ञापन पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों को सौपे जाने का  हवाला देते हुए कलेक्टर को पुनः शिकायती पत्र देते हुए इसके साथ आपत्तिजनक पर्चे, पंपलेटो की फोटो कॉपी भी सौंपते हुए सामाजिक विद्वेष और धार्मिक उन्माद फैलाने वालों के खिलाफ FIR दर्ज किए जाने की मांग की गई है।

मंत्री जयंत मलैया की धर्मपत्नी डॉ सुधा मलैया के साथ कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर शिकायत आपत्ति दर्ज कराने वालो में भाजपा जिलाध्यक्ष देवनारायण श्रीवास्तव, पूर्व जिला अध्यक्ष बिहारी लाल गौतम, महामंत्री रमन खत्री, नगर पालिका अध्यक्ष मालती असाटी सहित पार्टी के विभिन्न समाजों से जुड़े नेता कार्यकर्ता शामिल रहे। 
शहर की फिजा बिगाड़ रहे तथाकथित लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किए जाने की मांग की खबरें बुधवार को समाचार पत्रों की सुर्खियां बनी रहे। इधर जिन लोगों के नाम आपत्तिजनक पंपलेटो के प्रकाशन से वितरण के मामले में सामने आए थे। वह मामले में चुप्पी साधे रहे।
उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनाव के दौरान बांटे गए पंपलेटो में एक पर्चे में मलैया परिवार द्वारा वर्ष 2013 में क्रय की गई जमीन का हवाला देकर आपत्तिजनक भाषा शैली का उपयोग किया गया था। दबंग दमोह नाम से जारी एक अन्य पंपलेट में कचौरा बाजार से लेकर बस स्टैंड के हालात का हवाला देकर शहर से दूर नए बस स्टैंड बनानेे के औचित्य पर सवाल उठाए गए थे। वही एक अन्य पंपलेट में धार्मिक उन्माद भड़काने वाली भाषा शैली का प्रयोग किया गया था।

विधान सभा चुनाव प्रचार के दौरान नगर में भाजपा प्रत्याशी जयंत मलैया को निशाना बनाकर वितरित किए गए अनेक पंपलेट के अलावा कांग्रेस प्रत्याशी राहुल सिंह को टारगेट बनाकर भी एक पुराने मामले के पर्चे भी प्रचार के अंतिम दिनों में जगह-जगह नजर आए थे।
                     
जागरूक महिला मंच के हवाले से जारी की गई पुरानी पेपर कटिंग के पंपलेट की शिकायत कांग्रेस प्रत्याशी राहुल सिंह द्वारा चुनाव के दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी से की गई थी। इसकी जांच तथा कार्रवाई का काग्रेस प्रत्याशी द्वारा इंतजार किया जा रहा है। इधर सोमवार को सोशल मीडिया पर एक भाजपा पार्षद द्वारा राहुल सिंह के आवास पर संतोष भारती नितिन मिश्रा और राहुल सिंह के बीच विवाद की खबर वायरल हुई थी।
                   
जिसके बाद सोमवार की रात शहर कांग्रेस अध्यक्ष यशपाल चौधरी और ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष नितिन मिश्रा ने कांग्रेस नेताओं के साथ कोतवाली पहुंचकर सीएसपी एवं टीआई को लिखित शिकायत देते हुए आपत्ति दर्ज कराई थी तथा जांच कर के दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही की मांग की थी।
                 
इधर मंगलवार को भाजपा नेताओं द्वारा कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर पंपलेट के जरिए धार्मिक उन्माद फैलाने वालों की शिकायत करके कार्यवाही की मांग की गई। आशंका जताई गई कि ऐसे लोग मतगणना के दौरान तथा इसके बाद शहर का माहौल खराब कर सकते हैं। ऐसे में समय रहते कार्रवाई की जाए
                   
 विधानसभा चुनाव की मतगणना तथा नतीजों के पूर्व आपत्तिजनक पंपलेट का मामला शिकायतों के जरिए गर्माने पर प्रशासन ने जहां धारा 144 की अवधि बढ़ा दी है वहीं सोशल मीडिया पर नजर बढ़ाते हुए चुनाव आचार संहिता की धारा 188 के तहत कार्यवाही की चेतावनी जारी की है। तथा चुनाव नतीजों का वक्त शांति से गुजरने की उम्मीद की जा रही है।अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments