Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

आभार सभा के रंग.. दमोह मैं मिठाई के पैकेट लुटाए, कर्ज की चिंता सताए, हटा विधायक ने फिल्मी गीत सुनाए, पथरिया में पूर्व विधायक दबंग बनते नजर आए, जबेरा विधायक सकुचाए..

आभार सभा के दौरान अलग-अलग नजारे-
दमोह। विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद आभार सभाओं का दौर जारी है। रविवार को दमोह विधायक राहुल सिंह, हटा विधायक पीएल तंतुवाय और पथरिया के पूर्व विधायक लखन पटेल अपने अपने ढंग से अपने अपने क्षेत्र में जनता जनार्दन के बीच में आभार जताते नजर आए। जबकि प्रदेश के वित्त मंत्री रहे जयंत मलैया 2 दिन पूर्व भी आभार सभा करके मतदाताओं का धन्यवाद ज्ञापित कर चुके है।

दमोह नगर में रविवार दोपहर नवनिर्वाचित कांग्रेस विधायक राहुल सिंह की आभार सभा के पूर्व कांग्रेस कार्यालय से आभार रैली निकाली गई।

 जो नगर के प्रमुख मार्गों से होते हुए अंबेडकर चौक पहुंचकर आभार सभा में तब्दील हो गई। इस मौके पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय टंडन सहित अनेक नेताओं की मौजूदगी रही। आभार सभा के दौरान कांग्रेस विधायक राहुल सिंह को मिठाई के डिब्बों से तौले जाने के बाद डिब्बों को जनता के बीच फेंक कर लुटाने का दौर देर तक चलता रहा।

 आभार सभा की  खास बात यह रही कि जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय टंडन कांग्रेस के राज में गुंडागर्दी को बढ़ावा मिलने के आरोप का जबाव देते नजर आए। उनका कहना था कि कांग्रेस विधायक नर्मदा मैया और भगवान जागेश्वर नाथ का भक्त है। उसे व्यर्थ ही बदनाम किया जा रहा है। जबकि राहुल सिंह का कहना था यदि का कोई कार्यकर्ता गुंडागर्दी करेगा तो वह खुद ti को फोन करके उसे बंद करवा देंगे।
 भाजपा के पूर्व विधायक की चेतावनी कार्यकर्ताओं को धमकाया तो छलनी कर देंगे-
रविवार को ही पथरिया में भाजपा प्रत्याशी लखन पटेल द्वारा मतदाताओं को धन्यवाद ज्ञापित करने के लिए आभार सभा का आयोजन किया गया था। इस दौरान कोऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष राजेंद्र गुरु सहित पार्टी के अनेक नेताओं की मौजूदगी रही। 


  देर तक चली आभार सभा के दौरान पूर्व विधायक और भाजपा नेता लखन पटेल विरोधियों को चेतावनी भरे लहजे में खुले मंच से धमकाते दबंग बनते नजर आए। श्री पटेल ने माइक पर दहाड़ते हुए कहा कि उन्हें शिकायत मिल रही है कि कार्यकर्ताओं को धमकाया जा रहा है। यदि किसी ने उनके कार्यकर्ताओं को परेशान करने की कोशिश की तो उसे छलनी कर दिया जाएगा।
पथरिया विधायक प्रतिनिधि ने शिगूफा बताया-

पूर्व विधायक लखन पटेल के इस वक्तव्य के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पथरिया विधायक राम बाई के प्रतिनिधि बसपा नेता गोविंद सिंह का बयान सामने आया है। जिसमें उन्होंने पूर्व विधायक के वक्तव्य को महज शिगूफा बताते हुए कहां है कि आज जिन को अपने कार्यकर्ताओं की चिंता हो रही है, यदि उन्होंने पहले चिंता की होती तो उनकी यह हालत नहीं होती।
हटा विधायक ने फिल्मी गीत से आभार जताया-
दमोह पथरिया की आभार सभाओं में भले ही डराने धमकाने की बात चल रही हो परंतु हटा में नजारा इससे बिल्कुल अलग था। हटा से नवनिर्वाचित विधायक पी एल तंतुवाय अपनी धर्मपत्नी रामकली और चुनाव के सारथी दीपक जैन सहित समर्थकों के साथ खुली जीप में जनता जनार्दन का आभार जताते नजर आए। 


इसके बाद आयोजित धन्यवाद सभा को संबोधित करते हुए बड़े ही सरल भाव से एहसान जताने वाले एक पुराने फिल्मी गीत को गुनगुनाते नजर आए। जिसके बाद सभा का माहौल खुशनुमा बनते देर नहीं लगी।
मलैया को नहीं है भरोसा कि कर्ज माफी होगी-

इधर प्रदेश के पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया को अब भी भरोसा नहीं है कि प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व में बनने जा रही कांग्रेस सरकार किसानों की कर्ज माफी और बेरोजगारी भत्ते के अपने चुनावी वायदा को पूरा कर सकेगी। श्री मलैया द्वारा आभार सभा के दौरान ऐसा  कहने की मुख्य वजह प्रदेश सरकार का खजाना खाली रहने तथा कर्ज में डूबे रहना है। ऐसे में कर्ज माफी का  वायदा निश्चित तौर पर चुनौती भरा कहा जा सकता है।
जबेरा विधायक धर्मेंद्र सिंह ने भी आभार माना-


मतदाताओं का आभार मानने के मामले में जबेरा के नवनिर्वाचित विधायक धर्मेंद्र सिंह भी पीछे नहीं है हालांकि उनकी किसी आभार सभा की खबर या जानकारी तो सामने नहीं आई है लेकिन उन्होंने निर्वाचित होने के बाद मीडिया के समक्ष जो कहा था उसे सुनकर आप समझ सकते हैं इनकी प्राथमिकताएं क्या है। 
आभार सभा में धमकाने की चर्चा के पीछे क्या ?
जिले से निर्वाचित विधायकों व पराजित प्रत्याशियों की आभार सभा के दौरान जिस तरह से डराने धमकाने वाली बातों को लेकर कमेंट किए जा रहे हैं उसे देख कर लगता है कि चुनाव हो जाने के बाद भी प्रत्याशियों के सिर से तनाव का भूत नहीं उतरा है। तभी इस तरह की बातें करके शांत माहौल मैं हलचल पैदा करने का प्रयास किया जा रहा है। जबकि जिले के शांतिप्रिय लोगों की मानसिकता को समझते हुए कहा जा सकता है कि डराने धमकाने की बातें राजनीतिक लाभ हानि के हिसाब से ही प्रचारित की जा रही हैं। जिसे यहां के लोग अब अच्छे से समझने लगे हैं तथा इस तरह के भड़कावे में अब आने वाले नहीं है। अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments