Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

जबलपुर लोकायुक्त की टीम ने कटनी में नवनिर्वाचित सरपंच को एक लाख की रिश्वत लेते पकड़ा.. यूपी निवासी को योजनाओं का लाभ दिलाने मांगी थी 4 लाख की रिश्वत.. दमोह जिले में कोरोना के केस 7 केस मिलने से हडकंप..

 ढीमरखेड़ा में लोकायुक्त की कार्रवाई से मचा हड़कंप

जबलपुर। जबलपुर लोकायुक्त की टीम ने आज कटनी जिले के ढीमरखेड़ा पहुंचकर ट्रेप कार्रवाई करते हुए एक नवनिर्वाचित सरपंच को एक लाख रूपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ने के बाद भ्रष्टाचार अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत कार्यवाही की है।

दरअसल सरपंच के द्वारा मूल रूप से यूपी निवासी एक सक्षम किसान से कृषि भूमि होने के बावजूद शासकीय योजनाओं का लाभ दिलाने के बदले में 4 लाख रुपए की रिश्वत की मांग की जा रही थी।  जिसकी शिकायत जबलपुर लोकायुक्त तक पहुचने के बाद 5 अगस्त को कटनी जिले के ढीमरखेड़ा तहसील के ग्राम खामहा पहुंची लोकायुक्त की टीम ने सरपंच सुशील कुमार पाल को रिश्वत की पहली किश्त एक लाख रुपए लेते हुए रंगे हाथों पकड़ने में देर नही की।

बताया गया है कि आलोक पिता श्रवण कुमार जो मूलत: प्रयागराज यूपी निवासी है, उसकी 8 एकड़ कृषि भूमि कटनी जिले के ढीमरखेड़ा के ग्राम खामहा में है। वह इस कृषि भूमि पर सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त करना चाहता था। जिस पर सरपंच सुशील कुमार पाल प्रति एकड़ 50 हजार रुपए (कुल 4 लाख रुपए) रिश्वत मांग रहा था  जिसकी शिकायत एसपी लोकायुक्त जबलपुर संजय साहू से की गई थी। जिसके बाद लोकायुक्त डीएसपी    दिलीप झरवड़े, निरीक्षक मंजू किरण तिर्की, निरीक्षक कमल सिंह उईके निरीक्षक नरेश बेहरा ने टीम के साथ ढीमरखेड़ा के ग्राम खामहा पहुंची।  वहां जैसे ही आलोक कुमार ने सरपंच सुशील कुमार पाल को 1 लाख रुपए की रिश्वत दी, वैसे ही टीम ने सरपंच को पकड़ने में देर नहीं की।

 दमोह में आज कोरोना के केस 7 केस मिलने से हडकंप 

दमोह। जिले में आज 07 कोरोना केस सामने आये हैं। इनमें 04 फीमेल तथा 03 मेल मरीज हैं। इनमें हटा से 02 रौंसरा से 01 नरसिंहगढ़ से 01 हिण्डोरिया से 02 एवं नदंरई से 01 मरीज शामिल हैं। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉं संगीता त्रिवेदी ने दी हैं।

Post a Comment

0 Comments