Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सांसद जी हवाई पट्टी नहीं.. रेल सुविधाए चाहिए.. प्रहलाद जी कुंभ मेला आ रहा है, रेल मंत्री की घोषणानुरूप क्षिप्रा एक्सप्रेस को डेली कराइये..

 कुंभ आ रहा है क्षिप्रा एक्सप्रेस को डेली कराइये..
दमोह। लोकसभा चुनाव नजदीक आते ही संसद में सांसद प्रहलाद पटेल की सक्रियता बढ़ गई है। बीते रोज ढाना हवाई पट्टी के विस्तार का मामला उठाए जाने के बाद अब रेल सुविधाओं की वृद्धि को लेकर भी ध्यानाकर्षण की अपेक्षा की जाने लगी हैं।
बीते रोज सांसद श्री पटेल ने सदन में मप्र में उड़द की खरीदी नहीं होने तथा ढाना में हवाई पट्टी के विस्तार का मामला उठाया था। जिसके लिए वह साधुवाद के पात्र हैं। इसके पूर्व श्री पटेल रुकमणी देवी की प्रतिमा सहित अन्य मामलों को संसद में उठा चुके हैं। लेकिन रेल सुविधाओं में विस्तार के मामले को लेकर अभी तक कोई ध्यान आकर्षण सामने नहीं आया है। जबकि क्षेत्रवासी रेल सेवाओ में विस्तार हेतु लंबे समय से आस लगाए बैठे हैं।
दमोह संसदीय क्षेत्र में रेल सुविधाओं के विस्तार के मामले में सांसद प्रहलाद पटेल की पहुंच और कद के अनुरूप एक भी सुविधा 5 साल में नही मिल सकी है। यहां तक की रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल द्वारा भोपाल में करीब 8 माह पूर्व शिप्रा एक्सप्रेस को डेली किए जाने के आदेश का भी रतलाम रेल मंडल ने आज तक पालन नहीं किया है। जबकि इलाहाबाद में भरने वाले कुंभ मेले को ध्यान में रखकर इंदौर से सप्ताह में 3 दिन चलने वाली शिप्रा एक्सप्रेस को शीघ्र ही प्रतिदिन किया जाना आवश्यक हो गया है।
 रेल सूत्रों का कहना है कि शिप्रा एक्सप्रेस को पहले 15 अगस्त 2018 से प्रतिदिन चलाया जाना तय हो गया था। लेकिन रतलाम रेल मंडल के अधिकारियों ने रैक की कमी का हवाला देकर इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया। और इस तरफ इंदौर, भोपाल, विदिशा, सागर के साथ दमोह के सांसद ने भी कोई ध्यान नहीं दिया। जिससे इन सभी क्षेत्रों से इलाहाबाद, बनारस, गयाजी, शिखरजी, जाने वालो को की परेशानी बरकरार है और आने वाले दिनों में कुंभ मेले के दौरान  परेशानी और बढ़ने जा रही है।


हालात को ध्यान में रखकर सांसद श्री पटेल से क्षेत्रवासी अपेक्षा करते हैं कि रेल मंत्री की घोषणा के अनुरूप क्षिप्रा एक्सप्रेस को जल्द से जल्द प्रतिदिन बीना कटनी रूट से चलाए जाने का मामला भी वह संसद में उठाकर कृतार्थ करें। तथा छत्तीसगढ़ संपर्क क्रांति ट्रेन आप के अनेक पत्रों के बाद भी दमोह में स्टॉपेज नहीं हो पाने का मामला भी अवश्य उठाएं जिससे रेल विभाग के अधिकारियों की हठधर्मिता का पता संसद में चल सके।
 वैसे भी ढाना हवाई पट्टी विस्तार जैसे मामले से हवाई यात्रा करने वालों को तो लाभ हो सकता है लेकिन रेल से चलने वाले आम लोगों को कोई फायदा नहीं है। ऐसे में यह बात भी ध्यान रखें कि हवाई यात्रा करने वालो की तुलना में दमोह संसदीय क्षेत्र में रेल यात्रा करने वालों की संख्या बहुत अधिक है। अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments