Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

चुनाव प्रचार के अंतिम दिन दिखे अनोखे नजारे.. बाबाजी के समर्थन में निकली ऑटो रैली, सपाक्स प्रत्याशी घोड़ी पर बेड़ियों में जकड़े निकले..

चुनाव प्रचार के अंतिम दिन नहीं देखा खास जोर-
दमोह। विधानसभा चुनाव प्रचार के अंतिम दिन होने वाले शोर शराबे की तरह इस बार कोई खास प्रचार का शोरगुल सुनाई नहीं दिया खासकर शहर के ह्रदय स्थल घंटा घर पर इस वार भाजपा कांगेस की तरफ से प्रचार जनसंपर्क की कोई खास प्रतिस्पर्धा होती नजर नहीं आई। दोनों ही दलों के प्रत्याशी विभिन्न क्षेत्रों में जनता के बीच जाकर जन समर्थन की जोर आजमाइश करते रहे।

चुनाव प्रचार के अंतिम दिन कुछ रोचक नजारे भी देखने को मिले। भाजपा से बगावत कर के दमोह व पथरिया से चुनाव मैदान में उतरे पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया पथरिया की तरह दमोह में भी रैली निकालकर रोड शो किया।

 प्रचार के अंतिम दिन उनकी ऑटो रैली विधानसभा क्षेत्र के हटा रोड स्थित गांव गांव से होती हुई शहर में पहुंची। तथा नगर के विभिन्न मार्गो से होते हुए वह उमा मिस्त्री की तलैया में जाकर संपन्न हुई। इस दौरान बाबा जी स्वयं स्वयं एक ऑटो रिक्शा में खड़ होकर अपने समर्थक किशोर अग्रवाल एवं अशोक बाबा के साथ जनता जनार्दन का  अभिवादन करते हुए नजर आए।
इधर सपाक्स के प्रत्याशी मनोज देवालिया खुद को जंजीरों में जकड़ कर घोड़े पर सवार होकर प्रचार के अंतिम दिन जनसंपर्क करते हुए नजर आए। समाज को जातिगत आरक्षण की बेड़ियों से मुक्त कराके आर्थिक आधार पर आरक्षण का संदेश देते देवलिया घंटाघर से कॉपरेटिव बैंक चौराहे होते हुए बस स्टैंड स्टेशन क्षेत्र से जहां से भी निकले लोगों के बीच आकर्षण के साथ चर्चा का केंद्र बने रहे। 

दमोह सपाक्स के प्रत्याशी मनोज देवलिया ने घोड़े पर बैठकर पूरे शरीर में जंजीर बांधकर रोड शो किया सपाक्स प्रत्याशी ने बताया कि सभी राजनीतिक दलों के द्वारा जिस प्रकार जातियों में बांट कर देश को वैमनस्यता एवं प्रतिभा को जकड़ दिया है और सभी पर एससी एसटी जैसे काले कानून थोपे गए हैं उसका प्रदर्शन करके सपाक्स के चुनाव चिन्ह एसी पर वोट मांगने की अपील की है अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments